Saturday , September 19 2020

राजकोट में भारत का डंका, टेस्ट में सबसे बड़ी जीत

राजकोट

टीम इंडिया ने राजकोट टेस्ट में वेस्ट इंडीज को पारी और 272 रनों से हरा दिया है। भारत ने अपनी पहली पारी 9 विकेट के नुकसान पर 649 रन बनाकर घोषित की थी। जवाब में वेस्ट इंडीज की पहली पारी 48 ओवर में 181 रन पर सिमट गई। उसे फॉलोऑन खेलने के लिए मजबूर होना पड़ा। जब वह दूसरी पारी में बैटिंग के लिए उरती तो लगा कि पहली पारी से कुछ सीख लेकर इस बार टिकने की कोशिश करेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। पहली पारी की तरह ही मेहमान टीम के खिलाड़ी ‘तू चल मैं आया’ की तर्ज पर लगातार अपना विकेट फेंकते गए और 50.5 ओवर में सभी विकेट खोकर 196 रन बना सकी। यह भारत की टेस्ट में पारी और रन के मामले में सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले उसने इसी साल जून में अफगानिस्तान को बेंगलुरु में पारी और 262 रनों से हराया था।

अश्विन ने बिगाड़ी वेस्ट इंडीज की शुरुआत
अपनी दूसरी पारी खेलने उतरी मेहमान टीम को उम्मीद थी कि उसे एक अच्छी शुरुआत मिलेगी, लेकिन पहली पारी में चार विकेट लेने वाले रविचंद्रन अश्विन ने क्रैग ब्रैथवेट (10) को शॉर्ट लेग पर खड़े पृथ्वी शॉ के हाथों कैच कर विंडीज को अच्छी शुरुआत से महरूम रख दिया। वह 32 के कुल स्कोर पर आउट हुए। एक ओवर बाद भोजनकाल की घोषणा कर दी गई। लंच के बाद नए बल्लेबाज शाइ होप (17) ने खाता खोला और कुच्छे शॉट भी लगाए, लेकिन बड़ी पारी नहीं खेल सके। उन्हें कुलदीप यादव ने LBW आउट किया।

कुलदीप यादव की घातक बोलिंग
विंडीज टीम संभल पाती इससे पहले ही कुलदीप यादव ने दो विकेट झटकते हुए स्कोर 4 विकेट पर 97 रन कर दिया। उन्होंने शिमरॉन हेटमायर को 11 रनों के निजी स्कोर पर केएल राहुल के हाथों कैच कराया, जबकि सुनील एम्ब्रिस आगे निकलकर शॉट लगाने के चक्कर में स्टंप आउट हुए। सुनील ने 3 गेंदें खेली, लेकिन खाता नहीं खोल सके। इसके बाद रोस्टन चेज ने पॉवेल के साथ मिलकर 5वें विकेट के लिए 41 रन जोड़े। हालांकि, चेज सिर्फ 20 रन बनाकर कुलदीप की गेंद पर आर. अश्विन के हाथों लपक लिए गए।

पॉवले 83 रन बनाकर आउट
विंडीज की उम्मीदों ने उस वक्त दम तोड़ दिया, जब शानदार बैटिंग कर रहे कायरन पॉवेल (83) को कुलदीप यादव ने पृथ्वी शॉ के हाथों कैच आउट करा दिया। यह कुलदीप का इस पारी में 5वां विकेट रहा। पॉवेल ने 93 गेंदों में 8 चौके और 4 छक्के लगाए। जडेजा ने कीमो पॉल (15) को आउट करते हुए मेहमान टीम को 7वां झटका दिया। चायकाल से ठीक पहले उसे 8वां झटका लगा। देवेंद्र बिशू 9 रन के निजी स्कोर पर अश्विन की गेंद पर विकेट के पीछे पंत के हाथों लपके गए। उनके आउट होते ही चायकाल की घोषणा हो गई।

बाकी के बचे दो बल्लेबाजों को रविंद्र जडेजा ने आउट किया। उन्होंने लुइस (4) को LBW आउट किया, जबकि गैब्रियल (4) को कुलदीप के हाथों कैच कराया। इस पारी में भारत की ओर से सबसे अधिक 5 विकेट कुलदीप यादव के नाम रहे, जबकि रविंद्र जडेजा ने 3 और आर. अश्विन ने दो विकेट झटके। पृथ्वी शॉ को मैन ऑफ द मैच चुना गया। दोनों टीमों के बीच सीरीज का दूसरा और आखिरी टेस्ट मैच 12 अक्टूबर से हैदराबाद में खेला जाएगा।

दूसरे दिन का खेल
उल्लेखनीय है कि पहले दिन पृथ्वी शॉ के टेस्ट डेब्यू में शतक के बाद दूसरे दिन कोहली (139) और जडेजा (100*) के नाम रहा। भारत ने 9 विकेट पर 649 रन पर अपनी पहली पारी घोषित की। जवाब में वेस्ट इंडीज की टीम अच्छी शुरुआत नहीं कर सकी और उसके विकेट नियमित अंतराल पर गिरते रहे। पेसर मोहम्मद शमी और फिर स्पिनरों ने कैरेबियाई बल्लेबाजों पर दबाव बनाया।

वेस्ट इंडीज ने पारी के दूसरे ही ओवर में मोहम्मद शमी की गेंद पर कप्तान ब्रैथवेट (2) का विकेट गंवा दिया। शमी की सीधी गेंद को ब्रैथवेट पढ़ नहीं पाए और गेंद जाकर ऑफ स्टंप पर लगी। इसके बाद दूसरे ओपनर कायरन पॉवेल भी ज्यादा देर संघर्ष नहीं कर सके और शमी की गेंद पर पगबाधा आउट हो गए। उन्होंने सिर्फ 1 रन बनाया था।

विंडीज की टीम संभल पाती, इससे पहले ही आर. अश्विन ने शाई होप (10) को बोल्ड करते हुए भारत को तीसरी सफलता दिला दी। कुछ ही देर बाद शिमरन हेटमायर (10) रन आउट हो गए। इसके बाद सुनील एम्ब्रिस (12) को जडेजा ने शिकार बनाया। उन्हें रहाणे ने लपका जिसके साथ ही विंडीज की आधी टीम पविलियन लौट गई। फिर शेन डॉरिच (10) को कुलदीप यादव ने बोल्ड कर दिया। दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक 6 विकेट पर 94 रन थे।

यूं हुई तीसरे दिन की शुरुआत
इससे पहले दूसरे दिन के नाबाद बल्लेबाज रोस्टन चेज (53) और कीमो पॉल (47) ने वेस्ट इंडीज के स्कोरबोर्ड को चलाने का काम तीसरे दिन भी जारी रखा। दोनों खिलाड़ियों ने थोड़ी तेजी से रन बटोरे, लेकिन ज्यादा आगे नहीं जा पाए। अर्धशतक की ओर बढ़ रहे पॉल को उमेश यादव ने चेतेश्वर पुजार के हाथों कैच करा इस साझेदारी को तोड़ा। पॉल ने अपनी पारी में 49 गेंदें खेलीं जिन पर सात पर चौके और दो पर छक्के जड़े। उनका विकेट 147 के कुल स्कोर पर गिरा।

चेज अर्धशतक पूरा करने के कुछ देर बाद अश्विन की बेहतरीन गेंद पर बोल्ड हो गए। उन्होंने अपनी पारी में 79 गेंदों का सामना करते हुए आठ गेंदों को सीमा रेखा के पार पहुंचाया। चेज का विकेट 159 के कुल स्कोर पर गिरा। इसी स्कोर पर अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे शेमरन लुइस को अश्विन ने ही बोल्ड किया। अश्विन ने शेनन ग्रैबिएल (1) को आउट कर वेस्ट इंडीज की पारी का अंत किया। आर. अश्विन ने 4 विकेट झटके, जबकि मोहम्मद शमी के खाते में 2 विकेट गया। उमेश यादव, कुलदीप यादव और रविंद्र जडेजा को 1-1 विकेट मिला।

भारतीय पारी का रोमांच
अपने घरेलू मैदान पर खेल रहे जडेजा ने 132 गेंद पर नाबाद 100 रन बनाए जो उनका पहला टेस्ट शतक रहा। वहीं कप्तान कोहली ने अपना 24वां टेस्ट शतक लगाते हुए 230 गेंद में 139 रन की पारी खेली। जडेजा को तिहरे अंक तक पहुंचने के लिए 38 टेस्ट का इंतजार करना पड़ा। उन्होंने दिसंबर 2012 में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया था। 11वें नंबर के बल्लेबाज मोहम्मद शमी के साथ खेलते हुए जडेजा ने चाय से ठीक पहले के ओवर में शतक पूरा किया। अपनी पारी में उन्होंने 5 चौके और 5 छक्के लगाए। इंग्लैंड में आखिरी टेस्ट में 86 रन बनाने वाले जडेजा ने दुबई में एशिया कप के जरिए वनडे क्रिकेट में शानदार वापसी की।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

राहुल गांधी का पुराना फोटो वायरल, APMC एक्ट हटाने की कही थी बात

नई दिल्ली, किसान बिल को लेकर कांग्रेस, केंद्र सरकार का विरोध कर रही है. जबकि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)