Monday , August 3 2020
Home / कॉर्पोरेट / PM मोदी बोले- आर्थिक सुधार के अच्छे संकेत, इन सेक्टर में निवेश के मौके

PM मोदी बोले- आर्थिक सुधार के अच्छे संकेत, इन सेक्टर में निवेश के मौके

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार कहा कि भारत एक तरफ जहां कोरोना जैसी वैश्विक महामारी का मजबूती से मुकाबला कर रहा है, वहीं लोगों के स्वास्थ्य के साथ-साथ अर्थव्यवस्था की सेहत पर भी अपना ध्यान केंद्रित किए हुए है. ‘इंडिया ग्‍लोबल वीक 2020’ के उद्घाटन के मौके पर मोदी ने यह भी कहा कि भारत आज भी दुनिया की सबसे खुली अर्थव्यवस्थाओं में से एक है और बहुत कम देश ऐसे हैं जो भारत जितने अवसर प्रदान करते हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि भारतीय स्वाभाविक रूप से सुधारक होते हैं और इतिहास बताता है कि जब भी कोई चुनौती सामने आई, चाहे वह सामाजिक हो या आर्थिक, भारत ने उस पर जीत हासिल की.कोरोना संक्रमण काल के दौरान अर्थव्यस्था को पटरी पर लाने के लिए उठाए गए सरकार के कदमों की विस्तृत जानकारी देते हुए मोदी ने वैश्विक समुदाय से भारत में निवेश करने की भी अपील की.

उन्होंने कहा कि भारत आज भी विश्व की सबसे खुली अर्थव्यवस्थाओं में एक है. हम विश्व की सभी कंपनियों के लिए रेड कार्पेट बिछा रहे हैं ताकि वे भारत में अपनी उपस्थिति दर्ज कराएं. बहुत कम देश ऐसे अवसर प्रदान करते हैं, जो भारत आज प्रदान कर रहा है. भारत दुनिया की सबसे अधिक खुली अर्थव्यवस्थाओं में एक बना हुआ है. पीएम मोदी ने कहा कि भारत में कई नए क्षेत्रों में असीमति संभावनाएं और अवसर हैं. कृषि क्षेत्र में हमारे सुधारों के कारण भंडारण और लॉजिस्टिक्स में निवेश के बेहद आकर्षक अवसर हैं.

हमने MSME सेक्टर में सुधार किए हैं. MSME सेक्टर भी एक बड़ी इंडस्ट्री होगी. डिफेंस सेक्टर में निवेश के अवसर हैं. अब स्पेस सेक्टर में निजी निवेश के अधिक अवसर हैं. इसका मतलब ये हुआ कि लोगों के लाभ के लिए स्पेस टेक्नालॉजी के कमर्शियल उपयोग के लिए पहुंच बढ़ेगी.

महामारी ने एक बार फिर दिखाया है कि भारत की दवा इंडस्ट्री सिर्फ भारत के लिए ही संपदा नहीं है, बल्कि पूरी दुनिया के लिए भी है. विकासशील देशों के लिए भारत ने दवाईयों की लागत कम करने में अहम भूमिका निभाई है. मुझे यकीन है कि भारत दवाई बनाने में और बन जाने के बाद उसका उत्पादन बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा. उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत का मतलब यह नहीं है कि विश्व के लिए दरवाजे बंद हो गए. इसका मतलब है कि घरेलू उत्पादों और वैश्विक सप्लाई चैन का मिश्रण.

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

चीन से आयात पर और सख्ती की तैयारी, 20 सेक्टर पर असर

नई दिल्ली, सीमा पर तनाव के बाद से ही सरकार चीन से आयात पर लगातार …

143 visitors online now
31 guests, 112 bots, 0 members
Max visitors today: 240 at 12:48 pm
This month: 242 at 08-01-2020 10:14 am
This year: 687 at 03-21-2020 02:57 pm
All time: 687 at 03-21-2020 02:57 pm