Home भोपाल/ म.प्र हत्या नहीं हुई तो मैं नर्मदा बचाने के लिए लड़ती रहूंगी :...

हत्या नहीं हुई तो मैं नर्मदा बचाने के लिए लड़ती रहूंगी : मेधा पाटकर

0 276 views
Rate this post

भोपाल

0,,1567‘अब तो जांच रिपोर्ट में भी साबित हो चुका है कि नर्मदा किनारे कितने बड़े पैमाने पर अवैध उत्खनन चल रहा है। सरपंच से लेकर विधायक तक के लोग इसमें लगे हैं। अब तो सख्त आदेश दें ताकि अवैध उत्खनन पर रोक लग सके। जो लोग चोरी कर रहे हैं, उन पर क्रिमिनल केस दायर होना चाहिए, तभी इस पर रोक लगा पाएगी। यदि मेरी हत्या नहीं हुई तो मैं नर्मदा बचाने के लिए लड़ती रहूंगी।

यह बात नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर ने सोमवार को नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के समक्ष कही। एनजीटी में बुधवार को नर्मदा किनारे रेत के अवैध उत्खनन के मामले की सुनवाई हुई। ज्यूडिशियल मेंबर दलीप सिंह ने कहा कि आप ऐसे ही तथ्य हमारे सामने लाते रहिए हम दिशा निर्देश देते रहेंगे। दरसअल, बुधवार को एनजीटी द्वारा अधिकृत किए गए कमिश्नर वकील अजय गुप्ता और धर्मवीर शर्मा ने जांच रिपोर्ट सौंपी। रिपोर्ट में फोटोग्राफ्स के माध्यम से बताया गया कि सिया और पीसीबी के अनुमति के बगैर ही नदी के किनारे अवैध उत्खनन चल रहा है। चेक पोस्ट भी नहीं लगाए गए हैं।

जहां अनुमति मिली है उससे अधिक जगह पर खुदाई की गई है। खनिज अधिकारी जगह नहीं बता पा रहे हैं। अधिवक्ता शर्मा ने बताया कि जब लोगों को निरीक्षण की जानकारी मिली तो उन्होंने रास्ता रोकने के लिए सड़क पर झाड़ियां काटकर फेंक दी। निरीक्षण के दौरान कई जोखिम उठाने के बाद निरीक्षण का काम पूरा हो पाया। रिपोर्ट में उन लोगों के नाम भी दिए जिन पर याचिकाकर्ता ने आरोप लगाए थे।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....