Home फीचर केजरीवाल का भाजपा पर निशाना- हमने डबल पैसा दिया, तो यह गया...

केजरीवाल का भाजपा पर निशाना- हमने डबल पैसा दिया, तो यह गया कहां?

0 396 views
Rate this post

नई दिल्ली

defaultदिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ‘बैकफुट’ पर आते हुए एमसीडी के हड़ताली कर्मचारियों को 31 जनवरी तक की सैलरी देने की घोषणा की है। केजरीवाल ने कहा कि उन्हें एमसीडी का एक पैसा नहीं चुकाना है, लेकिन वह फिर भी कर्मचारियों की समस्याओं को देखते हुए सैलरी का इंतजाम कर रहे हैं। केजरीवाल ने एक साल बाद होने वाले चुनाव तक एमसीडी कर्मियों को ‘परेशान’ न होने देने का वादा भी किया।

बेंगलुरु में नैचुरोपैथी का इलाज करा रहे केजरीवाल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एमसीडी पर काबिज बीजेपी पर करप्शन को लेकर जमकर भड़ास निकाली। केजरीवाल ने कहा कि एमसीडी में करप्शन में डूबी हुई है और इसकी सीबीआई जांच होनी चाहिए। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार ने एससीडी को पूर्व के मुकाबले ज्यादा पैसा दिया है, लेकिन बावजूद इसके वह कर्मचारियों की सैलरी नहीं दे रही है।

केजरीवाल ने कहा कि यह भ्रम फैलाया जा रहा है कि दिल्ली सरकार पर एमसीडी का काफी पैसा बकाया है, जबकि हकीकत यह है कि हमने एक भी पैसा नहीं देना है। उन्होंने कहा कि बावजूद इसके वह कर्मचारियों की 31 जनवरी तक की सैलरी का इंतजाम कर रहे हैं।

केजरीवाल ने कहा, ‘हम 31 जनवरी तक की सैलरी का इंतजाम कर रहे हैं। 31 जनवरी तक का हिसाब पूरा करने के लिए 690 करोड़ रुपये की जरूरत है। हम 142 करोड़ रुपये की एमसीडी की बकाया स्टैंप ड्यूटी का तुरंत भुगतान कर रहे हैं। इसके अलावा साढ़े 5 सौ करोड़ का लोन दे रहे हैं।’ केजरीवाल ने कहा कि अगले साल एमसीडी का चुनाव है। इस एक साल के अंदर जब-जब कर्मचारियों को सैलरी की दिक्कत होगी, मैं उन्हें परेशान नहीं होने दूंगा।

‘हड़ताल के दौरान बीजेपी वाले फैला रहे थे कूड़ा’
केजरीवाल ने एमसीडी कर्मचारियों की हड़ताल के दौरान बीजेपी पर राजनीति करने का आरोप लगाया। केजरीवाल ने कहा कि एमसीडी कर्मचारियों की हड़ताल का फायदा उठाकर बीजेपी वाले कूड़ा फैला रहे थे। वहीं आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता, सरकार, मंत्री और पीडब्ल्यूडी उसे साफ कर रहे थे।

‘एमसीडी को दिया पहले से ज्यादा पैसा’
उन्होंने कहा कि इस साल नॉर्थ डीएमसी को 893 करोड़ दिए गए हैं, जबकि पिछले तीन-चार सालों में साढ़े पांच सौ करोड़ ही मिलते थे। ईस्ट दिल्ली को इस साल 466 करोड़ रुपये दिए, जबकि पहले करीब 288 करोड़ मिलते थे। पिछले चार सालों के मुकाबले 100 करोड़ रुपये ज्यादा दिए हैं। केजरीवाल ने सवाल उठाया कि जब कम पैसे मिलने पर पिछले चार साल से सैलरी मिल रही थी, तो फिर अब क्यों नहीं दी जा रही है। सवाल यह है कि पैसा गया कहां। उन्होंने कहा कि बहुत बड़ा घोटाला हुआ है, इसकी सीबीआई जांच होनी चाहिए।

‘जांच से भाग रही है एमसीडी’
केजरीवाल ने एमसीडी पर सत्तारूढ़ बीजेपी पर करप्शन को छिपाने का आरोप लगाया। केजरीवाल ने कहा कि हमने एमसीडी की चेकिंग के लिए डिविजनल कमिश्नर को भेजा, लेकिन अकाउंट दिखाने से इनकार कर दिया गया। इसका मतलब है कि बड़ा घोटाला हुआ है।

‘दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाने की साजिश’
केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाने की साजिश रचने का आरोप भी मढ़ा। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में ऐसा माहौल तैयार किया जा रहा है कि, जिससे राष्ट्रपति शासन लगा दिया जाए। अरुणाचल प्रदेश में यही किया गया।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....