Friday , February 21 2020
Home / भेल न्यूज़ / भेल के कर्मचारियों को एक ही दिन में देती है 15 लाख का लोन

भेल के कर्मचारियों को एक ही दिन में देती है 15 लाख का लोन

55 साल पहले मात्र 640 रूपये से कारोबार करने वाली थ्रिफ्ट सोसायटी का कारोबार 100 करोड़

भोपाल

सहकारिता के मूल उद्धेश्यों को लेकर आज से 55 वर्ष पूर्व 7 भेल कर्मियो ने एक मन, एक विचार, एक कर्म को लेकर 13 जनवरी 1965 को इस संस्था के निर्माण का सपना संजोया जिसे म.प्र.शासन सह्कारिता विभाग ने अपनी स्वीकृति प्रदान कर 27 मार्च 1965 को बी.एच.ई.ई थ्रिफ्ट एवं क्रेडिट को आपरेटिव सोसायटी लिमिटेड के रुप मे पंजीकृत की गई। सहकारिता आंदोलन एक व्यापार नहीं हैं की मूल भावना को संजोकर संस्था ने सहकारिता से कर्मचारियों को जोडऩे का भागीरथी प्रयास किया, तथा कुल 62 सदस्यंों की जमा अंश राशि 640 रूपये से शुरु की गई इस संस्था के आज लगभग 5000 सदस्य है। जिसके द्वारा संस्था ने देश-प्रदेश में सहकारिता का परचम लहराया है।

22 मार्च 2010 को संस्था ने मल्टीस्टेट को आपरेटिव सोसायटी एक्ट 2002 के अधीन पंजीकृत होकर अपनी प्रगति यात्रा का एक कदम और आगे बढाया है। यह भेल के आपसी सहयोग, विश्वास, पारदर्शिता और कर्मठता संस्था की इस प्रगति के चार आधार स्तंभ है ।

वैश्विक आर्थिक मंदी व पीएमसी घोटाले के बाद भी निर्विवाद है थ्रिफ्ट सोसायटी
1965 से अभी तक कई उतार-चढ़ाव देखने के बाद आज थ्रिफ्ट सोसाइटी सहकारिता के क्षेत्र में एक नई ऊंचाई छूने जा रही है। आज जहां एक ओर वैश्विक आर्थिक मंदी है वही पीएमसी घोटाले के उजागर होने पर पूरे देश में सहकारिता पर सवालिया निशान लग गया है। ऐसे में थ्रिफ्ट सोसाइटी निर्विवाद रूप से अग्रसर है । भेल के करीब 5000 कर्मचारी इस संस्था के सदस्य हैं जिसमें भेल के आर्टिजन, सुपरवाइजर और अधिकारी शामिल हैं भेल कॉरपोरेट स्तर के कई बड़े अधिकारी भी इस संस्था के सदस्य हैं। थ्रिफ्ट सोसायटी अपने सभी सदस्यों को अधिकतम 15 लाख की ऋण मात्र एक ही दिन में प्रदान करती है। सदस्य हित को ध्यान में रखते हुए वर्तमान बोर्ड ने पॉकेट मनी लोन का भी शुभारंभ किया है। जिसके तहत बिना किसी जमानतदार के सदस्यों को 25000 का ऋण कुछ ही घंटों में मिल जाता है। इस बोर्ड ने बचत बाजार को भी एक नई ऊचाइयों पर पहुंचाया है।

संस्था के अध्यक्ष बसंत कुमार के अनुसार पहली बार 2019-20 में सोसाइटी के इतिहास में बैलेंस शीट 100 करोड़ की बनने जा रही है। वह भी ऐसे समय में जब भेल चुनौतीपूर्ण समय से गुजर रहा हो, नई भर्ती नहीं होने और लगातार बड़े पैमाने पर सेवानिवृत्ति होने पर थ्रिफ्ट सोसाइटी के सदस्यों की संख्या लगातार कम होती जा रही है। साथ ही भविष्य की अनिश्चितता होने के कारण सदस्य आर्थिक रूप से भी संकुचित हो गए हैं। इन सभी परिस्थितियों के बावजूद अगर थ्रिफ्ट सोसाइटी सुदृढ़ रूप से खड़ी है तो यह एक उपलब्धि है।

क्या करती है संस्था
सदस्यों को उपहार वितरण, सदस्यता समाप्ति पर सेवा निवृत अनूठी उपहार योजना, दुर्घटना सहायता राशि,संस्था के बचत बाजार एवं सहकारी वस्त्रालय, रिलायंस एवं रेमंड के सूटिंग शट्रिंग एवं रेमंड की बेड.शीट्स, गोदरेज के गद्दे, हैवेल्स इंडिया के होम-एप्लायेंसेस, सफ ारी लगेज, एलजी के इलेक्ट्रॉनिक्स के उत्पाद, सहकारी वस्त्रालय, संस्था का बचत बाजार आदि।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजीवा रेड्डी के जन्मदिन पर मरीजों को बांटे फल

भोपाल इंटक राष्ट्रीय अध्यक्ष जी. संजीवा रेड्डी के 90वे जन्मदिन के अवसर पर मध्य प्रदेश …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)