परमाणु हथियार, चाचा की हत्‍या… ट्रंप ने खोले किम जोंग उन के कई राज

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन को लेकर पत्रकार बॉब वुडवार्ड ने अपनी किताब ‘रेज’ में कई खुलासे किए हैं. इस किताब में ट्रंप की उत्तर कोरियाई शासक किम जोंग को लेकर सोच और अमेरिकी सेना के एक रहस्यमय हथियार समेत कई जानकारियां दी गई हैं.

वुडवार्ड ने लिखा है कि ट्रंप जब उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन से साल 2018 में सिंगापुर में मिले तो उनसे काफी प्रभावित हुए. ट्रंप का कहना था कि किम जोंग बेहद तेजतर्रार हैं. किताब के मुताबिक, ट्रंप ने बताया था कि किम जोंग उन उन्हें सब कुछ बताते थे और यहां तक कि किम ने ट्रंप से ये भी बताया था कि उन्होंने कैसे अपने अंकल की हत्या करवाई थी.

ट्रंप चाहते थे कि वह किम जोंग उन को परमाणु हथियार कार्यक्रम बंद करने के लिए मना लें हालांकि उनकी सारी कोशिशें बेकार रहीं. ट्रंप ने इंटेलिजेंस अधिकारियों के उस आकलन को सिरे से खारिज कर दिया था कि किम जोंग कभी भी परमाणु हथियारों को लेकर नहीं मानेंगे. ट्रंप ने किताब के लेखक वुडवार्ड से कहा था कि सीआईए को कुछ आइडिया ही नहीं था कि उत्तर कोरिया से कैसे डील किया जाए.

ट्रंप ने किम जोंग उन से हुई अपनी तीन मुलाकातों को लेकर हुई आलोचना को भी खारिज किया. ट्रंप ने दावा किया कि ये वार्ता कोई बड़ी बात नहीं थी. ट्रंप ने कहा, मुलाकात में मेरे सिर्फ दो दिन खर्च हुए. मुझे कुछ गंवाना नहीं पड़ा. ट्रंप ने उत्तर कोरिया के परमाणु हथियारों से लगाव को लेकर एक उदाहरण देते हुए कहा कि ये वैसा ही है जैसे कोई अपने घर को बहुत प्यार करता हो और उसे बेच नहीं सकता है. ट्रंप के आलोचकों का कहना है कि किम से मिलकर ट्रंप ने उत्तर कोरियाई शासक को अंतरराष्ट्रीय मंच पर मान्यता दिला दी.किम जोंग और ट्रंप के बीच पत्र के जरिए भी संवाद हुए. किम जोंग ने ट्रंप को पत्र में ‘योर एक्सीलेंसी’ कहकर संबोधित किया है. किम ने ट्रंप को लिखे पत्र में कहा है कि हमारे बीच गहरी और खास दोस्ती एक जादुई ताकत की तरह काम करेगी.

उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच तनाव को लेकर ट्रंप ने वुडवार्ड से एक बातचीत में कहा था, “मैंने एक ऐसा परमाणु हथियार बनाया है जो किसी देश के पास नहीं है. हमारे पास ऐसी कोई चीज है जिसे ना तो आपने कभी देखा होगा और ना ही उसके बारे में कुछ सुना होगा. हमारे पास ऐसा हथियार है जिसके बारे में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और चीनी राष्ट्रपति सी जिनपिंग ने पहले कभी नहीं सुना होगा. हमारे पास ऐसा कुछ है, वो अविश्वसनीय है.”

वुडवार्ड लिखते हैं कि उन्हें एक सूत्र ने नाम ना छापने की शर्त पर इस बात की पुष्टि की कि अमेरिकी सेना के पास एक नया सीक्रेट वेपन सिस्टम है. हालांकि, सूत्र ने इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं दी. सूत्र ने वुडवार्ड से कहा कि वो हैरान है कि ट्रंप ने खुद इसके बारे में खुलासा किया है.ट्रंप के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ ब्रायन ने फॉक्स न्यूज से बुधवार को बताया कि राष्ट्रपति ने किसी खास वेपन सिस्टम के बारे में बात नहीं की है. हम हमेशा कोई ना कोई खोज करते रहते हैं जिसके बारे में हमारे दुश्मनों को पता नहीं होता है.

About bheldn

Check Also

वैज्ञानिकों ने कहा- दुनिया में तबाही 2.0 ला सकता है ओमीक्रोन, न्यूयॉर्क में आपातकाल

वॉशिंगटन न्यूयॉर्क की गवर्नर ने शुक्रवार को ‘आपातकाल की स्थिति’ घोषित कर दी क्योंकि अप्रैल …