माल्या मामले में ब्रिटिश कोर्ट का आया फैसला, क्या एसबीआई सहित बैंकों के पैसे वसूल होंगे?

नई दिल्ली

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) सहित 13 बैंकों के लिए मंगलवार खुशियां मनाने का दिन है. ब्रिटिश कोर्ट ने माल्या के खिलाफ फैसला दिया है। इससे एसबीआई सहित उन सभी बैंकों के चेहरे खिल उठे हैं, जिन्होंने माल्या को बड़ा कर्ज दिया था। इन बैंकों का माल्या के पास 14000 करोड़ रुपये फंसे हैं। ये बैंक काफी समय से माल्या से अपने पैसे की वसूली की कोशिश कर रहे थे।

कोर्ट ने दिया यह फैसला
लंदन के हाईकोर्ट ने भारत में माल्या की संपत्ति पर लगाया गया सिक्योरिटी कवर हटा लिया है। इससे स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) की अगुवाई वाले भारतीय बैंकों के लिए माल्या से अपने पैसा वसूलने का रास्ता साफ हो गया है। माल्या ने इन बैंकों से करीब 9,000 करोड़ रुपये का कर्ज लिया था. लेकिन, ब्याज सहित यह रकम अब 14,000 करोड़ रुपये से ज्यादा हो गई है। इन बैंकों के लिए यह पैसा काफी मायने रखता है।

किंगफिशर के लिए लिया था 9000 करोड़ कर्ज
माल्या ने अपनी डूबती एयरलाइंस को बचाने के लिए बैंकों से कर्ज लिया था। इसके बावजूद वह अपनी किंगफिशर एयरलाइंस को डूबने से बचाने में कामयाब नहीं हो सका। बैंकों को पैसा लौटाने के बजाय माल्य 2016 में भारत से फरार हो गया। उसने लंदन में शरण ले ली। इस बीच भारत सरकार की एजेंसियां उसके प्रत्यर्पण की लगातार कोशिशें करती रही हैं।

इन बैंकों ने वसूली की प्रक्रिया शुरू की थी
इस बीच, एसबीआई की अगुवाई में 13 बैंकों के कंसोर्शियम ने दिसंबर 2018 में अपने पैसी की वसूली के लिए माल्या के खिलाफ कानूनी प्रक्रिया शुरू की थी। इस कंसोर्शियम में एसबीआई के अलावा बैंक ऑफ बडौदा, कॉर्पोरेशन बैंक, फेडरल बैंक, आईडीबीआई बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, जम्मू एंड कश्मीर बैंक, पंजाब एंड सिंध बैंक, पीएनबी, स्टेब बैंक ऑफ मैसूर, यूको बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और जेएम फाइनेंशिल एसेट रीकंस्ट्रक्शन कंपनी शामिल हैं।

माल्या पर किस बैंक का कितना बकाया?
माल्या पर सबसे ज्यादा पैसा एसबीआई का बकाया है। देश के इस सबसे बड़े बैंक ने माल्या को 1600 करोड़ रुपये का लोन दिया था। इसके बाद पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने माल्या को 800 करोड़ रुपये का लोन दिया था। आईडीबीआई बैंक ने भी माल्या को करीब 800 करोड़ रुपये का लोन दिया है। इसके बाद बाकी बैंकों ने माल्या को छोटी-छोटी रकम का लोन दिया है।

आगे क्या?
लंदन हाई कोर्ट के फैसले के बाद माल्या को कर्ज देने वाले बैंकों को अपना पैसा वापस मिलने की उम्मीद बढ़ गई है। अब वे माल्या की संपत्ति बेचकर अपना पैसा वापस पाने की कोशिश करेंगे. लंदन हाईकोर्ट के फैसले के बाद भारत में माल्य की संपत्ति बेचने का रास्ता साफ हो गया है. चूंकि माल्या को सबसे ज्यादा कर्ज एसबीआई ने दिया है, जिससे माल्या की संपत्ति बेचने की प्रक्रिया भी एसबीआई की तरफ से शुरू होने की उम्मीद है।

About bheldn

Check Also

SKM को तोड़ने की न हो कोशिश, MSP कानून लेकर ही गांव जाएंगे किसान:टिकैत

नई दिल्ली भारतीय किसान यूनियन (BKU) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बुधवार को कहा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *