SC ने श्रीसंत से आजीवन बैन हटाया, लेकिन बॉल अभी भी दूर

नई दिल्ली,

सुप्रीम कोर्ट ने क्रिकेटर एस. श्रीसंत को लाइफटाइम बैन मामले में बड़ी राहत दी है। शुक्रवार को कोर्ट ने उन पर लगा लाइफटाइम बैन निरस्त करने का फैसला किया। इसके साथ ही बीसीसीआई को 3 महीने के अंदर इस मामले पर फैसला लेने को कहा है।IPL में स्पॉट फिक्सिंग में नाम सामने आने के बाद BCCI ने उन पर लाइफटाइम बैन लगा दिया था। अपने फैसले में कोर्ट ने कहा, ‘श्रीसंत को दी गई सजा अधिक है। BCCI उनकी सजा पर फिर से विचार करे और 3 महीने के भीतर इस पर निर्णय ले।’

इसके साथ ही कोर्ट ने भी साफ कर दिया कि श्रीसंत का यह कहना बिल्कुल गलत है कि BCCI को उसे सजा देने का अधिकार नहीं है। BCCI को किसी भी मामले में क्रिकेटर पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करने का अधिकार होता है।’

बता दें कोर्ट के इस फैसले के बाद अभी यह तय नहीं हुआ है कि यह तेज गेंदबाज किसी भी घरेलू या अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अब क्रिकेट खेलने को तैयार है। कोर्ट ने बीसीसीआई को 3 महीने का समय दिया है और साथ ही सजा का समय भी बीसीसीआई ही तय करेगा। उन पर लाइफटाइम बैन को हटा लिया गया है, लेकिन सजा की नई समय-सीमा पर अब बीसीसीआई फिर से कोई फैसला लेगा।

IPL 2013 में श्रीसंत स्पॉट फिक्सिंग मामले में फंसे थे। तब यह खिलाड़ी राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा था। इससे पहले केरल हाई कोर्ट ने श्रीसंत पर बीसीसीआई द्वारा लगाए गए आजीवन प्रतिबंध को बरकरार रखा था। इसी फैसले को श्रीसंत ने शीर्ष अदालत में चुनौती दी थी।

बता दें कि बीसीसीआई ने श्रीसंत पर आईपीएल-2013 में स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाए जाने पर अजीवन प्रतिबंध लगाया था. इसके खिलाफ श्रीसंत ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी. इससे पहले बीसीसीआई ने कोर्ट में कहा कि श्रीसंत पर भ्रष्टाचार, सट्टेबाजी और खेल को बेइज्जत करने के आरोप हैं. श्रीसंत, अंकित चव्हाण और अजीत चंदीला सहित स्पॉट फिक्सिंग मामले में सभी 36 आरोपरियों को जुलाई 2015 में पटियाला हाऊस कोर्ट ने आपराधिकमामले से बरी कर दिया था. श्रीसंत ने 2015 में श्रीलंका के खिलाफ नागपुर में एकदिवसीय मैच के साथ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था. उन्होंने 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट पदार्पण किया. श्रीसंत ने 27 टेस्ट में 37.59 के औसत से 87 विकेट जबकि वनडे में 53 मैचों में 33.44 की औसत से 75 विकेट चटकाए.

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

कोरोना पर गुड न्यूज! रिकवरी रेट 80 प्रतिशत, अमेरिका को पीछे छोड़ टॉप पर भारत

नई दिल्ली भारत में तेजी से कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं। हालांकि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)