Thursday , October 22 2020

हाथरस रेप : विपक्ष के विरोध के बीच BJP के अंदर से उठने लगीं आवाजें

नई दिल्ली

उत्तर प्रदेश के हाथरस की घटना को लेकर देशभर के लोगों में काफी रोष है। विपक्ष के अलावा अब बीजेपी के अंदर से भी हाथरस पीड़िता के लिए इंसाफ की मांग उठने लगी है। बीजेपी के सांसद और विधायक यूपी सरकार से रेप पीड़िता का अंतिम संस्कार देर रात को किए जाने को लेकर संबंधित प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

भाजपा सांसद किरीट सोलंकी ने बृहस्पतिवार को कहा कि हाथरस कांड की दलित पीड़िता का अंतिम संस्कार देर रात में किये जाने के बाद पुलिस की कार्रवाई से लोगों में गुस्सा है और उत्तर प्रदेश पुलिस को अधिक संवेदनशील और जिम्मेदार होना चाहिए। हाथरस कांड को ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ करार देते हुए सोलंकी ने कहा कि वह घटना की कड़ी निंदा करते हैं और मामले में दुष्कर्म के आरोप सिद्ध होने पर दोषियों को फांसी पर लटकाया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘मैंने जो खबरें देखी हैं, उनके मुताबिक पुलिस ने रात में लड़की के शव का दाह संस्कार करके जो किया उससे लोग बहुत असंतुष्ट हैं। उत्तर प्रदेश पुलिस को अधिक संवेदनशील और जिम्मेदार होना चाहिए।’

विधायक ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को लिखा पत्र
इससे पहले बीजेपी विधायक नंद किशोर गुर्जर ने यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को पत्र लिखा। पत्र में विधायक ने पुलिस के उच्चाधिकारियों पर विभिन्न राजनीतिक दलों से साठगांठ कर बीजेपी और योगी सरकार की छवि को धूमिल करने का आरोप लगाया है।

विधायक ने अपने पत्र में लिखा है कि देश में यह पहली ऐसी घटना है, जिसमें पुलिस प्रशासन ने शीर्ष अधिकारियों के इशारे पर कथित रेप और विभत्स तरीके से हत्या के मामले में परिवार को भरोसे में लिए बिना कार्रवाई की। पुलिस ने न केवल सनातन परंपरा के खिलाफ जाकर मृत रेप सर्वाइवर का सूर्यास्त के बाद अंतिम संस्कार कराया बल्कि उसके परिजन को अंतिम क्रियाकर्म करने, तिलांजलि देने और मृतका की अर्थी को कंधा देने के मौलिक अधिकार तक को छीन लिया।

क्या बोले बीजेपी सांसद हंस राज हंस
उत्तर-पश्चिम दिल्ली की अनुसूचित सीट से लोकसभा सांसद पद्मश्री हंस राज हंस ने बुधवार को हाथरस की घटना पर उत्तर-प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है। उन्होंने मुख्यमंत्री से आग्रह किया है कि इस घटना से सम्बंधित दोषी सभी व्यक्तियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाए। साथ ही देर रात्रि जल्दबाजी में बिना परिवार की जानकारी के अंतिम संस्कार करने वाले अधिकारियों से भी स्पष्टीकरण मांगा जाए।

उन्होंने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को संबोधित करते हुए लिखा कि हाथरस में हुए जघन्य अपराध के लिए दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिले ये ध्यान रखा रखा जाए। उन्होंने लिखा कि बेटी को सिर्फ न्याय ही न मिले बल्कि इस मामले की गंभीरता को देखते हुए और भाविष्य में कोई भी व्यक्ति इस तरह का कृत्य न करे, इसके लिए इस मामले में दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाए।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

‘यहां भी दो….’ बिहार में फ्री कोरोना वैक्सीन का चुनावी वादा कर फंस गई BJP

लखनऊ बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर अपने घोषणापत्र में मुफ्त कोरोना वैक्सीन के वादे पर …

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!