Saturday , October 31 2020

इंस्टाग्राम पर मैसेज – बाहर नहीं आओगी तोे मम्मी-पापा को मार देंगे; 8वीं की छात्रा को अगवा कर ज्यादती

भोपाल.

आठवीं की छात्रा से ज्यादती करने वाले आरोपियों ने इंस्टाग्राम पर मैसेज कर रात 3 बजे घर से बाहर बुलाया था। मैसेज में लिखा था कि तुम बाहर नहीं आई, तो तुम्हारे मम्मी-पापा को जान से मार देंगे। इसके बाद तीन आरोपियों ने उसे कार में अगवा कर लिया और घुमाते रहे।

इसके बाद सुनसान सड़क पर कार रोककर उसके साथ एक आरोपी ने ज्यादती की। आरोपियों में बाड़ी के कुटनासिर के सरपंच का बेटा भी शामिल है। सामाजिक संगठन ने हबीबगंज पुलिस पर आरोप लगाया कि कुटनासिर गांव का होने के कारण पुलिस ने उसे ज्यादती का आरोपी नहीं बनाया है। वहीं पुलिस की दलील है कि छात्रा के बयान पर ही केस दर्ज किया गया है। उसने केवल एक ही युवक पर ज्यादती का आरोप लगाया है, जबकि बाकी दोनों अपहरण में शामिल थे।

मैं मदद के लिए चीखी-चिल्लाई, लेकिन किसी ने नहीं सुनी मेरी आवाज
27-28 अगस्त की दरमियानी रात 1100 क्वार्टर्स में रहने वाले रोहित खंगार ने इंस्टाग्राम पर मुझे मैसेज किया। इसमें लिखा था कि अगर तुम बाहर नहीं आई, तो तुम्हारे मम्मी-पापा को जान से मार देंगे। डरकर मैंने दरवाजा खोला और बाहर आई। पोर्च में रोहित खड़ा हुआ था। अनमोल सिंह गेट के बाहर था। रोहित ने मुझे जबरन उठाया और गेट के ऊपर से बाहर कर दिया। अनमोल मुझे पकड़कर कार में ले गया। नावेद अपनी कार की ड्राइविंग सीट पर था। रोहित से मेरी छह साल पुरानी दोस्ती है। इसलिए अनमोल और नावेद से भी दोस्ती हो गई थी। रास्ते में अनमोल ने चलती कार में मुझसे हरकतें शुरू कर दीं। विरोध करने पर नावेद ने उन दोनों को 11 नंबर स्टॉप के पास उतार दिया। इसके बाद वह कार से मुझे साकेत नगर की तरफ ले गया। यहां किसी सुनसान सड़क किनारे कार रोककर उसने मेरे साथ ज्यादती की। मैं मदद के लिए चीखी-चिल्लाई, लेकिन किसी ने मेरी आवाज नहीं सुनी। सुबह करीब पांच बजे नावेद मुझे घर के पास छोड़कर चला गया।

ये हैं आरोपी
अनमोल के पिता सरपंच : 22 साल के अनमोल के पिता हरनाम सिंह चौहान सरपंच हैं, जबकि अनमोल का भरत नगर में मकान है। वह अजय ट्रेडिंग कंपनी के नाम से बीज और खाद का काम करता है।
अनुकंपा नियुक्ति का इंतजार : 21 वर्षीय नावेद के पिता कमर मियां रेलवे में एसएनटी सेक्शन में थे। उनके निधन के बाद उसेअनुकंपा नियुक्ति मिलनी है। जल्दी ही उसे अनुकंपा नियुक्ति मिलने वाली थी। इन दिनों वह बेरोजगार है।
बेरोजगार है रोहित : 19 वर्षीय रोहित के पिता डालचंद खंगार मजदूरी करते हैं। रोहित भी इन दिनों बेरोजगार है। वह अनमोल का बेहद करीबी दोस्त है और अमूमन उसी के साथ घूमता रहता है।

कोर्ट परिसर में पुलिस और आरोपियों को भीड़ ने घेरा : हबीबगंज पुलिस मंगलवार दोपहर कड़ी सुरक्षा में आरोपियों को लेकर अदालत पहुंची। अदालत से बाहर निकलते वक्त पुलिस और आरोपियों को भीड़ ने घेर लिया। वारदात से नाराज लोगों ने आरोपियों से मारपीट भी की। इसमें एक थाना प्रभारी के घायल होने की सूचना भी सामने आई, लेकिन पुलिस इस घटना से इनकार करती रही। इधर, जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेश व्यास ने इस तरह के मामलों में पैरवी नहीं करने की अपील की है।

पुलिस ने किया तीनों आरोपियों को गिरफ्तार, कोर्ट ने जेल भेजा : टीआई वीरेंद्र सिंह चौहान के मुताबिक इलाके में रहने वाली 13 वर्षीय छात्रा की शिकायत पर नावेद, रोहित और अनमोल के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया। नावेद को अपहरण, छेड़छाड़, ज्यादती और पॉक्सो जबकि अन्य दोनों को अपहरण, छेड़छाड़ और पॉक्सो एक्ट के तहत आरोपी बनाया गया है। तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर मंगलवार दोपहर अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

‘कलंक’ कहकर भंडारे से भगाया, लड़की ने आग लगाकर दी जान

शिवपुरी मध्य प्रदेश के शिवपुरी में एक भंडारे से नाबालिग लड़की को भगा दिए जाने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
Do NOT follow this link or you will be banned from the site!