ऑक्सफोर्ड-स्पुतनिक नहीं, सबसे पहले इस कंपनी की कोरोना वैक्सीन!

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संकेत दिया है कि फाइजर (Pfizer) कंपनी की कोरोना वैक्सीन सबसे पहले सफल साबित हो सकती है और लोगों को मिल सकती है. फॉक्स न्यूज के साथ इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा कि Pfizer की वैक्सीन काफी अच्छा प्रदर्शन कर रही है. उन्होंने कहा कि जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन में थोड़ी देरी हो सकती है.

अब तक दुनिया में कई कोरोना वैक्सीन की ‘सफलता’ का ऐलान किया गया है. लेकिन अब तक एक भी वैक्सीन आम लोगों के लिए उपलब्ध नहीं हो सकी है. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन से दुनिया को काफी उम्मीदें हैं, लेकिन कुछ कारणों से इस वैक्सीन के ट्रायल को रोकना पड़ा था. ब्रिटेन में तो दोबारा ट्रायल शुरू करने के लिए मंजूरी मिल गई, लेकिन अमेरिका में ऑक्सफोर्ड का ट्रायल दोबारा शुरू नहीं हो सका है. इसी बीच फाइजर कंपनी की वैक्सीन के जल्दी सफल होने की खबर आई है.

इससे पहले सोमवार को व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने कहा था कि सबसे अधिक खतरे का सामना करने वाले अमेरिकी लोगों के लिए दिसंबर तक वैक्सीन आ सकती है. अधिकारी ने कहा था कि सबसे पहले बुजुर्ग लोग और मेडिकल वर्कर्स को वैक्सीन मिलेगी.

बता दें कि अमेरिकी स्वास्थ्य संस्था CDC ने भी एक टाइमलाइन जारी कर दिया है. CDC ने अमेरिकी राज्यों से कहा है कि वे जनवरी तक वैक्सीनेशन प्रोग्राम शरू करने के लिए तैयार रहें. यह भी कहा गया है कि वैक्सीन कैंपेन मुफ्त होगा.

वहीं, डॉ. एंथनी फाउची सहित अन्य प्रमुख एक्सपर्ट का कहना है कि ऐसा संभव तो है कि साल के अंत तक अमेरिका में कोरोना वैक्सीन आम लोगों को मिलने लगे, लेकिन इसकी उम्मीद कम है. इससे पहले ट्रंप अमेरिका में 3 नवंबर को होने वाले चुनाव तक वैक्सीन लॉन्च करने की कोशिश कर चुके हैं, लेकिन इतनी जल्दी सफलता मिलती नहीं दिख रही.

About bheldn

Check Also

23 देशों तक फैला ओमिक्रॉन वैरिएंट, WHO प्रमुख ने दी यह चेतावनी

नई दिल्ली कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट कम से कम 23 देशों में फैल चुका …