Sunday , May 19 2019
Home / ग्लैमर / कई ऐक्टर्स से जलन होती है मुझे: परिणीति चोपड़ा

कई ऐक्टर्स से जलन होती है मुझे: परिणीति चोपड़ा

किसी भी काम के दौरान प्रतियोगिता का दूसरा नाम जलन की भावना है। बॉलिवुड में एक-दूसरे के काम, प्रसिद्धि और तरक्की को देखकर जलने वालों की कोई कमी नहीं है। सितारों के बीच तमाम बड़े झगड़े इस जलन का सबूत हैं। अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा ने बड़ी ही विनम्रता के साथ साथी कलाकरों के मिलने वाले काम को देखकर होने वाली इस जलन को परिभाषित करते हुए कहा है कि वह जब भी किसी ऐक्टर को अच्छा रोल मिलता है तो जलभुन कर राख हो जाती हैं, लेकिन यह जलन पॉजिटिव होती है।

फिल्म से जुड़ने के पैरामीटर्स रोज बदलते हैं
वैसे परिणीति इस समय पहली कुर्सी की दौड़ में तो नहीं हैं, लेकिन फ्लॉप फिल्मों के पहाड़ के नीचे दबी परिणीति एक सोलो हिट फिल्म के लिए तड़प रही हैं। अच्छी कहानी से जुड़ने और फिल्मों के चुनाव पर वह कहती हैं, ‘किसी फिल्म के चुनाव का इतना परफेक्ट ढांचा नहीं होता है। फिल्म से जुड़ने और उसे चुनने के पैरामीटर्स रोज बदलते हैं।’

यहां लोगों का मूड चुटकियों में बदल जाता हैं
‘कहानी सुनने और सुनाने के बाद भी लोगों का मूड चुटकियों में बदल जाता हैं। जब तक मैं कोई और फिल्म शूट कर रही हूं, तब तक सामने वाले का मूड हो सकता है बदल जाए। सच तो यह है कि किसी फिल्म से जुड़ने को लेकर एकदम परफेक्ट प्लानिंग नहीं की जा सकती है। हमें सिर्फ फिल्म की स्क्रिप्ट पर रिऐक्ट करना होता है। अगर फिल्मों का चुनाव प्लान के मुताबित परफेक्ट होता तो फिल्में कभी फ्लॉप ही नहीं होतीं।’

केसरी योद्धाओं की फिल्म है, मैं बहुत छोटा सा रोल निभा रही हूं
‘केसरी’ में अपने किरदार के बारे में परिणीति कहती हैं, ‘फिल्म केसरी सिर्फ मेरे किरदार पर नहीं है। यह फिल्म योद्धाओं की है। मैं इस फिल्म में बहुत छोटा सा रोल निभा रही हूं और मेरे ऊपर एक गाना है। आप यह भी कह सकते हैं कि केसरी में काम मैंने इस गाने के लिए कर लिया है। अब इस फिल्म को करने के बाद मुझे इस तरह की फिल्मों का टेस्ट पता चल गया है। वह कहावत है न शेर के मुंह में खून लगना, अब मैंने भी इस तरह की फिल्मों का स्वाद चख लिया है। तो अब मैं ऐसी फिल्में और भी करना चाहूंगी।’

लगता है… काश यह रोल मैं कर लेती, फिर चाहे वह रोल अमिताभ बच्चन कर रहे हों या ब्रैड पिट
अपनी बात समाप्त करते हुए परिणीति कहती हैं, ‘मैं जब भी किसी नए रोल के बारे में सुनती हूं तो लगता है काश यह रोल मैं कर रही होती, काश यह मुझे मिल जाता, फिर चाहे वह रोल अमिताभ बच्चन कर रहे हों या ब्रैड पिट। अगर कोई गाना भी बहुत अच्छा लगता है तो सोचती हूं काश यह गाना मुझे गाने के लिए मिलता, जबकि मैं प्लेबैक सिंगर नहीं हूं, मैं जरूर एक ट्रेंड सिंगर हूं। मैं हमेशा दूसरों के रोल के लिए महत्वकांक्षी हूं। लोगों को मिल रहे अच्छे रोल से मुझे बड़ी जलन होती है (I Am Jealous In A Positive Way) लेकिन पॉजिटिव तरीके से।’

इन दिनों परिणीति अपनी रिलीज़ के लिए तैयार फिल्म ‘केसरी’ के प्रमोशन में बिजी हैं। फिल्म ‘ केसरी’ की कहानी 1897 में हुई सारागढ़ी की लड़ाई पर आधारित है, जो ब्रिटिश इंडियन आर्मी की सिख रेजिमेंट और अफगान-पश्तो मिलिट्री के बीच हुई थी। इस लड़ाई में रेजिमेंट के 21 सिख सैनिकों ने 10,000 अफगानियों का बहादुरी से सामना किया था। लड़ाई में हिस्सा लेने वाले अक्षय कुमार और परिणीति चोपड़ा स्टारर ‘ केसरी का निर्देशन अनुराग सिंह ने किया है। यह फिल्म 21 मार्च को देशभर के सिनेमाघरों में रिलीज़ होने वाली है। खबर है कि ‘केसरी’ की रिलीज़ के बाद परिणीति साइना नेहवाल की बायॉपिक की शूटिंग शुरू करेंगी।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

ऋषि कपूर से मिलने न्यूयॉर्क के अस्पताल पहुंचे शाहरुख खान

बॉलिवुड अभिनेता ऋषि कपूर पिछले एक साल से अपने इलाज के लिए पत्नी नीतू कपूर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)