Saturday , August 8 2020
Home / Featured / विरोधी अमर सिंह कैसे बने मोदी के मुरीद, PM ने याद की दोस्ती

विरोधी अमर सिंह कैसे बने मोदी के मुरीद, PM ने याद की दोस्ती

नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा सांसद अमर सिंहके निधन पर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि सिंह एक ऊर्जावान पब्लिक फिगर थे और वह अलग-अलग क्षेत्र के लोगों से अपनी दोस्ती के लिए जाने जाते थे। अमर सिंह का शनिवार को 64 साल की उम्र में सिंगापुर में निधन हो गया। वह काफी लंबे समय से बीमार थे।

पीएम मोदी ने यूं दी अमर सिंह को श्रद्धांजलि
अमर सिंह के निधन पर प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ‘अमर सिंह एक ऊर्जावान हस्ती थे। पिछले कुछ दशकों में उन्होंने कुछ बहुत ही अहम राजनीतिक घटनाक्रमों का हिस्सा और गवाह रहे। वह जीवन के विभिन्न क्षेत्रों के लोगों के साथ अपनी दोस्ती के लिए जाने जाते थे। उनके निधन से दुखी हूं। उनके दोस्तों और परिवार के प्रति संवेदना। ओम शांति।’

जब अमर सिंह ने बीजेपी को दी थी करारी चोट
आखिर के कुछ सालों को छोड़ दें तो अमर सिंह की गिनती बीजेपी और नीतियों के कट्टर विरोधी के तौर पर होती थी। 2002 में जब बीजेपी के समर्थन से चल रही यूपी की तत्कालीन मायावती सरकार ने कुंडा के बाहुबली विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया के खिलाफ पोटा लगाया, उनके पिता उदय प्रताप सिंह और भाई अक्षय प्रताप सिंह पर भी कानूनी शिकंजा कसा तब अमर सिंह ने इसे बीजेपी के खिलाफ हथियार के तौर पर इस्तेमाल किया। इसका नतीजा यह हुआ कि कभी बीजेपी का समर्थक माने जाने वाले राजपूत समुदाय का झुकाव समाजवादी पार्टी की तरफ होने लगा। वहीं अमर सिंह 14 साल बाद उसी बीजेपी के समर्थन से राज्यसभा में पहुंचे।

एक समय तो उनके बीजेपी में जाने की लगने लगी थीं अटकलें
सियासत में हाशिये पर पहुंचने के बाद अमर सिंह मुलायम सिंह परिवार और खासकर अखिलेश यादव को लेकर काफी हमलावर रहे। धीरे-धीरे वह बीजेपी के करीब पहुंचने लगे। 2018 में तो ऐसी अटकलें लगने लगी थीं कि वह बीजेपी का दामन थामने वाले हैं। अमर सिंह खुद बीजेपी में जाने के लिए तैयार थे लेकिन बात नहीं बन सकी।

बीजेपी से ‘दुश्मनी’ से मोदी के मुरीद तक
कभी बीजेपी के कट्टर विरोधी रहे अमर सिंह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुरीद थे। उन्होंने मोदी सरकार के नोटबंदी से लेकर तमाम फैसलों का समर्थन किया। यहां तक कि पिछले आम चुनाव के दौरान जब राफेल डील को लेकर राहुल गांधी पीएम मोदी पर तीखे हमले कर रहे थे तब उन्होंने प्रधानमंत्री का खुलकर बचाव किया। राहुल गांधी के ‘चौकीदार चोर है’ नारे के जवाब में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल में चौकीदार शब्द जोड़ा तो अमर सिंह ने भी अपने ट्विटर हैंडल का नाम चौकीदार अमर सिंह कर दिया था।

नोटबंदी से लेकर लॉकडाउन तक…अमर सिंह ने की मोदी सरकार की तारीफ
अमर सिंह के ट्विटर हैंडल पर जाने पर पीएम मोदी की तारीफों का पुलिंदा दिखेगा। कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में उन्होंने पीएम मोदी के नेतृत्व की जमकर तारीफ की। पिछले साल जब मध्य प्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार गिरी थी तब इसका आरोप बीजेपी पर लगा था। तब अमर सिंह ने कांग्रेस को नसीहत देते हुए बीजेपी के बचाव में ट्वीट किया था।

90 के दशक से 2010 तक सियासी गलियारों में बोलती थी अमर सिंह की तूती
90 के दशक से लेकर 2010 तक अमर सिंह को सत्ता के गलियारों में अपनी मजबूत पकड़ के लिए जाना जाता था। हर राजनीतिक दलों में उनके दोस्त थे। एक समय सियासत से लेकर बॉलिवुड और उद्योग जगत की हस्तियों के बीच भी उनकी तूती बोलती थी। मनमोहन सिंह की अगुआई वाली केंद्र की यूपीए-1 सरकार के लिए तो वह संकटमोचक रहे थे। 2008 में अमेरिका के साथ न्यूक्लियर डील के मुद्दे पर लेफ्ट ने यूपीए-1 सरकार से समर्थन वापस ले लिया था, तब अमर सिंह ने ही समाजवादी पार्टी का समर्थन सुनिश्चित कर सरकार गिरने से बचाया था। समाजवादी पार्टी में उनका रुतबा कभी मुलायम सिंह के बाद दूसरे नंबर के नेता का था तो एक वक्त ऐसा भी आया कि 2010 में उन्हें प

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

मोदी ने जताया दुख, केरल CM को किया फोन

नई दिल्ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल के कोझिकोड में हुए विमान हादसे को लेकर …

54 visitors online now
11 guests, 43 bots, 0 members
Max visitors today: 74 at 12:08 am
This month: 242 at 08-01-2020 10:14 am
This year: 687 at 03-21-2020 02:57 pm
All time: 687 at 03-21-2020 02:57 pm