Tuesday , August 11 2020
Home / Featured / सिब्बल ने PM मोदी से कहा- चीन से आंख में आंख डालकर बोलिए

सिब्बल ने PM मोदी से कहा- चीन से आंख में आंख डालकर बोलिए

नई दिल्ली,

कांग्रेस ने पीएम नरेंद्र मोदी के लद्दाख दौरे को लेकर हमला किया है. कांग्रेस ने कहा है कि चीन से लगी सीमा पर स्थिति गंभीर है. कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने पीएम मोदी पर तंज भरे अंदाज में हमला किया. कपिल सिब्बल ने कहा कि 2014 तक नरेंद्र मोदी कहते थे कि अगर वो सत्ता में आए तो चीन से लाल आंखें दिखाकर बातें करेंगे.पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी सुहाने सफर और हंसीं मौसम के सपने दिखाते गए. लेकिन अब न तो सुहाना सफर है और न ही मौसम हंसीं है. और 2020 पहुंचते पहुंचते हमें डर है कि हम खो न जाएं कहीं.

पीएम मोदी और बीजेपी को पुरानी बातें याद दिलाते हुए उन्होंने कहा कि यूपीए शासन के दौरान जब चीन ने लद्दाख में कब्जे की कोशिश की तो मोदी कहते थे कि हम उन्हें लाल आंख दिखाएं. उन्होंने कहा कि सरहद पर स्थिति बहुत गंभीर है. कपिल सिब्बल ने द गार्जियन अखबार में छपी दो तस्वीरों का हवाला देते हुए दावा किया कि लद्दाख में चीन ने LAC के पार भारत के हिस्से में कब्जा कर रखा है. कपिल सिब्बल के मुताबिक ये तस्वीर पैंगोंग झील इलाके की है.

इसके लिए उन्होंने अखबार में 22 मई और 23 जून की दो तस्वीरों को दिखाया. सिब्बल ने दावा किया कि 22 मई की तस्वीर में चीन की मौजूदगी के कोई निशान नहीं हैं, जबकि 23 जून की तस्वीर में साफ दिखता है कि चीन ने वहां निर्माण किया है. कपिल सिब्बल ने सवाल पूछा कि पीएम मोदी ये बताएं कि क्या चीन ने पैंगोंग झील एरिया में फिंगर-4 तक कब्जा कर लिया है.

क्या फिंगर-4 तक चीन हमारी जमीन पर कब्जा कर लिया है
कपिल सिब्बल ने तस्वीरें दिखा कर पूछा कि क्या वास्तविक और ताजा चित्र पैंगोंग झील के पास फिंगर 4 रिज तक हमारी सरजमीं पर चीनी कब्जे की सच्चाई बयां नहीं करते? क्या यह भारत का ही भूभाग नहीं है जिस पर चीनियों द्वारा अतिक्रमण कर राडार, हैलीपैड और दूसरी संरचनाएं खड़ी कर दी गई हैं?

क्या गलवान पर भी चीन का कब्जा है
सिब्बल ने पूछा कि क्या चीनियों ने गलवान घाटी समेत ‘पेट्रोल प्वाइंट-14’, जहां 16 बिहार रेजिमेंट के 20 जवानों ने सर्वोच्च बलिदान दिया, पर कब्जा कर लिया है? क्या चीनियों ने भारतीय सीमा के अंदर ‘हॉट स्प्रिंग्स’ इलाके को भी कब्जे में ले लिया है?अगले सवाल में कांग्रेस नेता ने कहा कि क्या चीन ने डेपसांग में ‘वाई-जंक्शन’(एलएसी के 18 किलोमीटर अंदर) तक हमारी जमीन पर कब्जा कर भारत की सामरिक महत्व की डी.बी.ओ. हवाई अड्डे के पास खतरा उत्पन्न कर दिया है.

क्या शास्त्री और इंदिरा फॉरवर्ड लोकेशन पर नहीं गए थे
क्या भारत के पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री हमारे सैनिकों का मनोबल बढ़ाने के लिए फॉरवर्ड लोकेशंस में नहीं गए थे? क्या पंडित जवाहर लाल नेहरु 1962 में एनईएफए (NEFA) में फॉरवर्ड लोकेशंस में हमारे सैनिकों का मनोबल बढ़ाने नहीं गए थे? लेकिन ऐसा लगता है कि हमारे मौजूदा प्रधानमंत्री 230 किलोमीटर दूर ‘नीमू, लेह’ में ही रुके रहे.

क्या यह सही नहीं कि लद्दाख में हमारे स्थानीय काउंसलर्स, जिनमें भाजपा के काउंसलर भी शामिल हैं, उन्होंने चीन द्वारा हमारी जमीन पर कब्जा करने के बारे में फरवरी, 2020 में प्रधानमंत्री मोदी को मेमोरेंडम भेजा था? प्रधानमंत्री ने उस पर क्या कार्रवाई की? अगर प्रधानमंत्री ने समय रहते कदम उठाया होता, तो क्या हम चीनियों के अतिक्रमण को पहले ही नहीं रोक देते?

राजधर्म का पालन करें पीएम मोदी
कपिल सिब्बल ने कहा कि समय की मांग है कि भारत चीन की आंखों में आंखें डालकर स्पष्ट रूप से बता दे कि चीनियों को भारतीय सरजमीं पर अपने अवैध और दुस्साहसपूर्ण कब्जे को छोड़ना होगा. प्रधानमंत्री जी, यही एकमात्र राज धर्म है, जिसका पालन आपको हर कीमत पर करना चाहिए.

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

राहुल गांधी ने सचिन पायलट से कहा- अशोक गहलोत ही कांग्रेस नहीं

नई दिल्ली, राजस्थान की सियासी रार अब सुलझती नजर आ रही है. सचिन पायलट के …

58 visitors online now
22 guests, 36 bots, 0 members
Max visitors today: 79 at 07:31 am
This month: 242 at 08-01-2020 10:14 am
This year: 687 at 03-21-2020 02:57 pm
All time: 687 at 03-21-2020 02:57 pm