Home भोपाल/ म.प्र नरोत्तम मिश्रा राष्ट्रपति चुनाव में न तो वोट डाल पाएंगे न सदन...

नरोत्तम मिश्रा राष्ट्रपति चुनाव में न तो वोट डाल पाएंगे न सदन में बैठ सकेंगे

0 66 views
Rate this post

नई दिल्ली/भोपाल

रविवार को बैठी दिल्ली हाईकोर्ट की विशेष खंडपीठ के फैसले ने मंत्री नरोत्तम मिश्रा की रही सही उम्मीदों पर पानी फेर दिया। खंडपीठ ने चुनाव आयोग के आदेश पर रोक लगाने से इंकार कर दिया है। मिश्रा अब न तो राष्ट्रपति चुनाव में वोट डाल पाएंगे और न ही आज से शुरू हो रहे मानसून सत्र के दौरान सदन में बैठ पाएंगे।

राष्ट्रपति चुनाव में वोट डालने की अनुमति के लिए मिश्रा ने एकल पीठ से राहत न मिलने के बाद हाई कोर्ट की खंडपीठ के समक्ष गुहार लगाई थी। जस्टिस एस. मुरलीधर और प्रतिभा सिंह की विशेष खंडपीठ ने रविवार को उस पर सुनवाई करते हुए चुनाव आयोग के फैसले पर रोक लगाने से मना कर दिया।

अब उनकी अपील पर नियमित पीठ 28 अगस्त को सुनवाई करेगी। दिल्ली हाईकोर्ट में रविवार को हुई सुनवाई के दौरान स्पेशल बेंच ने नरोत्तम मिश्रा के वकील से कहा कि हम आपको स्टे नहीं दे सकते हैं। आप चाहें तो अपील वापस ले लें। इस पर नरोत्तम मिश्रा के वकील मुकुल रोहतगी ने अपील वापस लेने से इनकार कर दिया। इधर सूत्रों का कहना है कि मिश्रा के बारे में सत्ता और संगठन राष्ट्रपति चुनाव के मतदान के बाद कोई फैसला ले सकते हैं।

नरोत्तम की दोनों अपील खारिज
नरोत्तम मिश्रा की तरफ से उनके वकील मुकुल रोहतगी ने दो अपील की थी। पहली अपील थी कि उन्हें दिल्ली हाईकोर्ट के सिंगल बेंच के फैसले पर अंतरिम राहत देते हुए राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोट डालने की अनुमति दी जाए। दूसरी, यदि कोई अंतरिम राहत नहीं मिलती है तो संसदीय कार्य मंत्री के तौर पर मिश्रा काम नहीं कर पाएंगे। ये दोनों अपील हाईकोर्ट ने खारिज कर दी।

सदन में जाने पर रोक नहीं
सदन में जाने से कोई रोक नहीं है, राष्ट्रपति चुनाव के दौरान सदन में नहीं जाऊंगा। हम सुप्रीम कोर्ट भी जाएंगे। चुनाव आयोग के अयोग्यता का आदेश बना हुआ है।
– नरोत्तम मिश्रा

शाम के बाद दूंगा जवाब
अभी मेरे मित्र ने हाई कोट का फैसला निकालकर दिखाया है। डबल बैंच का आदेश 25 पेज का है और अधिकृत रूप से आने पर ही कुछ कह पाऊंगा। कल शाम के बाद जवाब दे पाऊंगा।
-डॉ. सीतासरन शर्मा, विधानसभा अध्यक्ष

मुख्यमंत्री इस्तीफा लें
नरोत्तम मिश्रा द्वारा राष्ट्रपति चुनाव में मतदान करने और सदन में बैठने के लिए लगाई गई याचिका को अदालत ने खारिज कर दिया है। मुख्यमंत्री को मिश्रा से इस्तीफा ले लेना चाहिए।
– राजेंद्र भारती,याचिकाकर्ता

दोस्तों के साथ शेयर करे.....