ग्‍लोबल टाइम्‍स ने दी धमकी, भारतीय सेना ने चलाई गोली, हम युद्ध से पीछे नहीं हटेंगे

पेइचिंग

पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील के पास भारत के सैनिकों पर गोली चलाने वाले चीन के सरकारी प्रोपेगैंडा अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स ने भारत को धमकी दी है। ग्‍लोबल टाइम्‍स ने अपने संपादकीय में मंगलवार को कहा कि हम भारत के साथ जंग नहीं चाहते हैं लेकिन अगर भारत ने चीन की अच्‍छी मंशा का गलत मतलब निकाला और चेतावनी में गोलियां चलाईं तो हम युद्ध से पीछे नहीं हटेंगे।

ग्‍लोबल टाइम्‍स ने कहा, ‘हम भारत के साथ युद्ध नहीं चाहते हैं लेकिन भारतीय पक्ष अगर चीन की अच्‍छी मंशा का गलब मतलब न‍िकालेगा या चेतावनी में गोली चलाकर रोकने का प्रयास करेगा तो यह दांव भारत को उल्‍टा पड़ेगा। चीन युद्ध से बचने के लिए हार नहीं मानेगा।’ चीनी अखबार ने धमकी दी, ‘हमें भारत को गंभीरतापूवर्क चेतावनी देनी होगी। भारत के अग्रिम मोर्चे के सैनिकों ने वास्‍तविक नियंत्रण रेखा पार की। भारत की चीन के प्रति नीतियों ने लक्ष्‍मण रेखा पार की। भारत अतिअविश्‍वास में पीएलए और चीनी जनता को उकसा रहा है। यह एक तरीके से चट्टान के किनारे खड़े रहने जैसा है।’

इससे पहले ग्लोबल टाइम्स ने चीनी सेना के वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता के हवाले से पैंगोग सो के पास झड़प का दावा किया था। ग्‍लोबल टाइम्‍स ने लिखा, ‘भारतीय सेना ने पैंगोंग सो झील के दक्षिणी छोर के पास शेनपाओ की पहाड़ी पर एलएसी को पार किया। भारतीय जवानों ने बातचीत की कोशिश कर रहे पीएलए के बॉर्डर पट्रोल से जुड़े सैनिकों पर वार्निंग शॉट फायर किए जिसके बाद चीनी सैनिकों को हालात काबू में करने के लिए कदम उठाने पड़े।’

पीएल के वेस्टर्न थियेटर कमांडर के प्रवक्ता झांग शुई ने भारत पर आरोप लगााते हुए कहा, ‘भारतीय पक्ष ने द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन किया है। इससे क्षेत्र में तनाव और गलतफहमी बढ़ेंगे। यह एक गंभीर सैन्य उकसावा है।’ झांग ने आगे कहा, ‘हम भारतीय पक्ष से मांग करते हैं कि खतरनाक कदमों को रोके और फायरिंग करने वाले शख्स को सजा दे। साथ ही भारत यह सुनिश्चित करे कि ऐसी घटनाएं दोबारा ना हों। पीएलए के वेस्टर्न कामांड के सैनिक अपने कर्तव्यों का पालन करेंगे और राष्ट्र की क्षेत्रीय संप्रभुता की रक्षा करेंगे।’

भारत ने चीन के गोली चलाने के दावे को किया खारिज
पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर हुई ताजा घटना पर भारतीय सेना ने बयान जारी कर चीन की पोल खोल दी है। चीन के दावों को पूरी तरह झुठलाते हुए भारत ने कहा कि पीएलए के जवानों ने उकसावे की कार्रवाई की। भारतीय सेना ने साफ कहा कि उसने लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (LAC) पार नहीं की और न ही गोलियां चलाईं। सेना ने कहा कि चीन की पीएलए बातचीत जारी रहने के बावजूद समझौतों का उल्‍लंघन कर रही है।

7 सितंबर की घटना पर भारतीय सेना ने कहा कि पीएलए सैनिक LAC के पास मौजूद हमारी एक पोस्‍ट के करीब आने की कोशिश कर रहे थे। जब भारतीय सैनिकों ने उन्‍हें जाने को कहा तो उन्‍होंने डराने के लिए हवा में कुछ गोलियां चलाईं। उकसावे के बावजूद, भारतीय जवानों ने संयम नहीं खोया और जिम्‍मेदारी से मसला सुलझाया।

About bheldn

Check Also

भारत ने किया अफ्रीका में मदद का ऐलान, केविन पीटरसन बोले- थैंक्यू, नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली, दक्षिण अफ्रीका में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन ने अपना असर दिखाना शुरू …