Friday , February 21 2020
Home / Featured / चीन में वायरस का खौफ, 2 करोड़ लोग ‘कैद’ में, भारत के लिए टेंशन

चीन में वायरस का खौफ, 2 करोड़ लोग ‘कैद’ में, भारत के लिए टेंशन

पेइचिंग/नई दिल्ली

चीन ने करॉना वायरस को फैलने से रोकने के लिए गुरुवार को वुहान सहित 5 शहरों को सील कर दिया। देशभर में इस वायरस से 630 से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 17 लोगों की मौत हो चुकी है। चीनी नववर्ष के पहले सड़कों पर भीड़भाड़ बढ़ने के मद्देनजर गाड़ियों, ट्रेनों, विमानों समेत आवागमन के विभिन्न माध्यमों को रोक दिया गया है। इन शहरों में तकरीबन दो करोड़ लोग रहते हैं। चीनी अधिकारियों ने गुरुवार शाम हुबेई प्रांत में पांच शहरों – हुगांग, एझाओ, झिजियांग, क्विनजिआंग और वुहान में सार्वजनिक परिवहन को रोकने की घोषणा की। यह वायरस भारत के लिए भी चिंता की बात है।

कई भारतीय भी हैं संवेदनशील इलाके में
दरअसल, हुबेई प्रांत में कई भारतीय भी रहते हैं। ऐसे में भारतीय दूतावास ने अपने नागरिकों की सहायता के लिए हॉटलाइन स्थापित की है। भारतीय दूतावास ने एक बयान में कहा कि चीनी अधिकारियों ने प्रांत में रह रहे भारतीयों को खाद्य आपूर्ति सहित सभी सहयोग का आश्वासन दिया है। भारत के लिहाज से भी चिंता की वजह हैं क्योंकि करीब 700 भारतीय छात्र वुहान और आसपास के इलाके में रहते हैं। इन छात्रों में ज्यादातर चीनी विश्वविद्यालयों में चिकित्सा की पढ़ाई करते हैं।

सऊदी में भारतीय नर्स वायरस की चपेट में
उधर, सऊदी अरब में कार्यरत केरल की रहने वाली एक नर्स को करॉना वायरस से संक्रमित पाए जाने की खबर मिलने के बाद केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने विदेश मंत्री एस. जयशंकर को अरब देश से बात कर मामले में संज्ञान लेने और उचित इलाज मुहैया कराने के संबंध में पत्र लिखा है। इधर, आपको बता दें कि भारत में दिल्ली, मुंबई और कोलकाता समेत सात हवाईअड्डों पर थर्मल स्क्रीनिंग के जरिए चीन से आनेवाले यात्रियों की जांच हो रही है।

चीन में 2 करोड़ लोग घरों में किए गए ‘कैद’
उधर, चीन सरकार ने लोगों को निर्देश दिए हैं कि उनके पास जब तक कोई बेहद जरूरी कारण न हो, शहर न छोड़ें। ट्रेन और विमान के परिचालन पर रोक लगा देने के कारण 2 करोड़ लोग इस बंद का सामना कर रहे हैं। वुहान में यह बीमारी तेजी से फैल रही है और यह आगे न बढ़े इसलिए यह फैसला किया गया है।

17 लोगों की मौत, 630 संक्रमित
चीन में वायरस के कारण 17 लोगों की मौत हो चुकी है, 630 लोग संक्रमित हैं। जितनी भी मौतें हुईं हैं, वे वुहान और आसपास के इलाके में हुई है। मृतकों की औसत उम्र 73 साल है। मृतकों में सबसे उम्रदराज शख्स 89 साल का था जबकि सबसे कम उम्र के लिहाज से 48 साल के व्यक्ति की मौत हुई। देश में सबसे ज्यादा प्रभावित वुहान के रेलवे स्टेशन पर सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। सुबह में अवरोधक लगाकर प्रवेश को बंद कर दिया गया। सड़कों, शॉपिंग मॉल, रेस्तरां और अन्य स्थानों पर आम तौर पर भीड़ रहती है लेकिन 1.1 करोड़ आबादी वाले इस शहर में बिल्कुल सन्नाटा पसरा है। सारे सार्वजनिक स्थानों को बंद कर दिया गया है।

