Home ग्लैमर POCSO: बच्चों के रेपिस्ट्स को फांसी से खुश हुआ बॉलिवुड

POCSO: बच्चों के रेपिस्ट्स को फांसी से खुश हुआ बॉलिवुड

0 46 views
Rate this post

हाल ही में बच्चों से दुष्कर्म के कई मामले सामने आए और देशभर के लोगों ने इसपर अपना गुस्सा जाहिर किया और दोषियों को फांसी देने की मांग की। बॉलिवुड ने भी इन घटनाओं का कड़ा विरोध किया था। कुछ ने सोशल मीडिया पर तो कुछ स्टार्स ने सड़कों पर भी आकर विरोध प्रदर्शन किया था। शनिवार को सरकार ने POCSO ऐक्ट में संशोधन करके 12 साल तक के बच्चों से रेप के मामलों में दोषी को फांसी की सजा का प्रावधान कर दिया है। दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड फंक्शन के मौके पर कई स्टार्स ने अपनी प्रतिक्रिया दी। इस पर बॉलिवुड सिलेब्स ने अपनी खुशी जाहिर की है। जानें किस स्टार ने क्या कहा…

शाहिद कपूर को ‘पद्मावत’ के लिए दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड मिला। केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा, ‘इस तरह के भयानक अपराध में शामिल लोगों को कड़ी सजा देने की जरूरत है जिससे उनके दिमाग में एक संदेश बैठाया जा सके। ऐसे लोगों के सामने एक उदाहरण रखने की जरूरत है। मैं इस फैसले से काफी खुश हूं। इन्हें नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है क्योंकि ऐसे अपराध बार-बार सामने आ रहे हैं।’

शिल्पा शेट्टी ने भी फैसले पर खुशी जाहिर की। शिल्पा ने कहा, ‘मुझे लगता है कि यह एक अच्छा कदम है। ऐसे घिनौने अपराध करने वालों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। यह अपराध अपने आप में इतना क्रूर है।’अदिति ने रेपिस्ट्स की फांसी को सपॉर्ट करते हुए कहा, ‘मुझे बहुत खुशी है कि सरकार ने ऐसा कदम उठाया है। यह देश की हर लड़की और उसके पैरंट्स की जीत है। आज एक बड़ा दिन है।’

कृति सेनन के कहा, ‘मैं खुश हूं कि अब ऐसे लोगों को ऐसी कड़ी सजा मिल सकती है। आखिरकार यह हो गया। मैं जब भी ऐसा कोई मामला सुनती हूं तो मुझे बहुत गुस्सा आता है। लेकिन ऐसे मामलों के लिए हमारे पास फास्ट ट्रैक कोर्ट्स भी होने चाहिए जिससे विक्टिम्स को सही समय पर न्याय मिल सके।

तमन्ना भाटिया ने ऐसे अपराधों को घिनौना कहा और कहा कि संशोधित कानून से वह काफी खुश हैं। रेप एक ऐसा अपराध है जिसमें कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।ऐक्ट्रेस सिमी ग्रेवाल ने भी कहा, ‘यह काफी अच्छा कदम है। जब मैं ऐसे मामलों को सुनती हूं तो मुझे नींद नहीं आती है। हमारे देश में क्या हो रहा है? यह हमारा भारत है। सरकार को ऐसे दोषियों को न सिर्फ सजा देनी चाहिए उन्हें सार्वजनिक जगह पर सजा देनी चाहिए जिससे ऐसा करने वालों में डर पैदा हो सके।’

पूर्व ऐक्ट्रेस और डायरेक्टर-प्रड्यूसर दिव्या खोसला ने फैसले का समर्थन किया और कहा, ‘मुझे लगता है कि पैरंट्स को अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देनी चाहिए। सभी लोग प्रधानमंत्री को कोस रहे हैं। यह ठीक नहीं है। पैरंट्स को भी अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए। मुझे लगता है कि महिलाएं काफी स्ट्रन्ग होती हैं। लेकिन कुछ लोग महिलाओं को कमजोर समझते हैं। उम्मीद है कि यह कानून ऐसे लोगों को डराने में कामयाब होगा।’

दोस्तों के साथ शेयर करे.....