Saturday , September 19 2020

बिहार में NDA में फूट: JDU में जाएंगे RLSP के दो MLA? नीतीश पर बरसे कुशवाहा

पटना

बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में फूट के आसार नजर आ रहे हैं। खबर है कि एनडीए का हिस्सा राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) के दो विधायक पार्टी छोड़कर जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के पाले में जा सकते हैं। 2019 के आम चुनाव में सीट शेयरिंग को लेकर पहले से बिहार में एनडीए के घटक दलों में पेच फंसा हुआ है। ऐसे में नीतीश के साथ आरएलएसपी के विधायकों के जाने से नई खिचड़ी पक सकती है। यही वजह है कि आरएलएसपी अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर उनकी पार्टी को तोड़ने का आरोप लगाते हुए नसीहत दी है।

आरएलएसपी विधायक सुधांशु शेखर और ललन पासवान के जेडीयू में शामिल होने की खबरों को लेकर उपेंद्र कुशवाहा ने अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ‘समेटिए नीतीश कुमारजी अपने लोगों को। केवल दहेज लेना-देना अपराध नहीं है बल्कि किसी पार्टी को डैमेज करने हेतु लोभ व प्रलोभन देना भी अपराध एवं घोर अनैतिक कुकृत्य है। ऐसे यह कोई नहीं मानेगा कि आपकी पार्टी में ऐसा कुकृत्य आपकी सहमति के बगैर हो रहा होगा।’

नीतीश और कुशवाहा की जुबानी जंग
उपेंद्र कुशवाहा ने यह भी लिखा, ‘वैसे तो नीतीश कुमारजी, आपको तोड़-जोड़ में महारत हासिल है। बीएसपी, एलजेपी, आरजेडी, कांग्रेस और अब आरएलएसपी लेकिन बिहार व देश की जनता सब देख रही है। हम गरीबों, शोषितों, वंचितों, दलितों, पिछड़ो और गरीब सवर्णों के हक के लिए लड़ते रहेंगे। आप चाहे जितना प्रहार करें।’

नीतीश कुमार और उपेंद्र कुशवाहा के संबंध पहले से अच्छे नहीं हैं। पटना में आरएलएसपी के प्रदर्शन के दौरान नीतीश के खिलाफ नारेबाजी के बाद कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। इससे पहले कुशवाहा ने मुजफ्फरपुर में आरोप लगाया, ‘नीतीश कुमारजी मुझे नीच कहते हैं। मैं इस मंच से बड़े भाई नीतीश कुमार से पूछना चाहता हूं कि उपेंद्र कुशवाहा इसलिए नीच है क्योंकि वह दलित, पिछड़ा और गरीब नौजवानों को उच्चतम न्यायालय में जज बनाना चाहता है’। हम पिछड़ा एवं अति पिछड़े की बातों और उनके हितों को उठाते हैं इसलिए नीच हैं। सामाजिक न्याय की बात करते हैं इसलिए उपेंद्र कुशवाहा नीच है। गरीब घर के बच्चे कैसे पढ़ें, इसके लिए अभियान चलाते है तो क्या उपेंद्र कुशवाहा इसके लिए नीच है।’

मुजफ्फरपुर जिले में पिछले रविवार को एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कुशवाहा ने नीतीश से पूछा, ‘आपको भले ही जरूरत हो या नहीं लेकिन प्रदेश की जनता आप से यह जानना चाहती है कि आपकी डीएनए की रिपोर्ट क्या है और वह आई या नहीं आई। आई तो क्या रिपोर्ट है? जरा बताने का काम कीजिए।’

अमित शाह के दर पर मामला
उपेंद्र कुशवाहा ने रविवार को कहा कि नीतीश कुमार की ओर से उनके खिलाफ की गई ‘आपत्तिजनक टिप्पणी’ और आगामी लोकसभा चुनाव में एनडीए के घटक दलों के बीच बिहार में सीटों के बंटवारे को लेकर पैदा हुए भ्रम की स्थिति पर चर्चा के लिए उन्होंने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मिलने का समय मांगा है । दिल्ली रवाना होने के पहले केंद्रीय मंत्री पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे ।

एनडीए के एक अन्य घटक दल एलजेपी प्रमुख रामविलास पासवान से रविवार को यहां हुई मुलाकात का जिक्र करते हुए कुशवाहा ने कहा कि सीटों का बंटवारा जल्दी हो और इस पर बातचीत हो यह सभी (एलजेपी भी) चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वह और पासवान दोनों चाहते हैं कि सीटों के बंटवारे को लेकर निर्णय किये जाने में अधिक समय नहीं लगना चाहिए क्योंकि इससे कई तरह का भ्रम पैदा हो रहा है।

कुशवाहा ने कहा कि बातचीत जल्दी परिणाम तक पहुंचे इसके लिए उन्होंने अमित शाह के कार्यालय में संदेश भिजवाया है कि वह उनसे मिलने हम दिल्ली आ रहे हैं । यह पूछे जाने पर कि शाह से मुलाकात के दौरान केवल सीट साझा को लेकर बातचीत होगी या फिर एनडीए के एक अन्य घटक दल जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार द्वारा उनके खिलाफ की गई कथित आपत्तिजनक टिप्पणी पर भी चर्चा होगी, कुशवाहा ने कहा कि दोनों मुद्दों पर चर्चा होगी । कुशवाहा ने कहा कि वह अमित शाह से कहेंगे कि वह पहल करते हुए नीतीश कुमार से कहें कि वह अपना ‘आपत्तिजनक बयान’ वापस लें । केंद्रीय मंत्री ने मुख्यमंत्री पर उन्हें ‘नीच’ कहने का आरोप लगाते हुए सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने की मांग की है।

 एनडीए में सीट बंटवारे का पेच
सूत्रों के मुताबिक बीजेपी और जेडीयू के बीच सीटों को लेकर 50-50 के फॉर्म्युले पर बात हुई है। इसके तहत दोनों को 17-17 सीटें और रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) को 4 जबकि कुशवाहा की आरएलएसपी को 2 सीटें मिल सकती हैं। इस सिलसिले में नीतीश कुमार ने पीएम मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से दिल्ली में मुलाकात की थी। इस बैठक के बाद कहा गया था कि जल्द ही बिहार में सीटों के बंटवारे का ऐलान किया जा सकता है। वहीं कुशवाहा अपनी पार्टी के लिए सम्मानजनक सीटों की मांग पर अड़े हुए हैं।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

राहुल गांधी का पुराना फोटो वायरल, APMC एक्ट हटाने की कही थी बात

नई दिल्ली, किसान बिल को लेकर कांग्रेस, केंद्र सरकार का विरोध कर रही है. जबकि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)