Home भोपाल/ म.प्र बच्ची को सोते से उठा ले गया करीबी, ज्यादती कर घर के...

बच्ची को सोते से उठा ले गया करीबी, ज्यादती कर घर के पास छोड़ा

0 54 views

भोपाल

यह तो पराकाष्ठा है…? अपराध और अपराधी की मानसिकता की…। मानवीयता की हदें तोड़कर कु्रर पशु बनने की…। दुष्कर्म या ज्यादती शब्द सुनते ही रूह कांप जाती है…। फिर ज्यादती एक पांच साल की बच्ची के साथ…। रोएं खड़े हो उठते है…। राजधानी के नजीराबाद इलाके में अपने घर में सो रही पांच साल की बच्ची को शनिवार-रविवार रात की दरमियानी कोई करीबी उठा ले गया। ज्यादती की और खून से सनी बच्ची को घर से पांच सौ मीटर की दूरी पर पटककर छोड़ गया। मासूम रोते-बिलखते हुए जमीन पर पड़ी मिली। उसे परिजनों ने अस्पताल में भर्ती कराया है।

पुलिस के मुताबिक 5 वर्षीय पीड़ित बच्ची शनिवार को करीब 11 बजे रात को दादा-दादी के साथ अपने घर में सो गई। देररात परिजनों की आंख खुली तो बच्ची गायब थी। दादा-दादी ने बच्ची के गुमने की सूचना दूसरे कमरे में सो उसके माता-पिता को तत्काल दे दी। बच्ची के अचानक यूं गायब हो जाने पर उसे तलाशने घर के बाहर निकल आए। इसी दौरान डायल-100 को भी सूचना दे दी गई।

करीब एक घंटे की तलाशी के बाद बच्ची घर से करीब 500 मीटर की दूरी पर खून से लथपथ मिली। वह जमीन पर पड़ी रो रही थी। पुलिसकर्मियों ने परिजन की मदद से उसे अस्पताल में भर्ती कराया। डॉक्टरों के मुताबिक उसकी हालत खतरे से बाहर है, लेकिन उसे निगरानी में रखा गया है। बच्ची के बयान नहीं होने के कारण आरोपी के बारे में कुछ भी पता नहीं चल पाया है, लेकिन पुलिस का शक किसी करीबी पर ही आकर अटक गया है। पुलिस ने अपहरण, ज्यादती और पॉक्सो एक्ट के तहत अज्ञात आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

घटना के बाद से ही रो रही मासूम
पुलिस को जब बच्ची घर से कुछ दूरी पर मिली तो वह रो रही थी। परिजनों को देखते ही वह उनसे लिपट गई। अस्पताल में भी उसका रोना नहीं रुका। वह लगातार बिलख रही है। उसके आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे है।

पूरा गांव लग गया था तलाश में
बच्ची के घर से गायब होने की सूचना लगते ही पूरा गांव बच्ची की तलाश में जुट गया। पुलिस और गांव वालों की एक टीम जंगल की तरफ भी निकल गई। यही कारण रहा कि करीब एक घंटे में ही बच्ची मिल गई।

अभी नहीं हुए बयान
घटना के बाद से ही बच्ची डरी हुई है। हम भी उससे कुछ नहीं पूछ पाए हैं। बच्ची ने सिर्फ मां से ही थोड़ी-बहुत बात की है, इसलिए आरोपी के बारे में ज्यादा कुछ पता नहीं चल पाया है। आरोपी कोई करीबी ही हो सकता है। -वीना सिंह, एसडीओपी बैरसिया

दोस्तों के साथ शेयर करे.....