Home भेल न्यूज़ प्रतिनिधि यूनियन की बैठक में दीवाली बोनस को लेकर मंथन

प्रतिनिधि यूनियन की बैठक में दीवाली बोनस को लेकर मंथन

0 768 views
Rate this post

इंटक ने कहा कर्मचारियों को मिले 35 से 40 हजार बोनस

भोपाल

प्रशासनिक भवन में प्रतिनिधि यूनियन और प्रबंधन के बीच बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में कार्यपालक निदेशक और हेम्टू इंटक के गौतम मोर, राजेश शुक्ला, रणजीत सिंह, सुनील महाले, कृष्णा चौधरी, मदन मोहन पांडे व् ऐबू व बीएमस से 3-3 प्रतिनिधि शामिल हुए।

बैठक में प्रबंधन ने 2008-09 वित्त वर्ष से पीबीटी, प्रॉफिट बिफोर टैक्स, टर्नओवर व एसआईपी आदि के आंकड़े दिखाये। प्रतिनिधि यूनियन ने कंपनी को बड़े घाटे से मुनाफे में आने के बाद एक सम्मानजनक बोनस देने की मांग रखी। इंटक के राजेश शुक्ला ने कहा कि 2008-09 का टर्न ओवर 28 हजार 33 करोड़ था जो की पिछले वित्त वर्ष 2016-17 के लगभग बराबर है। 2008-09 मे एसआईपी बोनस ग्रेड वाइज 24000 से 34000 तक दिया गया था जबकि 2008-09 की अपेक्षा 2017 में महंगाई कहीं ज्यादा है। इसलिए 2008-09 के 34000 से अधिक दिया जाये।

इस बात पर ईडी श्री ठाकुर ने कहा कि 2008-09 में प्रॉफिट 4849 करोड़ कारपोरेट स्तर पर हुआ था जबकि 2016-17 में 628 करोड़ हुआ है। एसआईपी की गणना प्रॉफिट के आधार पर होती है। इस पर यूनियन का कहना था कि कर्मचारियों ने कारखाने को बड़े घाटे से निकालकर प्रॉफिट में ला दिया है जो की बहुत बड़ी उपलब्धि है। ऐसे में सम्मान जनक बोनस कर्मचारियों को दिया जाये। श्री शुक्ला ने कस्तूरबा अस्पताल की अव्यवस्था को लेकर बड़े विवाद के उतपन्न होने की स्थिति से प्रबंधन को चेताया और कहा कि जल्द से जल्द कस्तूरबा अस्पताल व् टाउनशिप के लिए सही निर्णय लिये जाये।

इंटक के रणजीत सिंह ने सीएमडी को कर्मचारियों के डिमांड का एक ज्ञापन दिया था जिसमे नव वर्ष उपहार राशि को बढ़ाने व् एसआईपी को दीवाली पूर्व देने की मांग भी रखी गई थी जिसे सीएमडी ने तुरन्त स्वीकार कर लिया। ऐसे में 35 हजार से 40 हजार का बोनस कर्मचारियों को दिया जाएगा तो उनका मनोबल बढ़ेगा। यह जानकारी इंटक ने एक प्रेस विज्ञप्ति में दी।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....