Saturday , October 24 2020

टाटा बनाएगी नया संसद भवन, 862 करोड़ रुपये में मिला कॉन्ट्रैक्ट

नई दिल्ली

टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने 861.90 करोड़ रुपये की लागत से नए संसद भवन के निर्माण का कॉन्ट्रेक्ट हासिल किया है। टाटा ने निर्माण के लिए लगाई गई बोली में लार्सन एंड टुब्रो को पछाड़ा जिसने 865 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ने नए संसद के निर्माण के लिए आई बोलियों को बुधवार को खोला जिसमें फैसला टाटा के पक्ष में आया। प्रोजेक्‍ट के एक साल में पूरे होने की संभावना है। सीपीडब्‍ल्‍यूडी ने नए संसद भवन के निर्माण में 940 करोड़ रुपये की लागत आने का अनुमान जताया था।

जानकारी के अनुसार, नई बिल्डिंग को त्रिकोणाकार में डिजाइन किया जाएगा। मौजूदा संसद की बिल्डिंग का निर्माण ब्रिटिशकाल में किया गया था और यह वृत्‍ताकार है। देश को आजाद हुए 75 साल होने वाले हैं और देश का संसद भवन अब काफी पुराना हो चुका है। उसमें अलग-अलग तरह की समस्याएं सामने आ रही हैं। मोदी सरकार का इरादा है कि जब देश 15 अगस्त 2022 को अपनी आजादी की 75 की वर्षगांठ मना रहा हो तब सांसद नए संसद भवन में बैठें।

बता दें कि पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, मौजूदा लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू नए संसद भवन की जरूरत को लेकर वकालत कर चुके हैं। जानकारी के अनुसार, मोदी सरकार ने इस पर अपना एक ड्रीम प्लान तैयार कर लिया है। जिस पर अब वह तेजी से आगे बढ़ने की मंशा रखती है।

जानें पुराना संसद भवन कब बना था?
मौजूदा संसद भवन 1911 में बनना शुरू हुआ था। तब अंग्रेजों के शासन के दौर में दिल्ली राजधानी बनी थी। सन 1927 में संसद भवन का उद्घाटन हुआ था। लेकिन आज के समय के हिसाब से संसद भवन में काफी समस्याएं देखी जाने लगी हैं। सबसे बड़ी समस्या है कि संसद में मंत्रियों के बैठने के लिए तो चैम्बर हैं लेकिन सांसदों के लिए नहीं हैं। इसके अलावा बिजली सप्लाई का सिस्टम भी पुराना है, जिसके चलते शॉर्ट सर्किट की समस्या होती रहती है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

अनिल अंबानी की इस कंपनी ने किया कमाल, दोगुना हुआ मुनाफा

नई दिल्ली , अनिल अंबानी समूह की कंपनी रिलायंस पावर ने कमाल कर दिया है. …

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!