कोरोना ने मुंबई को फिर डराया! 30 सितंबर तक लगाई गई धारा 144

मुंबई

कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच मुंबई में धारा 144 लागू करने का फैसला लिया गया है। इसका मतलब एक जगह पर भीड़ इकट्ठा नहीं हो सकती है। ये आदेश 30 सितंबर तक लागू रहेगा। मुंबई पुलिस को निर्देश दिए गए हैं कि चार से ज्यादा की संख्या में बाहर निकलने वाले लोगों पर सख्‍त ऐक्‍शन लिया जाए। दरअसल ऐसा किया गया है क्योंकि शहर में एक बार फिर कोरोना का प्रकोप बढ़ गया है।

आदेश के मुताबिक, धारा 144 के नियमों का तो पालन कराया ही जाएगा जैसे कि चार से ज्यादा लोग नहीं घूम सकते। इसके अलावा बिना वजह वजह से रात में घूमने निकलने वालों पर भी ऐक्शन होगा। आदित्य ठाकरे ने इस आदेश के आने के बाद ट्वीट किया है कि घबराने की जरूरत नहीं है, मुंबई में धारा 144 पहले से यानी 31 अगस्त से लागू है।

इनको मिली इजाजत
बता दें कि धारा 144 लागू होने पर लोगों की भीड़ को इकठ्ठा होने पर पाबंदी होती है। इस दौरान पुलिस ने बेहद जरूरी काम के लिए ही घर से निकलने के निर्देश दिए हैं। मीडिया, बैंकिंग, सब्जी वाले, ग्रॉसरी वाले, अस्पताल, टेलीफोन, इंटरनेट, बिजली, पेट्रोल पंप, सेबी और स्टॉक एक्सचेंज, पोर्ट विभाग जैसे जरूरी कामों में लगे लोगों को छूट होगी लेकिन इसके अलावा कोई बिना वाजिब वजह के घूमता दिखा तो ऐक्शन होगा।

मुंबई और उपनगरों में कुल 4,14,377 केस
मुंबई में संक्रमण के 2,378 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद शहर में कुल संक्रमित लोगों की संख्या 1,75,974 हो गई जबकि मृतकों की संख्या बढ़कर 8,280 हो गई। एक दिन में 50 लोगों की मौत हुई। मुंबई शहर और उपनगरीय कस्बों को मिलाकर मुंबई संभाग में 5,603 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद यहां कुल संक्रमितों की संख्या 4,14,377 हो गई। क्षेत्र में अब तक 14,378 लोगों की मौत हो चुकी है। पुणे शहर में 2,141 नए मामले सामने आए हैं और यहां संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,34,124 हो गई जबकि 26 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 3,042 हो गई।

महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 11 लाख पार
महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 11 लाख को पार कर गया है। आंकड़ों के मुताबिक, राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 11 लाख 21 हजार 221 हो गई है। हालांकि इनमें से 7 लाख 92 हजार 832 लोग ठीक हो चुके हैं। लेकिन राज्य में अभी भी कोरोना के 2 लाख 97 हजार 125 मरीज एक्टिव हैं।

About bheldn

Check Also

कार में रखी पानी की बोतल बनी मौत की वजह, इंजीनियर की गई जान

ग्रेटर नोएडा, एक छोटी सी गलती भी कभी कभी इंसान की जान पर भारी पड़ती …