मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने भेल अब विदेशी कंपनियों के साथ व्यवसाय को आगे बढ़ाएगी

भोपाल।

महारत्न कंपनी भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल)अब विदेशी कंपनियों के साथ व्यवसाय को आगे बढ़ाने की कोशिश कर रही है। विदेशी कंपनियों के साथ मिलकर भेल देश में मैन्युफैक्चरिंग बेस को स्थापित करेगी वहीं मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिए कंपनी ने यह कदम उठाया है। कोविड-19 संकट के कारण पैदा हुए आर्थिक संकट के कारण ये साफ हो गया है कि मैन्युफैक्चरिंग के मोर्चे पर किसी एक स्थान पर सारी फैसिलिटी को रखना सही साबित नहीं हो सकता, खासकर कि जब महामारी जैसे संकट सामने हों।

सप्लाई चैन और मैन्युफैक्चरिंग के डाइवर्सिफि केशन की जरूरत ने भारत के लिए एक बड़ा अवसर प्रदान किया है जो दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। भारत में मजबूत लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था, एक अच्छी तरह से स्थापित न्यायिक प्रणाली, युवा कार्यबल, एक के साथ एक आकर्षक निवेश डेस्टिनेशन्स हैं। सबसे बड़े घरेलू बाजारों और अनुकूल निवेश नीतियों के साथ भारत नए कंपनियों के लिए एक आकर्षक स्थान बनकर उभरा है और इसी का सहारा लेकर बीएचईएल भी अपने कारोबार को विस्तार देने के लिए योजना पर काम कर रही है। इसकी फैसिलिटी और यूनिट्स के साथ-साथ भारत में बेस स्थापित करने में किसी भी अंतरराष्ट्रीय कंपनी को भारी रुचि होगी और ऐसा करने के लिए बीएचईएल ने खुद को मजबूत स्थिति में रखा है।

वैकल्पिक रूप से कुछ कारखानों को भी भारत में विनिर्माण अवसरों की तलाश में विदेशी कंपनियों के लिए पेश किया जाएगा, लेकिन उपक्रमों के लिए उपयुक्त भूमि खोजने में मुश्किल हो रही है जहां भेल साझेदारी की तलाश में है, उनमें इलेक्ट्रिकल और ट्रांसपोर्टेशन उपकरण, सोलर मॉड्यूल, सिलिकॉन चिप्स, लिथियम आयन सेल और एलसीडी पैनल शामिल हैं। भेल केंद्रीय भारी उद्योग मंत्रालय के अधीनस्थ काम करती है। भेल की देशभर में 16 यूनिट हैं जिनमें 34 हजार कर्मचारी व नौ हजार इंजीनियर कार्यरत हैं। बिजली की मांग धीमी होने के साथ भेल कोरोनावायरस से उभरने वाले अवसरों का भी उपयोग करना चाह रही है।

इन व्यवसायों में शामिल होना चाहती है कंपनी
महारत्न कंपनी के व्यवसायों में बिजली, ट्रांसमिशन, परिवहन, नवीकरणीय ऊर्जा, जल, रक्षा और एयरोस्पेस, औद्योगिक उत्पाद एवं सिस्टम और ऊर्जा भंडारण जैसे व्यवसाय में शामिल होने की इच्छुक हैं इसके साथ ही भेल ट्रांसपोर्ट व्यवसाय, लोकोमोटिव, मेट्रो कोच, इलेक्ट्रिक रोलिंग स्टॉक, शहरी परिवहन प्रणाली के लिए इलेक्ट्रिक्स और रेलवे ट्रैक विद्युतीकरण आदि क्षेत्रों में भी कार्य करती है।

About bheldn

Check Also

भेल के चेयरमैन को लेकर असमंजस

भोपाल भारत हेवी इलेक्ट्रिकल लिमिटेड भेल के चेयरमैन व सीएमडी डॉ. नलिन सिंघल बुधवार को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *