Home खेल IND vs SA दूसरा टेस्ट, पहला दिन: आखिरी सेशन में भारत ने...

IND vs SA दूसरा टेस्ट, पहला दिन: आखिरी सेशन में भारत ने की वापसी

0 21 views
Rate this post

सेंचुरियन

साउथ अफ्रीका ने सेंचुरियन टेस्ट के पहले दिन का खेल खत्म होने तक 6 विकेट के नुकसान पर 269 रन बना लिए हैं। कप्तान फॉफ डु प्लेसिस 24 और केशव महाराज 10 रनों पर बल्लेबाजी कर रहे हैं। भारत की ओर से ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने तीन और इशांत शर्मा ने एक विकेट लिया। साउथ अफ्रीका की ओर से एडन मार्करम ने सबसे ज्यादा 94 रन बनाए। वहीं हाशिम अमला ने 82 रनों की पारी खेली। आखिरी सेशन में भारतीय टीम ने शानदार वापसी की। इस सेशन में भारत को चार विकेट मिले। साउथ अफ्रीका के दो बल्लेबाज रन आउट हुए।

टी तक साउथ अफ्रीका दो विकेट पर 182 रन बनाकर मजबूत स्थिति में था। ऐडन मार्करम अपने शतक से चूक गए और 94 रन बनाकर अश्विन का शिकार बने। अपनी पारी के दौरान उन्होंने 150 गेंद का सामना करते हुए 15 चौके जमाये। टी पर अमला 35 और एबी डि विलयर्स 16 रन बनाकर नाबाद पविलियन लौटे थे। लंच तक साउथ अफ्रीका का 78 रन तक कोई विकेट नहीं गिरा था।

मार्करम और डीन एल्गर (31) पहले विकेट के लिये साझेदारी आगे बढ़ाते हुए 85 रन तक पहुंचे कि अश्विन ने भारत को पहला विकेट दिलाया। एल्गर ने अश्विन की गेंद पर शाट खेलने का प्रयास किया और यह मुरली विजय के हाथों में समा गया। भारत ने फिर शॉर्ट गेंद से अमला को परेशान करना शुरू किया और इस दौरान आफ स्टंप से बाहर जाती गेंदों से उन्हें ललचाना भी शुरू किया।

जसप्रीत बुमराह हालांकि इस स्पैल में प्रभावित नहीं कर सके और बल्लेबाजों को परेशानी में डालने के लिए सही लाइन एवं लेंथ हासिल नहीं कर सके। मोहम्मद शमी का हाल भी ऐसा ही रहा जिससे भारत को इशांत शर्मा और अश्विन को आक्रमण पर लगाना पड़ा। अमला और मार्करम दूसरे विकेट के लिए 63 रन जोड़ चुके थे। मार्कराम ने आउट होने पर डीआरएस समीक्षा की मांग की लेकिन वह थोड़े दुर्भाग्यशाली रहे क्योंकि बल्ले का किनारा लगने पर थोड़ा संशय था। लेकिन मैदानी अंपायर के फैसले को बदलने का कोई कारण नहीं दिखा।

साउथ अफ्रीका ने 36वें ओवर तक 100 रन पूरे किये और 47वें ओवर तक उन्होंने 150 रन बना लिये। अमला जब 30 रन के स्कोर पर थे, उन्हें जीवनदान मिला। 51वें ओवर में इशांत की गेंद पर विकेटकीपर पार्थिव पटेल ने उनका कैच छोड़ दिया। वहीं शमी को हल्का सिरदर्द महसूस हो रहा था जिससे वह उपचार के लिए ड्रेसिंग रूम गए और फिर वापस आ गए।

इससे पहले साउथ अफ्रीका ने लंच तक बिना विकेट गंवाए 78 रन बनाए। एल्गर और मार्कराम ने नयी गेंद से गेंदबाजी करने वाले भारतीय गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के खिलाफ सतर्कता से शुरूआत की। शमी एक बार फिर अपने पहले स्पैल में रंग में नहीं दिखे, केप टाउन की तरह उन्होंने अपने चार ओवरों में 23 रन लुटा दिये। दोनों कोई मौका नहीं बना सके और बदलाव के तौर पर आठवें ओवर में इशांत शर्मा को लगाया गया, जिन्होंने एल्गर को परेशान किया और अपने पहले स्पैल में पूरे समय ऐसा करना जारी रखा।

हार्दिक पंड्या 13वें ओवर में गेंदबाजी के लिए आए लेकिन बल्लेबाजों को उनके खिलाफ जरा भी दिक्कत नहीं आयी। 20वें ओवर में जब आर अश्विन को लगाया गया, तब तक भारत एक घंटे के अंदर अपने सभी मुख्य गेंदबाजों को आक्रमण पर लगा चुका था।

भारत को टी के बाद पहली सफलता इशांत शर्मा ने दिलायी। उन्होंने एबी डि विलियर्स को बोल्ड कर दिया। इशांत को शॉर्ट और वाइड गेंद को डि विलियर्स ने खेलने की कोशिश की। गेंद बल्ले का किनारा लेकर विकेटों जा टकरायी।

इसके बाद साउथ अफ्रीका का स्कोर 246 रन था तब हार्दिक पंड्या ने सीधे थ्रो पर हाशिम अमला को रन आउट कर दिया। अमला ने पंड्या की शॉर्ट बॉल को ऑन साइड पर खेलकर रन लेने की कोशिश की। पंड्या ने दौड़कर सीधा थ्रो नॉन स्ट्राइकर छोर पर मारा। अमला क्रीज से पीछे रह गए थे।

साउथ अफ्रीका की पारी में चार रन ही और जुड़े थे जब अश्विन ने विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डि कॉक को उनकी पहली ही गेंद पर स्लिप में कोहली के हाथों कैच कराया। अश्विन की बाहर जाती गेंद पर डि कॉक ने बल्ला लगाया और कोहली ने कैच पकड़ने में कोई गलती नहीं की।

भारत ने अंतिम एकादश में तीन बदलाव किये, उसने बल्लेबाजों के मुफीद पिच को देखते हुए लोकेश राहुल को शिखर धवन की जगह और इशांत शर्मा को भुवनेश्वर कुमार की जगह शामिल किया। वहीं ऋद्धिमान साहा को मांसपेशियों में खिंचाव के कारण अंतिम एकादश में शामिल नहीं किया गया, उनकी जगह पार्थिव पटेल को विकेटकीपिंग के लिये उतारा गया।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....