तेल के खेल में पेट्रोल-डीजल पिछड़ा, एक साल में सरसों तेल का भाव डबल!

नई दिल्ली,

मुंबई में पेट्रोल सेंचुरी के करीब है, बुधवार को मुंबई में एक लीटर पेट्रोल का भाव 99.14 रुपये रहा. वैसे राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में पेट्रोल 103.80 रुपये प्रति लीटर और डीजल 96.30 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है. पेट्रोल और डीजल के महंगे भाव से हर कोई परेशान है. दरअसल, पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर हर दिन चर्चा होती है. लेकिन इस तेल के खेल में सरसों तेल को मत भूलिए. कीमतों में बढ़ोतरी की बात करें तो सरसों तेल ने पिछले कुछ महीनों में पेट्रोल और डीजल को भी पीछे छोड़ दिया है. पिछले एक साल में सरसों तेल की कीमत लगभग दोगुनी हो गई.

देश में खाद्य तेल के रूप में सबसे ज्यादा सरसों तेल का इस्तेमाल होता है. पिछले एक साल से इसकी कीमतों में बेतहाशा बढ़ोतरी से हर घर का बजट बिगड़ा है. सरसों तेल की कीमत में एक साल में लगभग दोगुनी हो गई है, वहीं सोयाबीन, मूंगफली, सूरजमुखी, डालडा और रिफाइंड के दामों में भी खूब इजाफा हुआ है. खाद्य तेलों की कीमतों में बढ़ोतरी के पीछे एक अहम कारण यह है कि अंतरराष्ट्रीय बाजारों में भी खाद्य तेलों की कीमतों में जोरदार तेजी आई है. जिसका असर भारतीय बाजार पर भी दिख रहा है. रेट बढ़ने से आम आदमी की कमर ही टूट गई है. फिलहाल सरसों तेल 170-220 रुपये लीटर बिक रहा है. आंकड़ों में देखें कैसे सरसों तेल ने एक साल में आम आदमी को झटका दिया है.

मई-2021
सरसों तेलः 170 से 220 रुपये लीटर.
(ब्रांडेड कंपनियां कच्ची घानी सरसों का तेल ऑनलाइन मार्केट में 175 से 180 रुपये लीटर बेच रही है.)
(ब्रांडेड सोयाबीन रिफाइंड ऑयल 160 रुपये लीटर है, जबकि सूरजमुखी तेल 200 रुपये लीटर के आसपास है.)
(वनस्पति तेल कम से कम 140 रुपये लीटर बिक रहा है)

लगातार बढ़ती गईं कीमतें
मई-2020
सरसों तेल: 120 से 130 रुपये लीटर था.
वनस्पति तेल: 100 रुपये लीटर के आसपास था.
सोयाबीन रिफाइंड ऑयल: 120 रुपये लीटर.
सूरजमुखी तेल: करीब 132 रुपये लीटर बिकता था.

पिछले साल यानी साल-2020 में लॉकडाउन से पहले खुदरा बाजार में सरसों तेल का भाव करीब 85 से 95 रुपये प्रति लीटर था. इस हिसाब से पिछले एक साल में सरसों तेल का भाव 95 रुपये से बढ़कर 180 रुपये तक पहुंच गया है. यानी कीमतें करीब दोगुनी हो गई है. साल-2021 में अब तक खाद्य तेल की कीमतों में 20 से 30 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई है.

पिछले साल अक्टूबर में सरसों तेल 120 से 130 रुपये लीटर था, जबकि अक्टूबर में ब्रांडेड सोयाबीन रिफाइंड ऑयल 104 रुपये लीटर बिक रहा था. इससे पहले जुलाई में सरसों तेल करीब 123 रुपये लीटर था. इस साल मार्च में सरसों तेल करीब 140 रुपये लीटर के आसपास था, जो अप्रैल में बढ़कर 160 से 170 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गया, और मई में 180 रुपये लीटर तक बिक रहा है. मार्च के मुकाबले मई में रिफाइंड तेल 125 रुपये से बढ़कर 160 रुपये लीटर के आसपास पहुंच गया है.

About bheldn

Check Also

SKM को तोड़ने की न हो कोशिश, MSP कानून लेकर ही गांव जाएंगे किसान:टिकैत

नई दिल्ली भारतीय किसान यूनियन (BKU) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बुधवार को कहा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *