Home राष्ट्रीय कहीं पुर्जा-पुर्जा तो नहीं हो गई केजरीवाल की कार, मेरठ पहुंची पुलिस

कहीं पुर्जा-पुर्जा तो नहीं हो गई केजरीवाल की कार, मेरठ पहुंची पुलिस

0 32 views
Rate this post

नई दिल्ली

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की कार की तलाश मेरठ पहुंच गई है। पहली बार शपथ लेने के लिए जिस नीली वैगनआर कार में सवार होकर केजरीवाल रामलीला मैदान पहुंचे थे, वह मेरठ के सोतीगंज बाजार पहुंच गई है। मेरठ का सोतीगंज बाजार चोरी की गाड़ियों को खोलने और उसके पुर्जे अलग-अलग करने के लिए बदनाम है।

राजधानी के सीएम केजरीवाल की कार की तलाश के लिए पुलिस ने गाड़ियां खोलने के लिए मशहूर इस सबसे बड़े बाजार में तलाशी अभियान चलाया है। इस बाजार में बड़ी तादाद में एनसीआर से चोरी होने वाली गाड़ियों के पुर्जे अलग किए जाते हैं। केजरीवाल की कार की तलाश के लिए सड़क से लेकर सोतीगंज के गोदामो में चेकिंग अभियान चलाया गया। वैगनआर गाड़ियों को रोक-रोककर चेकिंग की गई।

बता दें कि वह कार गुरुवार को दिल्ली सचिवालय के गेट नंबर 3 के पास से चोरी हो गई। सीएम केजरीवाल 49 दिन की सरकार के समय इसी कार से सचिवालाय आते-जाते थे और चुनावी कैंपेन में भी उन्होंने इसी कार का प्रयोग किया था। पहली बार इसी कार से वे दिल्ली सचिवालय भी पहुंचे थे। ऐसा कहा जाता है कि इस कार से सीएम का भावनात्मक लगाव है।

फिलहाल इस कार को आम आदमी पार्टी यूथ विंग की इन्चार्ज वंदना सिंह इस्तेमाल कर रही थीं। डीडीयू मार्ग स्थित आप कार्यालय में यह कार कुछ दिनों तक खड़ी रही और उसके बाद वंदना सिंह ने इस कार से आना-जाना शुरू किया। वह बताती हैं कि कार के चोरी होने से वह बहुत दुखी हैं क्योंकि यह कार आम आदमी पार्टी के आंदोलन की गवाह रही है। केजरीवाल ने चुनाव प्रचार के समय इस कार का प्रयोग किया। रोहतक में लोकसभा चुनाव के दौरान भी वहां के एक सीनियर आप लीडर ने इस कार का चुनाव प्रचार में प्रयोग किया।

वंदना ने बताया कि सुबह 11:45 पर वह इस कार से सचिवालय आईं और गेट नंबर 3 के पास कार पार्क की। उसके बाद जब वह दोपहर दाई बजे के करीब वापस गईं तो देखा कि कार वहां पर नहीं है। सीसीटीवी फुटेज चेक किया गया तो पाया कि कोई शख्स कार लेकर जा रहा है लेकिन सीसीटीवी फुटेज में उस शख्स का चेहरा ठीक से दिखाई नहीं दे रहा।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....