दिवाली पर देश में रोशनी के रंग, दिल्ली में कम रहा पटाखों का शोर

नई दिल्ली

पूरे देश में दिवाली का पर्व बुधवार को पारंपरिक श्रद्धा और हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। लोगों ने अपने घरों और प्रतिष्ठानों को दीपों एवं झालरों से सजाया और पटाखे फोड़ कर तथा मित्रों एवं रिश्तेदारों में मिठाइयां बांट कर उत्साह के साथ त्योहार मनाया। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मद्देनजर इस बार अपेक्षाकृत कम पटाखे फोड़े गए। दिल्ली की वायु गुणवत्ता बुधवार को दिनभर’खराब’ से ‘बहुत खराब’ श्रेणी के बीच बनी रही, लेकिन रात नौ बजे के बाद इसकी श्रेणी खतरनाक हो गई। संयुक्त राष्ट्र ने दिवाली के अवसर पर एक विशेष डाक टिकट जारी किया। इस डाक टिकट को संयुक्त राष्ट्र डाक टिकट प्रशासन ने जारी किया।

मुंबई में भी दिवाली के हजार रंग दिखे. छत्रपति शिवाजी टर्मिनस की ऐतिहासिक इमारत रंग से और निखरती दिखाई दी. इसके अलावा यहां मरीन ड्राइव पर सभी समाज के लोग दिवाली मनाते दिखे. दिल्ली में भी हर इलाका रोशनी से सजा नजर आया. इंडिया गेट पर जबरदस्त नजारा देखने को मिला. वहीं, कोलकाता और करीबी इलाकों में भी दिवाली का पर्व मनाया गया, यहां हावड़ा स्टेशन रोशनी से सराबोर दिखा.

इस मौके पर सियासत वाली दिवाली भी नजर आई. समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव लखनऊ में अपने भाई शिवपाल सिंह यादव के घर जाकर मिले और उन्हें दिवाली की बधाई दी. दूसरी ओर पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी दिवाली मनाई, उन्होंने घर पर दीये जलाकर पर्व मनाया.

दिवाली के मौके पर लोग अपने रिश्तेदारों के यहां गए और त्योहार की शुभकामनाएं दीं, वहीं वॉट्सऐप, फेसबुक और ट्विटर पर दिवाली की शुभकामनाओं के संदेशों की बाढ़ आ गई। राजधानी दिल्ली सहित देश के विभिन्न इलाकों में दीपावली पर विशेष चहल-पहल देखी गई। लोगों ने इस अवसर पर शाम को होने वाले लक्ष्मी गणेश पूजन से पहले त्योहार के लिए खरीदारी की।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देशवासियों को दिवाली की शुभकामनाएं देते हुए लोगों से त्योहार की खुशियों को कमजोर और वंचित तबके के साथ साझा करने की गुजारिश की। राष्‍ट्रपति ने इस अवसर पर सभी देशवासियों से प्रदूषण मुक्‍त और सुरक्षित दिवाली मनाने को भी कहा। कोविंद ने मंगलवार को अपने संदेश में कहा, ‘दिवाली के शुभ अवसर पर मैं भारत और दुनियाभर में सभी देशवासियों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।’ उन्होंने कहा, ‘दिवाली अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाने वाला पर्व है। आइए, हम इस महान पर्व पर वंचित और जरूरतमंद लोगों की सहायता करते हुए अपनी खुशियों को अधिक से अधिक बांटें।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत-चीन सीमा के पास बर्फीले पहाड़ों पर सेना और भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल (आईटीबीपी) के जवानों के साथ दिवाली मनाई। मोदी ने जवानों से कहा कि दूर-दराज के इलाकों में बर्फीले पहाड़ों पर ड्यूटी करने की उनकी लगन राष्ट्र की ताकत को और मजबूत बनाती है। हर्षिल छावनी क्षेत्र में जवानों को शुभकामनाएं देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वे अपनी प्रतिबद्धता और अनुशासन के जरिये 125 करोड़ भारतीयों के सपने और भविष्य को सुरक्षित करते हैं और लोगों में सुरक्षा और निडरता का भाव पैदा करने में मदद करते हैं। मोदी ने सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत की मौजूदगी में सैनिकों से कहा, ‘आप हमारी जमीन के केवल एक कोने की रक्षा नहीं कर रहे हैं। देश की सरहदों की सुरक्षा करके, आप 125 करोड़ भारतीयों के सपनों और जिंदगियों की सुरक्षा कर रहे हैं।’

बाद में प्रधानमंत्री ने केदारनाथ जाकर पूजा-अर्चना की और केदारपुरी में चल रही पुनर्निर्माण परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने भारत-चीन सीमा के निकट अरुणाचल प्रदेश में सुदूर चौकियों में सेना के जवानों के साथ दिवाली का जश्न मनाया। कोहिमा के रक्षा प्रवक्ता कर्नल चिरंजीत कंवर ने बताया कि उन्होंने पहले सीमा के निकट अग्रिम चौकी रोचचाम के लिए उड़ान भरी और इसके बाद अंजॉ जिले में हुलियांग चौकी की यात्रा की। हुलियांग में उन्होंने जवानों के साथ दिवाली मनाई और मिठाइयां बांटी। उन्होंने जवानों की समृद्धि और खुशी की कामना की।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक ट्वीट में कहा, ‘दिवाली के शुभ अवसर पर सभी भारतीयों को मेरी शुभकामनाएं। मैं आपके सुख एवं खुशहाली की कामना करता हूं।’ ऐक्टर अमिताभ बच्चन, निर्माता-निर्देशक करण जौहर और ऐक्ट्रेस अनुष्का शर्मा समेत बॉलिवुड की अन्य हस्तियों ने लोगों को दिवली की शुभकामनाएं दीं।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इस बार सुप्रीम कोर्ट के आदेश के कारण पिछले कुछ सालों की तुलना में अपेक्षकृत कम पटाखे फोड़े गए। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए कोर्ट ने अपने एक आदेश में कहा था कि दिवाली के दिन रात आठ बजे से दस बजे तक निर्धारित स्थलों पर ही हरित पटाखे फोड़े जाएंगे।

दिल्ली की वायु गुणवत्ता बुधवार को ‘खराब’ से ‘बहुत खराब’ श्रेणी के बीच बनी रही लेकिन पटाखे फोड़ने की अवधि के दौरान यह ‘खतरनाक’ श्रेणी में पहुंच गई । अधिकारियों ने आगाह किया कि भले ही आंशिक रूप से विषाक्त पटाखे जलाए जाते हैं तो भी पिछले साल की तुलना में दिल्ली की वायु गुणवत्ता और खराब हो सकती है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक, समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 281 दर्ज किया गया जो ‘खराब’ श्रेणी में आता है। केंद्र सरकार की वायु गुणवत्ता पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (सफर) ने समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक 319 दर्ज किया जो ‘बहुत खराब’ श्रेणी में आता है। रात नौ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक 500 दर्ज किया गया और 400 से अधिक के स्तर को खतरनाक की श्रेणी में रखा जाता है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

राज्यसभा से सस्पेंड हुए सांसद बाहर जाने को तैयार नहीं, सदन की कार्यवाही फिर रुकी

नई दिल्‍ली राज्‍यसभा में हंगामा थमने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार को बेहद …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
138 visitors online now
18 guests, 119 bots, 1 members
Max visitors today: 173 at 12:50 am
This month: 227 at 09-18-2020 01:27 pm
This year: 687 at 03-21-2020 02:57 pm
All time: 687 at 03-21-2020 02:57 pm