Wednesday , September 23 2020

दिल्ली के होटल में गुंडई: तो नेपाल भाग चुका है आशीष?

लखनऊ

दिल्ली के 5 स्टार होटेल में एक कपल से पिस्टल लेकर नोकझोंक करने के आरोपी आशीष पांडेय की तलाश में दिल्ली पुलिस उत्तर प्रदेश के बस्ती के लिए निकल गई है। उसकी मंगलवार दोपहर एक बजे की आखिरी लोकेशन बस्ती में मिली है। इसके बाद नेपाल सीमा से सटे जिलों की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। इससे पहले राजधानी में आशीष के दिलकुशा स्थित फ्लैट के साथ ही उसके विभवखंड-3 में बने ऑफिस में भी पुलिस ने छानबीन की।

दिल्ली पुलिस मंगलवार दोपहर अमौसी एयरपोर्ट पहुंची। वहां से सरोजनीनगर पुलिस दिल्ली पुलिस की टीम को आशीष के दिलकुशा स्थित संतुष्टि अपार्टमेंट के फ्लैट नम्बर-301 और 302 में ले गई। अपार्टमेंट और फ्लैट की घेराबंदी गौतमपल्ली पुलिस ने पहले ही कर ली थी। सूत्रों का कहना है कि मंगलवार सुबह नौ बजे तक आरोपी आशीष अपने फ्लैट में ही मौजूद था, लेकिन उसे जैसे ही दिल्ली पुलिस के आने की भनक लगी, वह गाड़ी लेकर निकल गया। दिल्ली पुलिस ने फ्लैट में मौजूद नौकर से करीब एक घंटे 40 मिनट तक पूछताछ की। वहीं, क्राइम ब्रांच की एक टीम गोमतीनगर स्थित विभवखंड-3 में आशीष के ऑफिस पर डेरा डाले हुए थी। हालांकि वह वहां भी नहीं था। सूत्रों के मुताबिक कर्मचारी ने दिल्ली पुलिस की आशीष से बात भी करवाई।

तलाश में लगाई गई एसटीएफ
यूपी एसटीएफ की एक टीम को आशीष पाण्डेय की तलाश में लगाया गया है। डिप्टी एसपी प्रमेश शुक्ला इस टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। डीआईजी कानून एवं व्यवस्था प्रवीण कुमार ने बताया कि आशीष की गिरफ्तारी के लिए दिल्ली पुलिस ने मदद मांगी है। डीजीपी की तरफ से उन्हें हर संभव मदद उपलब्ध करवाई जा रही है।

रेनेसां होटल के पास मर्सिडीज के उड़े थे परखच्चे
पिछले साल 12 जुलाई को एक मर्सिडीज कार गोमतीनगर के रेनेसां होटल के सामने डीसीएम से टक्कर मार दी थी। इसमें मर्सिडीज के परखच्चे उड़ गए थे। सूत्रों के मुताबिक घटना के वक्त आशीष के साथ एक युवती भी थी। पुलिस ने घायलों को अस्पताल में भर्ती करवाया था। मामला बड़े नेता के बेटे से जुड़ा होने के चलते पुलिस ने आशीष के कार में बैठे होने की बात से इनकार कर दिया था।

राजनीति रसूख वाला है आशीष का परिवार
आशीष पांडेय उर्फ सुड्डू के पिता राकेश पांडेय जलालपुर से पहली बार एसपी से विधायक चुने गए थे। वे बीएसपी से अकबरपुर लोकसभा सीट से एमपी बने। उन्होंने अपने बड़े बेटे रितेश को राजनीति में उतारा। वह 2017 के विधानसभा चुनाव में जलालपुर सीट से बीएसपी से विधायक बना। आशीष व उनके परिवार का यूपी के कई जिलों में शराब, रियल एस्टेट व खनन का कारोबार है। आशीष के पास दो लाइसेंसी असलहे हैं, जिनमें एक पिस्टल और एक बंदूक है। सूर्या कांट्रेक्शन फर्म से ठेकेदारी करने वाले आशीष के चाचा पवन पांडेय व चाचा कृष्ण पांडेय का पुराना आपराधिक इतिहास रहा है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

वाराणसी: जमीन के लिए खूनी संघर्ष, बुजुर्ग की पीट-पीटकर हत्या

वाराणसी, उत्तर प्रदेश के वाराणसी के चोलापुर थाना क्षेत्र में उस वक्त हड़कंप मच गया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
108 visitors online now
25 guests, 82 bots, 1 members
Max visitors today: 121 at 08:00 am
This month: 227 at 09-18-2020 01:27 pm
This year: 687 at 03-21-2020 02:57 pm
All time: 687 at 03-21-2020 02:57 pm