किम ने 65 साल बाद किया ऐसा, ट्रंप बोले थैंक्यू

वॉशिंगटन

उत्तर कोरिया ने 65 साल पहले कोरियाई युद्ध के दौरान मारे गए 55 अमेरिकी सैनिकों के अवशेष गुरुवार को अमेरिका को सौंपे। यह वॉशिंगटन और प्योंगयांग के बीच राजनयिक संबंधों को एक नई गति देगा। वाइट हाउस ने कहा कि 1950-53 के युद्ध के दौरान मारे गए अमेरिकी सैनिकों के अवशेष को लेकर अमेरिकी वायुसेना का विमान उत्तर कोरिया से दक्षिण कोरिया में ओसान एयरबेस पहुंच गया है। 12 जून को सिंगापुर में उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन और अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के बीच हुए एक समझौते तहत अवशेष सौंपे गए।

वाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी सारा सैंडर्स ने कहा कि 1 अगस्त को सैनिकों के अवशेष अमेरिका पहुंचने को लेकर एक औपचारिक समारोह आयोजित किया जाएगा। ट्रंप ने इस कार्रवाई के लिए उत्तर कोरिया के नेता को धन्यवाद दिया है। अमेरिका के राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, ‘इतने सालों बाद कई परिवारों के लिए यह यादगार पल होगा। किम जोंग उन का धन्यवाद।’ बता दें कि गुरुवार यानी 27 जुलाई को कोरियाई युद्ध के समाप्त होने की 65वीं सालगिरह है। उत्तर कोरिया इसे ‘जीत का दिन’ के रूप में मनाता है।

सारा सैंडर्स ने कहा कि अनुमानित 5,300 अमेरिकियों की तलाश के लिए उत्तर कोरिया में फील्ड ऑपरेशंस को फिर से शुरू करने की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण और पहला कदम है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोरियाई युद्ध से लगभग 7,700 अमेरिकी सैनिक गायब हुए हैं और 5,300 के अवशेष अभी भी उत्तरी कोरिया में हैं। इस युद्ध में 36,000 अमेरिकी सैनिकों सहित लाखों लोगों की मौत हुई थी। 1996 से 2005 के बीच अमेरिका-उत्तर कोरिया की संयुक्त मिलिट्री सर्च टीम ने 33 अभियान चलाए। इस दौरान अमेरिकी सैनिकों के अवशेष के 229 सेट बरामद किए गए।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

कोरोना पर गुड न्यूज! रिकवरी रेट 80 प्रतिशत, अमेरिका को पीछे छोड़ टॉप पर भारत

नई दिल्ली भारत में तेजी से कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं। हालांकि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)