Monday , July 6 2020
Home / Featured / बुरी तरह प्रभावित देशों में भारत की कोरोना वृद्धि दर सबसे ज्यादा

बुरी तरह प्रभावित देशों में भारत की कोरोना वृद्धि दर सबसे ज्यादा

नई दिल्ली,

जून महीने में भारत ने लॉकडाउन प्रतिबंधों में ढील दी और इसी महीने भारत की कोविड-19 की वृद्धि दर दुनिया में प्रभावित देशों में सबसे ज्यादा हो गई है. “अवर वर्ल्ड इन डाटा” पर उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, भारत में जून में 3.85 फीसदी की वृद्धि दर दर्ज की गई, जबकि वैश्विक औसत 1.8 फीसदी है. इसका मतलब है कि भारत में कोरोना वायरस के केस दुनिया के बाकी हिस्सों की तुलना में दोगुनी गति से बढ़ रहे हैं.इंडिया टुडे की डाटा इंटेलीजेंस यूनिट (DIU) ने 1 जून से 28 जून के बीच दुनिया के 10 सबसे प्रभावित देशों में कोविड-19 केसों की वृद्धि दर का विश्लेषण किया. हमने पाया कि वैश्विक स्तर पर भारत में कोविड-19 केसों की वृद्धि दर सबसे ज्यादा है.

भारत के बाद ब्राजील दुनिया में दूसरा सबसे अधिक वृद्धि दर वाला देश बन गया है, जहां पर केसों की संख्या भी सबसे अधिक है. लैटिन अमेरिकी देश ब्राजील में 3.5 फीसदी की वृद्धि दर देखी गई, उसके बाद रूस (1.6 फीसदी), संयुक्त राज्य अमेरिका (1.3 फीसदी) और यूनाइटेड किंगडम (0.5 फीसदी) का स्थान है.

ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि महीने की शुरुआत में भारत में केसों की संख्या कम थी. एक जून को भारत में 1.9 लाख केस थे. लेकिन 28 जून तक भारत में कोरोना केस तेजी से बढ़े और कुल संख्या 5.28 लाख पहुंच गई. सोमवार को भारत में 19,459 नये केस दर्ज हुए. अगर इस बढ़ोतरी को जोड़ा जाए तो वृद्धि दर 3.9 हो जाती है, लेकिन कुल संख्या 5.48 लाख है.

संयुक्त राज्य अमेरिका में जून में 7.2 लाख और ब्राजील में 7.9 लाख नए मामले दर्ज किए गए जो कि भारत की तुलना में दोगुने से अधिक हैं. लेकिन चूंकि उनके पास पहले से ही ज्यादा केस थे, 1 जून तक केसों की संख्या काफी अधिक थी, इसलिए उनके औसत में परिवर्तन कम हो जाता है.एक जून को अमेरिका में 17 लाख और ब्राजील में 5.14 लाख केस थे. 28 जून को अमेरिका में 25 लाख और ब्राजील में करीब 13 लाख केस हो गए. जून महीने में रूस में 2.2 लाख और ब्रिटेन में 35,488 नए मामले दर्ज किए गए.

ज्यादा वृद्धि दर वाले देश
28 जून तक एक लाख से ज्यादा केस वाले 19 देशों के आंकड़े देखें तो दक्षिण अफ्रीका में कोरोना की वृद्धि दर सबसे ​अधिक 5.2 प्रतिशत है. एक जून तक दक्षिण अफ्रीका में मुश्किल से 32,000 मामले थे, जो 28 जून को बढ़कर 1.32 लाख हो गए.दक्षिण अफ्रीका के बाद बांग्लादेश और पाकिस्तान हैं, जहां वृद्धि दर क्रमशः 3.94 फीसदी और 3.89 फीसदी रही. इसके बाद 3.85 फीसदी वृद्धि दर के साथ भारत का स्थान है.

हालांकि, अगर हम पिछले एक सप्ताह की वृद्धि दर देखें तो स्थिति बदल जाती है. पिछले एक हफ्ते के आंकड़े बताते हैं कि दक्षिण अफ्रीका में वृद्धि दर 5.2 फीसदी दर्ज की गई, उसके बाद भारत (3.7 फीसदी) और ब्राजील (3.2 फीसदी) का स्थान है.इस दौरान बांग्लादेश में वृद्धि दर 3 फीसदी दर्ज की गई. पाकिस्तान की वृद्धि दर घटकर 1.9 फीसदी पर आ गई, फिर भी यह वैश्विक औसत 1.8 से ऊपर है.

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

केरल: कोरोना पर नया आदेश, 1 साल तक लागू रहेंगे प्रतिबंध, मास्क अनिवार्य

तिरुवनंतपुरम कोरोना वायरसके बढ़ते संक्रमण के बीच केरल सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। सरकार …

53 visitors online now
18 guests, 35 bots, 0 members
Max visitors today: 68 at 07:13 am
This month: 112 at 07-03-2020 08:06 pm
This year: 687 at 03-21-2020 02:57 pm
All time: 687 at 03-21-2020 02:57 pm