Home भोपाल/ म.प्र डॉ. रजनी भंडारी को बाल आयोग से हटाया, उम्र के चलते नियुक्ति...

डॉ. रजनी भंडारी को बाल आयोग से हटाया, उम्र के चलते नियुक्ति हुई निरस्त

0 33 views
Rate this post

भोपाल

शासन ने दो महीने बाद ही बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य डॉ रजनी भंडारी की नियुक्ति निरस्त कर दी। आयोग में उम्र की सीमा 60 साल है लेकिन रजनी की नियुक्ति के समय अधिकारियों ने उनके दस्तावेजों का परीक्षण नहीं किया। आयोग में इस तरह की गफलत का यह दूसरा मामला है, इसके पहले नसरुल्लागंज के बाबूलाल जाट की नियुक्ति भी निरस्त की जा चुकी है।

आयोग में सदस्य की नियुक्ति के लिए तीन साल का कार्यकाल रहता है लेकिन शर्त यह भी है कि आयु 60 साल से अधिक नहीं होना चाहिए। नियुक्ति के बाद डॉ भंडारी दो माह तक काम भी करती रहीं, इस संबंध में मिली शिकायत के बाद जब जांच की गई तो स्कूल के प्रमाण पत्र में उनकी जन्मतिथि 19 मार्च 1955 पाई गई।

इसके अनुसार आयोग में नियुक्ति के पहले ही वह 60 साल की आयु पूरी कर चुकी थीं लेकिन नियुक्ति प्रक्रिया के दौरान शासन के स्तर पर उम्र संबंधी दस्तावेजों का परीक्षण नहीं किया गया। 18 अगस्त 2017 को चार सदस्यों के साथ डॉ रजनी भंडारी को सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया था।

आयोग पहुंचा शासन का पत्र
बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष डॉ राघवेन्द्र ने इस बात की पुष्टि की है कि शासन से उन्हें डॉ रजनी भंडारी की नियुक्ति निरस्ती संबंधी पत्र मिल गया है। उल्लेखनीय है कि बाल आयोग में नसरुल्लागंज के बाबूलाल जाट की नियुक्ति के मामले में भी इसी तरह की गफलत हुई थी। नियुक्ति के कुछ दिन बाद ही जब उनकी साठ साल से अधिक उम्र का मामला सामने आया तो शासन ने जाट की नियुक्ति को तुरंत निरस्त कर दिया।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....