Tuesday , August 4 2020
Home / भेल मिर्च मसाला / मामला कारखाने में ब्रेजिंग अलाय का

मामला कारखाने में ब्रेजिंग अलाय का

भोपाल

भेल कारखाने के ट्रेक् शन मोटर विभाग में लाखों की ब्रेजिंग अलाय चोरी होने की चर्चाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। रात 1 बजे अज्ञात चोर का घुसना और सवा क्विंटल से ज्यादा ब्रेजिंग अलाय को उसी स्टोर के पीछे छिपा देना किसी के गले नहीं उतर रहा। भेल के मुखिया ने यदि इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया होता तो संभवत: यह सामान भी कारखाने के गेट से बाहर निकल जाता। ऐसी चर्चा है कि मुखिया ने संबंधित जांच एजेंसियों को सख्त निर्देश दिये थे कि हर हाल में चोर और सामान को जल्द से जल्द पकड़ा जाये। इसी का परिणाम है कि सीआईएसएफ की विजिलेंस ने ताबड़तोड़ कार्यवाही करते हुए सामान की जप्ती तो कर ली लेकिन आरोपी को पकडऩे में सफलता हासिल नहीं हुई। हां यह जरूर है कि लोग यह चर्चा करते नहीं चूक रहे हैं कि सीआईएसएफ का बल रहते हुए जिस कारखाने में परिंदा भी पर नहीं मार सकता उसमें इतनी बड़ी मात्रा में सामान का चोरी होना और चोर का न पकड़ा जाना कैसे संभव हो सकता है। मामला सीआईएसएफ के रहते भेल कारखाने की सुरक्षा पर सवालिया निशान लग गया है।

खा गये रोटी पी गये तेल

एक समय ऐसा था कि विपक्ष कांग्रेस सरकार के खिलाफ कांग्रेस के बूढ़े खा गये रोटी पी गये तेल का नारा बुलंद किये हुए थे और आज कोविड-19 के चलते भाजपा सरकार के रहते शासकीय राशन की दुकानों पर लोग इस नारे को बुलंद किये हुए हैं। सरकार ने गरीबों को कोविड-19 के चलते मुफ्त अनाज देने की घोषणा जरूर कर दी लेकिन गरीबों पीडीएस मशीन के कारण राशन ही मुहैया नहीं हो पा रहा है। दुकानों पर राशन कब आया और कब बंटा इसकी खबर गरीबों को लग ही नहीं पाती है। जब तक पता लगता है दुकानदार राशन खत्म होने की बात कहकर फिर से राशन आने की बात करने लगते हैं। गरीब लुटा पिटा बैठा है और दुकानदार संक्रमण के समय भी कालाबाजारी करने से बाज नहीं आ रहा है। मामला गोविंदपुरा विस क्षेत्र के पिपलानी का बताया जा रहा है। गरीब लुट रहा है और दुकानदार हो रहा है मालामाल। यह दुकानदार देश के पीएम के सपनों को भी पूरा करने में परेशानी पैदा करने से बाज नहीं आ रहे हैं।

भेल में शर्मा के जाने से कांग्रेस को नुकसान

गोविंदपुरा विधान सभा क्षेत्र के युवा व प्रखर नेता गिरीश शर्मा के भाजपा में शामिल होने से कांग्रेस को काफी नुकसान उठाना पड़ेगा। दरअसल पिछले विधान सभा चुनाव में श्री शर्मा को कांग्रेस ने प्रत्याशी बनाया था उन्होंने गौर के गढ़ में सेंध लगाकर हार का अंतर काफी कम कर दिया था। वह कांग्रेस से दो बार पार्षद भी रहे हैं। सिंधिया समर्थक होने के कारण आनन-फानन में उन्होंने भाजपा ज्वाइन कर लिया। यह जरूर है कि इससे उनके समर्थकों को काफी दु:ख पहुंचा है लेकिन उनके विरोधियों में खुशी की लहर है। चर्चा है कि पिछले विस में टिकट के प्रबल दावेदार कांग्रेस से टिकट लेने में मुंह की जरूर खा गये लेकिन इस बार इनकी बांछे खिली हुई है। कुछ नेताओं ने तो श्री शर्मा के भाजपा में जाने की खुशी में जाम तक टकरा दिये। अब इनमें से अगले विस चुनाव में टिकट के लिए कौन बाजी मारेगा या फिर कोई बाहरी व्यक्ति अपना जलवा दिखाएगा यह अलग बात है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

भेल कार्पोरेट में होंगे दो डायरेक्टर रिटायर

भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड भेल कार्पोरेट के डायरेक्टर द्वय एस बालाकृष्णन आईएस एण्ड पी और …

105 visitors online now
36 guests, 68 bots, 1 members
Max visitors today: 134 at 05:31 pm
This month: 242 at 08-01-2020 10:14 am
This year: 687 at 03-21-2020 02:57 pm
All time: 687 at 03-21-2020 02:57 pm