Tuesday , October 27 2020

MP उपचुनाव: कांग्रेस का वचन-पत्र जारी, कर्जमाफी का किया वादा

भोपाल,

मध्य प्रदेश में 28 सीटों पर होने विधानसभा उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने मुख्य वचन-पत्र (मैनिफेस्टो) शनिवार को जारी कर दिया. मिनी वचन-पत्र में राहुल गांधी की तस्वीर ना होने पर उठे विवाद के बाद मुख्य वचन-पत्र में राहुल गांधी के साथ प्रियंका गांधी की तस्वीर भी लगाई गई है. इससे पहले मिनी वचन-पत्र में सिर्फ सोनिया-कमलनाथ की फोटो थी. जिसके बाद कांग्रेस नेता माणक अग्रवाल ने राहुल-प्रियंका और दिग्विजय की फोटो न होने पर सवाल उठाए थे.

2018 विधानसभा चुनाव की ही तरह कांग्रेस ने उपचुनाव में भी कर्ज माफ और बिजली बिल हाफ वादे को ही सबसे ऊपर रखा है. वचन-पत्र जारी करते हुए प्रदेश पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दावा किया कि कांग्रेस ने 2018 के वचन-पत्र के 974 बिंदुओं में से 574 बिंदुओं को पूरा कर लिया है और दोबारा सत्ता में आए तो बचे हुए वचनों को भी पूरा किया जाएगा.

इस दौरान कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला करते हुए कहा, ‘शिवराज सिंह अपने 15 साल के हिसाब पर बात नहीं करते. बीजेपी सरकार जिसने 15 वर्ष जनता के हित में कुछ नहीं किया और अभी 7 माह में भी उनकी कोई उपलब्धि नहीं है. ऐसी बीजेपी को जनता आखिर वोट क्यों दे?’

कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश की जनता गवाह है कि किस तरह सौदेबाजी की, बोली लगाकर चुनी हुई सरकार को गिरा दिया गया. पिछले 7 माह में कोरोना को लेकर भी इनकी असफलता सामने आ चुकी है, न लोगों के टेस्ट हो पा रहे हैं और न लोगों को उचित इलाज मिल पा रहा है. शिवराज जी जनता को गुमराह करने के लिए रोज झूठे नारियल फोड़ रहे हैं, झूठी घोषणाएं कर रहे हैं.

मुख्य घोषणाएं
– कोरोना सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना लागू करेंगे. जिसमे कोरोना से परिवार के मुख्य कमाई वाले व्यक्ति की मौत के बाद उसकी विधवा को सामाजिक सुरक्षा दी जाएगी.
– छतीसगढ़ की गौधन न्याय योजना की तर्ज पर गौधन सेवा योजना लागू की जाएगी.
– चंबल संभाग के इलाकों में सैनिक स्कूल की तर्ज पर स्कूल खोले जाएंगे, जिससे युवा शारीरिक दक्षता में सक्षम हो सकेंगे.
– कोरोना काल मे आर्थिक नुकसान झेलने वाले फुटकर व्यापारियों को 50 हजार का लोन बिना ब्याज का दिया जाएगा.

शिवराज ने बताया ‘कपट पत्र’
कांग्रेस के वचन-पत्र पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसे कपट पत्र बताया. मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस का वचन-पत्र नहीं बल्कि कपटपत्र है. पहले वचन-पत्र का एक वचन पूरा नहीं किया कांग्रेस ने और अब झूठ का पुलिंदा फिर ले आए हैं.

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

सिंधिया की BJP में एंट्री से नाराज हैं आरएसएस के स्वयंसेवक! चिट्ठी से मची हलचल

ग्वालियर। ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होने के बाद से पार्टी के …

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!