Monday , August 26 2019
Home / राजनीति / हर भारतीय जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के लोगों के साथ खड़ा है : मोदी

हर भारतीय जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के लोगों के साथ खड़ा है : मोदी

नई दिल्ली

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल को अभी 100 दिन भी पूरे नहीं हुए हैं और सरकार ने तीन तलाक, अनुच्छेद 370 जैसे मुद्दों पर बड़ी सफलता हासिल कर ली है। अनुच्छेद 370 हटाने के न सिर्फ राजनीतिक तौर पर बड़ी जीत माना जा रहा है, बल्कि इसे लेकर कूटनीतिक मोर्चे पर भी सरकार की जमकर तारीफ हो रही है। न्यूज एजेंसी आईएएनस को दिए एक इंटरव्यू में पीएम मोदी ने अनुच्छेद 370 हटाने को लेकर विस्तार से बात की।

पीएम मोदी ने कहा, ‘आप ऐसे लोगों की लिस्ट बनाइए जो कश्मीर पर इस फैसले का विरोध किया। इसमें कुछ स्वार्थी समूह, राजनीतिक वंश, वो लोग जो आतंकवादियें के प्रति सहानुभूति रखते हैं और कुछ विपक्ष के मित्र शामिल हैं। देश के लोग, चाहे जो भी उनकी राजनीतिक विचारधारा हो, ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लिए उठाए गए इस कदम का समर्थन किया। यह पूरी तरह राष्ट्र का विषय है, राजनीति का नहीं। देश के लोग इस फैसले को मुश्किल मान रहे हैं, लेकिन उन्हें भी इस बात का अहसास है कि जो अब तक असंभव लगता था, उसे संभव किया जा रहा है।’

पीएम ने कहा कि धीरे-धीरे कश्मीर में हालात सामान्य हो जाएंगे। पीएम को साफ तौर पर लगता है कि इसके कुछ प्रावधान देश को नुकसान पहुंचा रहे थे। मोदी ने कहा कि इससे सिर्फ राजनीतिक परिवारों और अलगाववादियों को मदद मिलती थी। पीएम ने कहा, ‘अब यह सबको स्पष्ट है कि कैसे अनुच्छेद 370 और 35ए ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग-थलग कर दिया था। 7 दशक के समय ने लोगों का कोई भला नहीं किया। लोगों को विकास की धारा से अलग रखा गया। सबसे बड़ा नुकसान यह हुआ कि आर्थिक तौर पर जम्मू-कश्मीर कभी तरक्की नहीं कर पाया।’ पीएम ने कहा कि इस पर हमारा नजरिया थोड़ा अलग है। अब तक गरीबी की मार झेल रहे लोगों को ज्यादा आर्थिक मौके मिलने चाहिए। अब कश्मीर में विकास को एक मौका मिलना चाहिए।

“जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि उनके क्षेत्र का विकास उनकी मर्जी, सपने और महत्वकांक्षाओं के मुताबिक होगा। अनुच्छेद 370 और 35ए एक जंजीर की तरह लोगों को बांधे हुए थे। अब ये जंजीरें टूट चुकी हैं। लोगों को अब इससे अलग कर दिया गया है और अब वे खदु अपनी किस्मत को आकार दे सकते हैं”-नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

पीएम मोदी ने कहा, ‘मेरे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के भाई-बहन अपने लिए बेहतर भविष्य चाहते हैं, लेकिन अनुच्छेद 370 ऐसा नहीं होने दे रहा था। वहां महिलाओं, बच्चों, एससी और एसटी समुदाय के लोगों के खिलाफ काफी अन्याय था। अब अब, बीपीओ से लेकर स्टार्टअप तक, खाद्य प्रसंस्करण से लेकर पर्यटन तक, कई उद्योग निवेश का लाभ उठा सकते हैं और स्थानीय युवाओं के लिए अवसर पैदा कर सकते हैं। शिक्षा और स्किल डिवेलपमेंट के क्षेत्र में भी उछाल आएगा।’

पीएम ने कहा कि जो लोग अनुच्छेद 370 हटाने का विरोध कर रहे हैं, मेरा उनसे सीधा सा सवाल है कि अनुच्छेद 370 और 35ए को बनाए रखने के पीछे उनका क्या तर्क है? पीएम ने कहा कि उनके पास इस सवाल का कोई जवाब नहीं होगा।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

समय से पूर्व करना पड़ा इकॉनमी बूस्टर का ऐलान, यह था कारण

नई दिल्ली नीति आयोग के वाइस चेयरमैन राजीव कुमार द्वारा इकॉनमी की हालत को लेकर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)