Thursday , October 22 2020

भारत के लिए खतरा, तीसरी सबसे बड़ी एटमी ताकत बन सकता है PAK

पाकिस्‍तान भारत से परमाणु हथियार बनाने की रेस में आगे निकल चुका है. कई मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जहां भारत विश्‍व में परमाणु हथियार के मामले में 7वें नंबर पर है तो पाकिस्‍तान 6 नंबर पर. हालांकि भारत के लिए खतरा और बड़ा हो सकता है. पाकिस्तान तेजी से परमाणु हथियार विकसित कर रहा है. कई एजेंसियों के दावे के अनुसार अभी उसके पास 140 से 150 परमाणु हथियार और भंडार हैं.

दुनिया भर में एटमी रेस पर नजर रखने वाली एजेंसी फेडरेशन ऑफ अमेरिकन साइंटिस्ट्स (एफएएस-जिसे पहले फेडरेशन ऑफ एटोमिक साइंटिस्ट्स के नाम से जाना जाता था) ने अपनी‍ रिपोर्ट में चौंकाने वाले खुलासे किए है.इसकी रिपोर्ट के अनुसार 2025 तक पाकिस्‍तान के परमाणु हथ‍ियारों का आकंड़ा 220 से 250 तक पहुंचने का अनुमान है.ऐसे में इतनी परमाणु ताकत के साथ वह दुनिया में इस मामले में पांचवीं बड़ी ताकत बन सकता है.

आपको बता दें कि अमेरिका, रूस, फ्रांस, यूके जैसे देश अपने परमाणु जखीरे को बढ़ाने पर कम ध्‍यान दे रहे हैं. हालांकि भारत से दुश्‍मनी लेने के लिए पाकिस्‍तान इस रेस में काफी आगे निकलना चाह रहा है. ‘Pakistani nuclear forces 2018’ नाम की इस रिपोर्ट को हंस एम क्रिस्टनसेन, रॉबर्ट एस नोरिस और जुलिया डायमंड ने तैयार किया है.इस रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया है कि करीब 10 साल में पाकिस्तान 350 परमाणु हथियारों के साथ दुनिया में तीसरी बड़ी एटमी ताकत बन सकता है.

आपको बता दें कि इस रिपोर्ट ने अमेरिका के उस दावे की पोल खोल दी है, जिसमें अमेरिकी रक्षा सूत्रों ने 1999 में दावा किया था कि 2020 तक पाकिस्‍तान के पास 60 से 80 एटमी हथ‍ियार होंगे.इस रिपोर्ट के लिए पाकिस्तान के सैन्य अड्डों और एयरफोर्स के ठिकानों की सैटेलाइट तस्‍वीरों की स्‍टडी हुई है. इससे साबित हुआ है कि पाकिस्‍तान में लगातार परमाणु हथियारों का भंडार बढ़ाने की तैयारियां चल रही हैं. यह तैयारी अंडरग्राउंड अड्डों में हो रही है.

रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि पाकिस्तान परमाणु हथियारों से लैस कम दूरी की मिसाइलों के विकास पर ज्यादा ध्यान दे रहा है. ऐसे में माना जा रहा है कि वह सिर्फ भारत के साथ परमाणु युद्ध की तैयारी कर रहा है. साथ ही वह न सिर्फ बचाव के लिए बल्‍कि‍ भारत के साथ रणनीतिक रूप से आगे निकलने के लिए इन परमाणु हथ‍ियारों को तैयार कर रहा है.रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्‍तान की यह परमाणु हथ‍ियारों की रेस की तेजी कई बातों पर निर्भर करेगी. सबसे अध‍िक असर भारत द्वारा जवाबी कार्रवाई के रूप में परमाणु हथ‍ियार बनाने से होगा.

पाकिस्‍तान के इस कदम ने दुनिया के कई देशों को चिंता में डाल दिया है. खासकर अमेरिका इससे काफी चिंतित है. अमेरिका को चिंता है कि इससे भारत और पाकिस्‍तान के बीच सैन्‍य कार्रवाई के दौरान परमाणु हथ‍ियारों के इस्‍तेमाल का द्वार खुल सकता है. यही नहीं अमेरिका पाकिस्‍तान और चीन की नजदीकियों से भी वाकिफ है. आपको बता दें कि कुछ दिन पहले रिपोर्ट आई थी कि पाकिस्‍तान को छोटी दूरी की न्‍यूक्‍ल‍ियर मिसाइल बनाने की तकनीक हासिल करने में चीन ने मदद की थी और वह लगातार उसकी परमाणु क्षमता बढ़ाने में मदद कर रहा है.

वर्तमान में परमाणु हथ‍ियारों की संख्‍या के अनुसार रैंकिंग की बात करें तो पाकिस्‍तान और भारत से पहले रूस, अमेरिका, फ्रांस, चीन, यूके का नाम आता है. वहीं इसके बाद इजराइल और उत्‍तर कोरिया का नंबर आता है. पाकिस्‍तान द्वारा इतनी तेजी से एटमी हथ‍ियार बनाने से इस बात का खतरा भी बढ़ गया है कि कहीं ये हथ‍ियार आतंकी ग्रुपों के हाथ न लग जाए.

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

MP: इमरती देवी ने कमलनाथ की मां-बहन को कहा ‘आइटम’, वायरल

नई दिल्ली, मध्य प्रदेश की सियासत में ‘आइटम’ को लेकर बवाल जारी है. दरअसल, एक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
Do NOT follow this link or you will be banned from the site!