‘स्टूपिड और दिवालिया साइंस है एलोपैथी,’ रामदेव के बयान पर IMA ने की FIR करवाने की मांग

नई दिल्ली

कोरोना महामारी के बीच बाबा रामदेव के एलोपैथी के खिलाफ दिए बयान पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने कड़ी आपत्ति जताई है। देश जहां कोरोना महामारी से जूझ रहा है, वहीं रामदेव के एलोपैथी के खिलाफ कथित रूप से अपमानजनक बयान को लेकर प्रेस रिलीज जारी किया है। आईएमए ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से रामदेव के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है।

प्रेस रिलीज में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से अनुरोध किया कि या तो वह वीडियो में लगाए गए आरोपों को स्वीकार कर देश की आधुनिक चिकित्सा सुविधाओं को भंग करें या फिर योग गुरू बाबा रामदेव के खिलाफ महामारी एक्ट के तहत केस दर्ज कर मुकदमा चलाएं। अपने बयान में आईएमए ने रामदेव के खिलाफ कार्रवाई नहीं किए जाने पर कानूनी कार्रवाई करने की धमकी दी है।

वायरल हो रहे वीडियो में कथित तौर पर बाबा रामदेव ने कहा था कि ‘मॉडर्न एलोपैथी एक ऐसी स्टुपिड और दिवालिया साइंस है।’ आईएमए ने यह भी कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठित योगगुरु होने के अलावा बाबा रामदेव एक फार्मास्युटिकल यूनिट के कॉर्पोरेट दिग्गज हैं। वह जनता को गुमराह करने के लिए अपनी कंपनी उत्पादों के बारे में कई बार झूठ बोलते देखे गए हैं।

About bheldn

Check Also

कोरोना के नए वेरिएंट का खौफ, इंटरनेशनल उड़ानों पर लगेगा ब्रेक? जल्द फैसला

नई दिल्ली कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के बढ़ते टेंशन के बीच अब अंतरराष्ट्रीय उड़ानों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *