Thursday , April 25 2019
Home / खेल / गुंडप्पा विश्वनाथ: जब भी ठोका शतक, भारत जीता

गुंडप्पा विश्वनाथ: जब भी ठोका शतक, भारत जीता

पूर्व भारतीय कप्तान गुंडप्पा विश्वनाथ का आज (12 फरवरी, 1949 को जन्म हुआ था) जन्मदिन है। विश्वनाथ के बारे में कहा जाता है कि उनसे बेहतर कोई स्क्वेयर कट नहीं खेल सकता। 1969 से 1983 तक टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले इस महान दाएं हाथ के खिलाड़ी के नाम 91 मैचों में 6080 रन दर्ज हैं। उनका सर्वोच्च स्कोर 222 रन है। उन्होंने टेस्ट में 14 शतक और 35 अर्धशतक लगाए। उन्होंने भारत के लिए 25 वनडे मैच में दो पचासे सहित 439 रन बनाए और उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 75 रन रहा। आइए जानें, पूर्व भारतीय कप्तान के बारे में कुछ रोच बातें…

रणजी ट्रोफी: डेब्यू मैच में डबल सेंचुरी
गुंडप्पा विश्वनाथ उन चुनिंदा खिलाड़ियों में शामिल हैं, जिन्होंने रणजी करियर की शुरुआत डबल सेंचुरी से की। उन्होंने 1967 में मैसूर (अब कर्नाटक) की ओर से खेलते हुए आंध्र प्रदेश के खिलाफ 230 रन की पारी खेली थी। यह मैच विजयवाड़ा में खेला गया था।

टेस्ट करियर: डेब्यू मैच में 0 और 100
दाएं हाथ के बल्लेबाज विश्वनाथ ने 1969 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कानपुर में टेस्ट डेब्यू किया था। इस मैच की पहली पारी में वह खाता नहीं खोल सके, लेकिन दूसरी पारी में जोरदार बैटिंग की और 25 चौके की मदद से 137 रन बनाए। डेब्यू मैच में डक और सेंचुरी (0 और 137) लगाने वाले पहले क्रिकेटर बने।

जब भी लगाया शतक, नहीं हारा भारत
विश्वनाथ के बारे में सबसे रोचक फैक्ट यह है कि उन्होंने जिस टेस्ट मैच में भी शतक लगाया वह मैच भारत नहीं हारा। उनका डेब्यू मैच, जिसमें शतक लगाया था, ड्रॉ रहा। इसके बाद उन्होंने 13 शतक लगाए और सभी में भारत जीता।

दो मैच में की कप्तानी
1979-80 के दौरान उन्होंने दो टेस्ट मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी की। पहला मैच ड्रॉ रहा था, जबकि दूसरे में भारत को हार मिली थी। ये मैच पाकिस्तान और इंग्लैंड के खिलाफ थे।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

हितों का टकराव: अब लोकपाल ने सचिन-लक्ष्मण को जारी किया नोटिस

नई दिल्ली बीसीसीआई के लोकपाल और नैतिक अधिकारी डीके जैन ने महान क्रिकेटर सचिन तेंडुलकर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)