Home राज्य अति-पिछड़ों और किसान को रिझाएंगे मोदी-शाह

अति-पिछड़ों और किसान को रिझाएंगे मोदी-शाह

0 340 views
Rate this post

 लखनऊ

image-a-1यूपी में चुनावी साल को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी के कार्यक्रमों का सिलसिला शुरू हो गया है। दूसरी ओर, राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद अमित शाह ने भी यूपी पर फोकस बढ़ा दिया है। दोनों ही नेताओं के इस महीने यूपी में कार्यक्रम हैं। जहां मोदी बरेली में किसान रैली को संबोधित करेंगे, वहीं अमित शाह अति पिछड़ा वर्ग में पार्टी की पैठ मजबूत करने के लिए जयंती और आयोजनों का सहारा लेंगे।

पीएम नरेंद्र मोदी पिछले डेढ़ महीने में 2 बार यूपी आ चुके हैं। बीते साल के आखिरी दिन वह नोएडा में थे तो नए साल में 22 जनवरी को बनारस और लखनऊ में कार्यक्रमों का हिस्सा बने। इस दौरान उनकी कोशिश अंबेडकर से नजदीकी के बहाने दलित वोट साधने की रही। फिलहाल, 28 जनवरी को फिर पीएम मोदी का बरेली में कार्यक्रम प्रस्तावित है। यहां किसान रैली संबोधित करने की योजना है। वहीं, लखनऊ में शकुंतला मिश्रा विकलांग पुर्नवास विश्वविद्यालय के दीक्षांत में भी मोदी का कार्यक्रम प्रस्तावित है।

दूसरी ओर, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 8 फरवरी को एक मंदिर के कार्यक्रम के सिलसिले में मथुरा में होंगे। वहीं, 24 फरवरी को शाह बलरामपुर में पार्टी कार्यालय के उद्‌घाटन में रहेंगे और बहराइच में राजभर राजा सुहेलदेव की प्रतिमा के लोकार्पण कार्यक्रम में भी जाएंगे। बीजेपी को लोकसभा चुनाव में पासी-राजभर वोट लेने में सफलता मिली थी। दोनों ही अति पिछड़ी जातियां राजा सुहेलदेव पर अपना दावा करती हैं।

22 फरवरी को भी रैदास जयंती पर बनारस में बीजेपी का कार्यक्रम है, वहां भी शाह को न्योता भेजा गया है। दरअसल रैदास जयंती पर देश-विदेश से उनके अनुयायी बनारस में जुटते हैं, जिसमें काफी संख्या पंजाबियों की होती है। इसके जरिए बीजेपी की कोशिश एक साथ दोनों ही राज्यों को साधने की है।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....