Monday , July 6 2020
Home / राष्ट्रीय / जिसके लिए चीन पर थे निर्भर, अब उसका भारत करेगा निर्यात

जिसके लिए चीन पर थे निर्भर, अब उसका भारत करेगा निर्यात

कोरोना संकट की वजह से स्थितियों ने ऐसी करवट ली है कि भारत को अपनी ताकत का अहसास हो गया है. दरअसल जिन चीजों से लिए भारत हमेशा पूरी तरह से चीन समेत दूसरे देशों पर निर्भर था. आज उसी फील्ड में भारत ने अपना सिक्का जमा दिया है. अब भारत दुनियाभर में सप्लाई के लिए तैयार है और सरकार ने भी हरी झंडी दिखा दी है.

दरअसल कोरोना वायरस के फैलने से पहले भारत पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट (PPE) किट की सप्लाई के लिए विदेशों की तरफ देख रहा था. क्योंकि भारत में मार्च से पहले क्लास-3 लेवल पीपीई किट नहीं बनती थीं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘आत्मनिर्भर भारत’ के संकल्प को सबसे पहले इस इंडस्ट्री ने साकार कर दिया है.

पीएम मोदी के आह्वान पर देश की बहुत सारी कंपनियों ने पीपीई किट बनानी शुरू कर दीं. दो महीने से कम वक्त में ही भारत ने पीपीई किट बनाने में दूसरा स्थान हासिल कर लिया. और अब भारत WHO स्टैंडर्ड की पीपीई किट एक्सपोर्ट करेगा.

पीपीई किट के मामले में उद्योग जगत ने भारतीयों का हौसला बढ़ा दिया है. दरअसल, अभी तक पीपीई किट निर्यात करने पर सरकार ने प्रतिबंध लगाया हुआ था, लेकिन अधिक उत्पादन को देखते हुए सरकार ने हर महीने 50 लाख पीपीई किट के निर्यात की मंजूरी दे दी है. यानी अब हर महीने 50 लाख PPE किट भारत से दूसरे देश भेजी जाएंगी. रेल एवं वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर कहा कि मेक इन इंडिया के तहत निर्यात को बढ़ावा देते हुए कोरोना से बचाव की पीपीई किट के 50 लाख यूनिट हर महीने निर्यात करने को मंजूरी दे दी गई है.

4 महीने में सपना साकार
कोरोना वायरस ने पीपीई किट के मामले में भारत को आत्मनिर्भर बना दिया है. फरवरी-2020 से पहले भारत में स्टैंडर्ड PPE किट नहीं बनती थीं. इस बीच जब दुनिया में कोरोना वायरस का कहर बढ़ने लगा तो भारत भी इससे मुकाबले की तैयारी में जुट गया था और फरवरी में विदेशों से 52,000 किट मंगवाई गई थीं. लेकिन जिस तेजी से कोरोना के मामले सामने आए, ये विदेशी PPE किट कम पड़ गईं.

जानकारी के लिए बता दें अमेरिका, चीन और यूरोपीय देशों में बड़े पैमाने पर PPE किट तैयार की जाती हैं और भारत यहीं से आयात करता था. लेकिन अब भारत में ही अंतराराष्ट्रीय मानक के PPE किट बनाए जा रहे हैं और अब बड़े पैमाने पर निर्यात भी किया जाएगा.भारत में फिलहाल WHO के स्टैंडर्ड के मुताबिक 106 मैन्युफैक्चर PPE किट बनाने के काम में जुटे हैं. और ये सबकुछ फरवरी के बाद हुआ है. मार्च के आखिरी हफ्ते में WHO से भारत को PPE किट बनाने की हरी झंडी मिली थी.
गौरतलब है कि अभी तक पीपीई किट के निर्यात पर पूरी तरह से रोक थी, लेकिन अब इसे निर्यात की प्रतिबंधित सूची से हटा दिया गया है. पीपीई किट कोविड- 19 संक्रमित लोगों के इलाज में लगे चिकित्सा कर्मियों द्वारा पहनी जाती है ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके.

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

1984 सिख विरोधी दंगे के दोषी की कोरोना से जेल में मौत

नई दिल्ली 1984 के सिख विरोधी दंगों के दोषी और पूर्व विधायक महेंद्र यादव की …

68 visitors online now
31 guests, 37 bots, 0 members
Max visitors today: 91 at 08:10 am
This month: 112 at 07-03-2020 08:06 pm
This year: 687 at 03-21-2020 02:57 pm
All time: 687 at 03-21-2020 02:57 pm