Tuesday , August 4 2020
Home / कॉर्पोरेट / रेलवे ने सोशल डिस्टेंसिंग के लिए बनाया क्रिएटिव डिवाइस

रेलवे ने सोशल डिस्टेंसिंग के लिए बनाया क्रिएटिव डिवाइस

नई दिल्ली

रेलवे ने काम की जगह पर सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए एक क्रिएटिव डिवाइस बनाया है। इस डिवाइस के जरिए कोरोना वायरस से लड़ने में मदद मिलेगी और उसे फैलने से रोका जा सकता है। ये डिवाइस दरअसल एक अलार्म सिस्टम है, जिसे रेलवे कर्मचारियों ने इजात किया है। इस डिवाइस की खास बात ये है कि अगर दो डिवाइस एक दूसरे से 3 मीटर दूरी से कम के दायरे में चले आते हैं तो अलार्म बजने लगता है और ये पता चल जाता है कि सोशल डिस्टेंसिंग बनानी है।

सोशल डिस्टेंसिंग के लिए अलार्म डिवाइस
यह डिवाइस रेलवे कर्मचारियों की जेब में रखकर इसका एक डेमो पेश किया गया। जैसे ही दो कर्मचारी 3 मीटर दूरी से कम के दायरे में पहुंच रहे थे, अलार्म बजने लगता। अलार्म बजते ही ये समझ आ जाता है कि नजदीकी बढ़ गई है और दूर जाने की जरूरत है। काम करने की जगह जैसे ऑफिस, फैक्ट्री आदि में ये डिवाइस बड़े काम की चीज साबित हो सकता है।
रेलवे ने खुद ट्वीट कर के दिखाया डेमो

इससे पहले आ चुका है कैप्टन अर्जुन
ऐसा नहीं है कि पहली बार रेलवे ने कोई क्रिएटिव डिवाइस बनाया है। इससे पहले रेलवे ने एक रोबोट कैप्टन अर्जुन पेश किया था, जो यात्रियों की स्क्रीनिंग करता था। इस रोबोट में कैमरा लगा होता है, जिससे वह थर्मल स्क्रीनिंग करता है और अगर किसी का तापमान अधिक होता है तो तुरंत सजग भी कर देता है। यहां तक कि सेंसर की मदद से सैनिटाइजर और मास्क भी डिस्पेंस कर सकता है।

ऑटोमेटिक लाइटिंग सिस्टम भी ना भूलें
बिजली बचाने को लेकर तमाम बातें कही जाती हैं और तमाम तरह के अभियान भी चलाए जाते हैं। इसी बीच पश्चिम मध्य रेलवे ने बिजली बचाने के लिए जो तकनीक अपनाई है, उसने सबका मन मोह लिया है। मध्य प्रदेश के जबलपुर रेलवे स्टेशन पर प्लेटफॉर्म पर कुछ इस तरह से व्यवस्था की गई है कि जैसे ही ट्रेन प्लेटफॉर्म पर आती है, वहां पर लाइटें जल जाती हैं और जैसे ही ट्रेन प्लेटफॉर्म से निकलती है, वहां की लाइटें बंद हो जाती हैं। रेलवे स्टेशन पर अमूमन 30 फीसदी लाइटें जलती रहती हैं। जैसे ही ट्रेन आती है तो सारी यानी 100 फीसदी लाइटें जल उठती हैं और जैसे ही ट्रेन स्टेशन से निकलती है वैसे ही 70 फीसदी लाइटें बंद हो जाती हैं। हर वक्त स्टेशन पर सिर्फ 30 फीसदी लाइटें ही जलती हैं। अब तक रेलवे स्टेशन पर सारी लाइटें चलती रहती थीं, लेकिन अब इस नई व्यवस्था से काफी लाइट बच रही है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

बंधन बैंक की होल्डिंग कंपनी ने बेची अतिरिक्त हिस्सेदारी

नई दिल्ली निजी क्षेत्र के बंधन बैंक (Bandhan Bank) ने आज कहा कि उसकी होल्डिंग …

126 visitors online now
52 guests, 73 bots, 1 members
Max visitors today: 134 at 05:31 pm
This month: 242 at 08-01-2020 10:14 am
This year: 687 at 03-21-2020 02:57 pm
All time: 687 at 03-21-2020 02:57 pm