Tuesday , November 12 2019
Home / Featured / महाराष्ट्र : इस्तीफा दे देवेंद्र का शिवसेना पर हमला, ’50-50′ पर नहीं हुई बात

महाराष्ट्र : इस्तीफा दे देवेंद्र का शिवसेना पर हमला, ’50-50′ पर नहीं हुई बात

मुंबई

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। शुक्रवार को राजभवन पहुंचकर उन्होंने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। वहीं, अभी तय नई सरकार के गठन को लेकर तस्वीर साफ नहीं हो पाई है। शनिवार को ही महाराष्ट्र विधानसभा का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। इस्तीफे के बाद फडणवीस ने कहा कि शिवसेना से ढाई-ढाई साल के लिए सीएम को लेकर कोई बात नहीं हुई थी।

महाराष्ट्र के राजभवन में इस्तीफा देने पहुंचे फडणवीस के साथ बीजेपी के कुछ अन्य नेता भी मौजूद थे। शिवसेना की सीएम पद की मांग को लेकर गतिरोध जारी रहने के कारण यह स्पष्ट नहीं है कि अगली सरकार कौन बनाएगा। हालांकि, बीजेपी के नेता लगातार दावा कर रहे हैं कि शिवसेना के साथ ही सरकार बनेगी और देवेंद्र फडणवीस ही दोबारा मुख्यमंत्री बनेंगे।

‘कभी नहीं हुई ढाई-ढाई साल सीएम की बात’
इस्तीफे के बाद फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा, ‘चुनाव में हमें थोड़ी कम सीटें आईं। उद्धव ठाकरे ने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि वह सरकार बनाने को तैयार हैं। मेरा भी मानना है कि यह जनादेश एनडीए को मिला है। मैं यह स्पष्ट करना चाहूंगा कि ढाई-ढाई साल सीएम की कोई बात नहीं हुई थी। ना ही कभी यह तय हुआ कि ढाई-ढाई साल दो सीएम रहेंगे।’

फडणवीस ने आगे कहा, ‘अगर ऐसी कोई बात होती तो हम बात करके उसका हल निकाल लेते लेकिन शिवसेना ने चर्चा ही रोक दी। शिवसेना सिर्फ सीएम पद को लेकर बात करना चाहती है। मेरे उद्धव ठाकरे जी से बहुत अच्छे संबंध हैं। मैंने उनको फोन किया लेकिन उन्होंने मेरे फोन का जवाब नहीं दिया। उन्होंने हमसे चर्चा करने की बजाय एनसीपी और कांग्रेस से चर्चा की। मुझे लगता है कि चुनाव नतीजे आने के बाद ही शिवसेना ने तय कर लिया था कि वह एनसीपी-कांग्रेस के साथ सरकार बनाएगी।’

बीजेपी की ओर से जारी हैं प्रयास
दूसरी तरफ महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन से बचने के लिए बीजेपी ने आखिरी बचे कुछ घंटों में अंतिम प्रयास शुरू कर दिया है। संकटमोचक माने जाने वाले केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी मुंबई पहुंच गए हैं। उधर, शिवसेना और कांग्रेस बैठकों के जरिए मंथन में जुटी हैं। विधायकों को टूटने से बचाने के लिए शिवसेना ने कल ही अपने विधायकों को होटल में शिफ्ट कर दिया था। अब खबर है कि कांग्रेस पार्टी आज सभी 44 विधायकों को जयपुर भेज रही है।

सरकार गठन के लिए समय खत्म होता देखकर शिवसेना नेता संजय राउत एकबार फिर से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के अध्यक्ष शरद पवार से मिलने पहुंचे। आपको बता दें कि शरद पवार साफ-साफ कह चुके हैं कि एनसीपी और कांग्रेस विपक्ष में ही बैठेंगी और वे शिवसेना को समर्थन नहीं देंगी।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

महाराष्ट्र में किसकी सरकार: अजब स्थिति में फंस गई शिवसेना

मुंबई महाराष्ट्र में चल रहे नाटकीय सियासी घटनाक्रम ने मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए बीजेपी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)