Home फीचर नेशनल हेराल्ड केस: सुप्रीम कोर्ट पहुंचे सोनिया और राहुल

नेशनल हेराल्ड केस: सुप्रीम कोर्ट पहुंचे सोनिया और राहुल

0 236 views
Rate this post

नई दिल्ली

soniarahulकांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी नेशनल हेराल्ड मामले में आज सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। दोनों ने याचिका दाखिल कर हाई कोर्ट के उस आदेश को चुनौती दी है जिसके तहत उन्हें समन जारी करने के ट्रायल कोर्ट के आदेश को बरकरार रखा गया था।

दरअसल ट्रायल कोर्ट ने इस मामले में दोनों की पेशी के लिए कहा था इसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों हाई कोर्ट गए थे और हाई कोर्ट ने ट्रायल कोर्ट के फैसले को बरकरार रखा था। अब हाई कोर्ट के इसी फैसले के खिलाफ सोनिया-राहुल ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाली है।

बता दें कि बीजेपी नेता सुब्रह्मण्य स्वामी की शिकायत के बाद सोनिया-राहुल को समन जारी किया गया था। स्वामी ने यंग इंडियन लिमिटेड कंपनी के जरिए नेशनल हेराल्ड के अधिग्रहण में धोखाधड़ी और विश्वासघात का आरोप लगाया था। चैरिटेबल कंपनी के तौर पर रजिस्टर इस कंपनी में सोनिया और राहुल की बतौर डायरेक्टर हिस्सेदारी है।

बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कोर्ट में दाखिल अर्जी में आरोप लगाया था कि सोनिया और राहुल ने कांग्रेस पार्टी से लोन देने के नाम पर नेशनल हेराल्ड की 5000 करोड़ की संपत्ति जब्त कर ली।

पहले नेशनल हेराल्ड की कंपनी एसोसिएट जनरल लिमिटेड AJL को कांग्रेस ने 26 फरवरी, 2011 को 90 करोड़ का लोन दे दिया। इसके बाद 5 लाख रुपये से यंग इंडियन कंपनी बनाई गई, जिसमें सोनिया और राहुल की 38-38 फीसदी हिस्सेदारी है। शेष हिस्सेदारी कांग्रेस नेता मोतीलाल वोरा और ऑस्कर फर्नांडीस के पास है।

इसके बाद के 10-10 रुपये के नौ करोड़ शेयर यंग इंडियन को दे दिए गए और इसके बदले यंग इंडियन को कांग्रेस का लोन चुकाना था। 9 करोड़ शेयर के साथ यंग इंडियन को AJL के 99 फीसदी शेयर हासिल हो गए। इसके बाद कांग्रेस पार्टी ने 90 करोड़ का लोन भी माफ कर दिया। यानी यंग इंडियन को मुफ्त में स्वामित्व मिल गया।

स्वामी ने इस 90 करोड़ रुपये के प्रकरण में हवाला कारोबार का शक जताया है। स्वामी का यह भी आरोप है कि यह सब कुछ दिल्ली में बहादुर शाह जफर मार्ग पर स्थित हेरल्ड हाउस की 1,600 करोड रुपये की बिल्डिंग पर कब्जा करने के लिए किया गया।

नेशनल हेराल्ड अखबार की स्थापना पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने की थी, जिसका अधिग्रहण यंग इंडिया कंपनी ने किया था। यंग इंडिया कंपनी में सोनिया और राहुल की हिस्सेदारी है।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....