Home ग्लैमर SC ने खारिज की पद्मावती से आपत्तिजनक सीन हटाने की याचिका

SC ने खारिज की पद्मावती से आपत्तिजनक सीन हटाने की याचिका

0 46 views
Rate this post

नई दिल्ली

पद्मावती का विवाद सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है. इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की गई है, जिसमें ‘पद्मावती’ फिल्म से कुछ कथित आपत्तिजनक सीन हटाने की मांग की गई है. सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका को खारिज कर दिया.

चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस ए एम खानविलकर और जस्टिस धनन्जय वाई चन्द्रचूड की तीन सदस्यीय खंडपीठ को सूचित किया गया कि इस फिल्म को अभी तक केन्द्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड से प्रमाण पत्र नहीं मिला है. इस पर पीठ ने कहा, ‘इस याचिका में हमारे हस्तक्षेप का मतलब पहले ही राय बनाना होगा जो हम करने के पक्ष में नहीं है.’

यह याचिका वकील मनोहर लाल शर्मा ने दायर की थी. उन्होंने आरोप लगाया कि भले ही बोर्ड ने इस फिल्म को प्रमाण पत्र नहीं दिया है लेकिन इसके गीत पहले ही जारी किए जा चुके हैं.शर्मा ने रानी पद्मावती के चरित्र का कथित हनन करने वाले सारे दृश्यों को फिल्म की रिलीज से पहले हटाने का निर्देश देने की गुजारिश की है.

बता दें कि फिल्म को हर तरफ बढ़ रहे विरोध के बाद फिल्म मेकर्स ने इसकी रिलीज डेट टाल दी है. अब ये फिल्म 1 दिसंबर को रिलीज नहीं होगी. वहीं दूसरी तरफ फिल्म प्रमाणन बोर्ड से भी अभी तक फिल्म को मंजूरी नहीं मिली है. साथ ही वसुंधरा राजे, केशव प्रसाद मौर्य और शिवराज सिंह चौहान जैसे बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं ने भी फिल्म की रिलीज का विरोध किया है.

पद्मावती को सेंसर बोर्ड ने दिया दूसरा झटका
फिल्म पद्मावती के सर्टिफिकेशन की प्रक्रिया में तेजी लाने की फिल्म निर्माताओं की मांग को सेंसर बोर्ड ने खारिज कर दिया है। केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड का कहना है कि पद्मावती की तय नियमों और आवेदनों की क्रम संख्या के मुताबिक ही समीक्षा की जाएगी। रानी पद्मिनी पर आधारित संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती इन दिनों विवादों में घिरी हुई है। राजपूत करणी सेना समेत कई राजनीतिक दलों से जुड़े नेता फिल्म में पद्मिनी के कथित आपत्तिनजक चित्रण में बदलाव की मांग कर रहे हैं।

फिल्म के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे संगठनों का आरोप है कि इस मूवी में ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ की गई है। संगठनों का कहना है कि मूवी में सपने के एक दृश्य में अलाउद्दीन और पद्मावती को आपत्तिजनक स्थिति में दिखाया गया है। हालांकि फिल्म के निर्माता संजय लीला भंसाली लगातार इस बात को खारिज कर रहे हैं। बता दें कि पहले पद्मावती को 1 दिसंबर को रिलीज किया जाना था, लेकिन अब निर्माता खुद ही इस तारीख से पीछे हट चुके हैं।

इस बीच सेंसर बोर्ड ने पेपरवर्क अधूरा होने की बात कहते हुए फिल्म को वापस निर्माताओं को लौटा दिया है। ऐसे में सेंसर बोर्ड से फिल्म को मंजूरी मिलने में भी देरी हो रही है। पद्मावती के डिस्ट्रिब्यूटिंग प्रड्यूसर Viacom 18 ने कहा कि फिल्म को सेंसर बोर्ड से मंजूरी मिलने के बाद ही पेश किया जाएगा। प्रड्यूसर ने भरोसा जताया कि फिल्म को रिलीज के लिए सेंसर बोर्ड से जरूरी मंजूरी मिल जाएगी।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....