Wednesday , June 26 2019
Home / भेल मिर्च मसाला / यह बन सकते हैं सीनियर डीजीएम

यह बन सकते हैं सीनियर डीजीएम

भोपाल

भेल भोपाल यूनिट में इस माह कई अफसर प्रमोशन की कतार में खड़े हैं। स्थानीय प्रबंधन प्रमोशन में बेहतर परफार्मेंस तलाशने में लगा है। भले ही यूं तो यूनिट में 119 उप महाप्रबंधकों की फौज है लेकिन 2016 के 71 अफसर ही प्रमोशन की कतार में खड़े हैं खबर है कि इनमें से 24 ही प्रमोशन पा सकेंगे। अशोक कुमार माहौर,संजय कुमार राय, श्रीमती डॉली गेरा, विवेक पाठक, मनीष कुमार ठाकुर, समीर दास, अरशद अली सईद, श्रीमती स्वागता एस सक्सेना, सीजे क्रिस्टोफर, आरिफ अहमद सिद्दीकी, एचके गदोदिया, डॉ. श्रीमती ज्योति एन आईन्द, डॉ. श्रीमती शोमी टोप्पो, एमएस अरूण, ए चटर्जी, डीके बन्छोर, पीके झा, भूपेन्द्र सिंह, बीएल वर्मा, डीके टोंक, आरके सिंह, नीलेश पटेल, प्रणव महाजन, आरके सिंह, विवेक जोहरी, राजेश टोप्पो, एनके बगारे, योगेश इडला, एस दामोदरन, अशोक कुमार पिप्पल, संजय अहिरवार, एके असाटी वरिष्ठ उपमहाप्रबंधक बनाये जा सकते हैं। अब इनमें से भी किसका पत्ता कटेगा यह तो प्रमोशन लिस्ट जारी होने के बाद ही पता चल पायेगा, या दबाव के चलते कोई नया नाम भी जुड़ जायेगा।

भोपाल यूनिट ने लूटी वाहवाही

भेल भोपाल यूनिट में एमसीएम की बैठक के बहाने संग्राहलय का शुभारंभ की तारीफ करते न केवल अफसर बल्कि कर्मचारी भी करते नहीं थक रहे हैं। यूं कहे कि इस यूनिट में बेहतर प्रबंधन कर वाहवाही लूट ली है। इस कार्यक्र म में भेल के बोर्ड आफ डायरेक्टर के अलावा सभी यूनिटों के मुखिया ने शिरकत की। यहां तक कि भेल के रिटायर्ड डायरेक्टर व ईडी भी मौजूद रहे। इस कार्यक्रम में खर्च भले ही कितना हुआ हो वह अलग बात है लेकिन व्यवस्थाओं ने तो सबका मन लूट लिया। चेयरमेन ने तो इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भेल के डायरेक्टर पॉवर की जमकर तारीफ कर डाली। वैसे भी डायरेक्टर पॉवर तारीफ के काबिल भी हैं। चर्चा है कि भोपाल में दो दिन चली एमसीएम की बैठक का समापन भी सांची मे कर डाला। बैठक में जहां चेयरमेन साहब ने कार्यक्रम की तारीफ की वहीं कमेटी में शामिल हुए अफसरों को परफार्मेंस बढ़ाने और वसूली तेज करने के लिए फटकार भी लगाई। यह भी चर्चा रही कि पिछले वित्तीय वर्ष में कंपनी ने न केवल टर्न ओवर बढ़ाया बल्कि प्राफिट बढ़ाने में भी पीछे नहीं रही। पिछले दो सालों में कंपनी का बेहतर परफार्मेंस चेयरमेन की लोकप्रियता की और इशारा करते रहे। इस बात का लोहा भेल के कर्मचारी ही नहीं बल्कि अधिकारी और ट्रेड यूनियन नेता भी मानते रहे। इसलिए यह उम्मीद भी जागी है कि भेल के चेयरमेन को एक्सटेंशन मिल सकता है।

भोपाल वापसी की तैयारी शुरू

जून माह में भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) में प्रमोशन के साथ ही तबादलों की भी भरमार रहेगी। ऐसे में जहां डीजीएम से लेकर एजीएम स्तर के अधिकारी प्रमोशन की जुगाड़ में अपने आंकाओं की शरण में पहुंच गये तो भेल के कुछ अफसर भोपाल वापसी की तैयारी में लगे हैं। चर्चा है कि भेल की झांसी, रानीपेट के अलावा भेल दिल्ली कार्पोरेट के कुछ अफसर भोपाल आने के लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं इनमें से कुछ अफसर तो पिछले साल भोपाल यूनिट से बाहर की यूनिट प्रमोशन के बाद स्थानान्तरित किये गये थे। उनका मन वापस अपनी मदर यूनिट मे आने के लिए फडफ़ड़ा रहा हैं। वैसे भी इनके रिटायरमेंट में काफी समय है। ऐसे में भोपाल आकर फिर इसी यूनिट से अगले दो साल में ईडी बनकर बाहर जाने की कोशिश करेंगे। दूसरी और विशाखापट्टनम के जीएम और दिल्ली में पदस्थ जीएम टीके बागची भी जीएमआई बनने की कतार में है। यह अलग बात है कि चेयरमेन साहब जीएमाआई के लिए कभी भी आदेश निकाल दे।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

भेल में कौन बनेंगे ईडी

भोपाल भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड में 27 महाप्रबंधक कार्यपालक निदेशक बनने की कतार में खड़े …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)