पास के हुगांग और एझाओ में भी यही स्थिति है। मनोरंजन केंद्र, सिनेमाघर, इंटरनेट कैफे और अन्य केंद्रों को भी बंद करने का आदेश दिया गया है। हुबेई प्रांत में वुहान और हुंगांग शहरों को बंद कर दिया गया है। वायरस के प्रसार को रोकने के लिए पेइचिंग में प्रशासन ने अनिश्चितकाल के लिए बड़े कार्यक्रमों पर रोक लगा दी है। वुहान में सीफूड और पशु बाजार से फैले श्वसन संबंधी इस वायरस का खौफ बढ़ता ही जा रहा है।

हॉन्ग कॉन्ग में भी सामने आया केस
मकाऊ के बाद हॉन्ग कॉन्ग में भी एक मामले की पुष्टि हुई है। हनोई से मिली खबर के मुताबिक, वियतनाम में दो चीनी नागरिकों में वायरस की जांच के परिणाम सकारात्मक आए हैं और उनका अस्पताल में उपचार चल रहा है। हो ची मिन्ह शहर में रहने वाले एक चीनी व्यक्ति को अपने पिता से यह संक्रमण हुआ, जो 13 जनवरी को चीन के शहर वुहान से वियतनाम आए थे।

सिंगापुर में भी पहले मामले की पुष्टि
सिंगापुर में भी पहले मामले की पुष्टि हुई है। सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि वुहान से आया 66 वर्षीय व्यक्ति संक्रमण की चपेट में आ गया है। यह व्यक्ति अपने परिवार के साथ सोमवार को आया था। फिलहाल, अस्पताल में उसे अलग वॉर्ड में रखा गया है और उपचार किया जा रहा है। वुहान से आए एक व्यक्ति को भी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

दुबई भी अलर्ट, चीन से आते हैं काफी यात्री
दुबई से मिली जानकारी के अनुसार, दुनिया के सबसे व्यस्त हवाई अड्डों में शामिल दुबई हवाई अड्डा प्रशासन ने कहा कि वह चीन से आने वाले सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग करेगा। दुबई के प्रशासन ने कहा कि पिछले साल चीन से 9,89,000 पर्यटक आए थे और इस साल पर्यटकों की संख्या 10 लाख से ज्यादा रहने की संभावना है। पिछले साल 36 लाख चीनी नागरिक इस हवाई अड्डे के जरिए दूसरी जगहों पर गए थे।

चीन ने हुबेई प्रांत में दो और शहरों में राजमार्ग पर टोल प्लाजा को बंद कर दिया है और सार्वजनिक परिवहन को भी बंद कर दिया है। पंद्रह लाख की आबादी वाले शहर जिंटाओ में प्रशासन ने कहा कि हुबेई एक्सप्रेसवे पर 30 टोल प्लाजा को बंद कर दिया गया। चीन में फैले नए वायरस के केंद्र में मौजूद 1.1 करोड़ आबादी वाले द्वीपीय शहर वुहान को प्रशासन की ओर से सील किए जाने के कुछ समय पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने स्थानीय प्रतिनिधि गौडेन गालिया के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल को हालात का जायजा लेने के लिए भेजा।

गालिया के नेतृत्व में पांच सदस्यीय दल ने चीन रोग नियंत्रण केंद्र की स्थानीय जैव सुरक्षा प्रयोगशाला, अस्पतालों और हवाई अड्डों का दौरा किया। इस दौरान गालिया ने स्वास्थ्य कर्मियों, आपदा निरीक्षकों और शहर के अधिकारियों से बातचीत की जिन्होंने बताया कि कैसे प्रशासन पीड़ितों की पहचान करने और रोग को फैलने से रोकने के लिए कदम उठा रहा है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

आतंक पर फिर ढाल बना चीन, पाक को बचाया

पेरिस भारत की लाख कोशिशों के बावजूद पाकिस्तान खुद को वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (एफएटीएफ) …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)