Tuesday , March 19 2019
Home / भेल न्यूज़ / भेल ने उच्च टेक्नोलॉजी का 800 केवी ट्रांसफार्मर किया रायगढ़ रवाना

भेल ने उच्च टेक्नोलॉजी का 800 केवी ट्रांसफार्मर किया रायगढ़ रवाना

भोपाल

देश के बहुत ही महत्तवपूर्ण 6000 मेगावाट रायगढ़ पुगालूर प्रोजेक्ट के लिए बनाया गया उच्च टेक्नालॉजी वाला 800 केवीए एचवीडीसी ट्रांसफार्मर रायगढ़ रवाना किया गया। बुधवार को भेल के ईडी डीके ठाकुर ने हरी झंडी दिखाई। इस मौके पर भेल के कर्मचारी व अधिकारी भी मौजूद थे। इस ट्रांसफार्मर का निर्माण एवं परीक्षण भोपाल की नई ट्रांसफार्मर ब्लॉक में एबीबी स्वीडन के सहयोग से किया गया। इस ट्रांसफार्मर का डिजाइन एवं मार्गदर्शन एबीबी द्वारा किया गया।

गौरतलब है कि इसी क्रम में और 7 नग 800 केवी एचवीडीसी ट्रांसफार्मर भेल भोपाल में बन रहे है। एबीबी स्वीडन के सहयोग से भेल भोपाल में देश के सबसे बड़े 6000 मेगावाट रायगढ़ पुगालूर हाइ वोल्टेज डाइरैक्ट करेंट का निर्माण पावरग्रिड कार्पोरेशन ऑफ इंडिया पीजीसीआईएल के लिए किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट में एबीबी के सहयोग से भेल भोपाल 295 एमवीए 765 केवी के 8 ट्रांसफ ार्मर देगा। यह भोपाल का एक बहुत ही महत्तवपूर्ण ऑर्डर है।

भेल भोपाल पॉवर ट्रांसफार्मर का देश का सबसे बड़ा उत्पादक है एवं एचवीडीसी ट्रांसफार्मर के क्षेत्र में भी अग्रणी है यहां 1200 केवी तक के ट्रांसफ ार्मर बनाए है यह भेल के एबीबी से प्रशिक्षित कर्मचारी द्वारा बनाए गए । इससे पहले भी भेल ने सफलतापूर्वक एनई आगरा प्रोजेक्ट के लिए 2 नग 800 केवी के ट्रांसफार्मर वर्ष 2017-18 में सप्लाई किए थे। यह प्रोजेक्ट 6 बड़े पावर प्लांट के बराबर है। यह विश्व का सबसे लंबा 1830 किमी एचवीडीसी लिंक है। इसके द्वारा 8 करोड़ लोग लाभांवित होंगे।

इस अवसर पर महाप्रबंधक टीसीबी विनय निगम, महाप्रबंधक विपिन मिनोचा, महाप्रबंधक एमएस किनरा, महाप्रबंधक पीके मिश्रा, महाप्रबंधक के श्रीनिवास, अपर महाप्रबंधक अविनाश चंद्रा, पीजीसीआईएल के कस्टमर आर सिंह और एबीबी अभियंता हेकी एवं टीआरएम विभाग के अन्य कर्मचारी भी मौजूद थे।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

भेल सहकारी उपभोक्ता भंडार चुनाव में परिवर्तन, भेल एकता और आपका अपना पैनल आजमाएगा भाग्य

भोपाल चार साल से चुनाव की बांट जोह रही भेल सहकारी उपभोक्ता भंडार के चुनाव …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)