BJP राज में खुले थे 6 AIIMS… मिलिंद देवड़ा को सुषमा के पति का जवाब

नई दिल्‍ली

नेताओं के बीच क्रेडिट लेने की ऐसी होड़ रहती है कि कई बार तथ्‍य भी दरकिनार कर दिए जाते हैं। कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मिलिंद देवड़ा ने ट्विटर पर ऐसा दावा क‍िया कि लोग उनके पीछे पड़ गया। देवड़ा ने कहा कि कांग्रेस ने अपने शासन के 60 सालों में कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई की नींव रखी। देवड़ा ने सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया से लेकर भारत बायोटेक, जायडस कैडिला जैसी कंपनियों की स्‍थापना का क्रेडिट कांग्रेस को दिया। यही नहीं, उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के दौरान ही दिल्‍ली से इतर भोपाल, रायपुर, ऋषिकेश, पटना जैसे शहरों में एम्‍स की तर्ज पर अस्‍पताल बनाने की नींव रखी गई।

देवड़ा के दावे पर सुषमा स्‍वराज क्‍यों होने लगी ट्रेंड?
देवड़ा ने अपने ट्वीट में जिन छह एम्‍स अस्‍पतालों का जिक्र किया, उन्‍हें लेकर कई यूजर्स ने कहा कि इनकी नींव अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने रखी थी। उस समय केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय सुषमा स्‍वराज के पास था। लोगों ने विकीपीडिया व अन्‍य माध्‍यमों के स्‍क्रीनशॉट शेयर करते हुए कहा कि इन छह संस्‍थानों की घोषणा 2003 में बीजेपी (एनडीए) सरकार ने की थी।

सुषमा के पति स्‍वराज कौशल ने देवड़ा के ट्वीट को कोट करते हुए कहा, “यह सही नहीं है। 29 जून 2003 से लेकर 22 मई 2004 तक बीजेपी सरकार में सुषमा स्‍वराज केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री थीं। उन्‍होंने ऋषिकेश, भोपाल, पटना, रायपुर, भुवनेश्‍वर और जोधपुर में छह AIIMS की स्‍थापना कराई। उन्‍होंने हर एम्‍स के लिए 100 एकड़ जमीन और निर्माण के लिए 2,000 करोड़ रुपये से काम शुरू कराया।”

स्‍वराज ने एक सवाल भी साझा क‍िया जो उस वक्‍त सुषमा से पूछा गया था। उन्‍होंने लिखा, “लोगों ने सुषमा स्‍वराज से पूछा, ‘आपको 100 एकड़ की जरूरत क्‍यों है? तो उन्‍होंने जवाब दिया, ‘मैं एक एयर-स्ट्रिप और हेलिपैड चाहती हूं ताकि एयर एम्‍बुलेंस लैंड कर सके। अस्‍पताल का सारा स्‍टाफ- टेक्‍नीशियंस, नर्सेज और डॉक्‍टर्स एम्‍स कैम्‍पस के भीतर ही रहेंगे ताकि इमर्जेंसी के वक्‍त वे उपलब्‍ध रह सकें।'”

बीजेपी की मीडिया पैनलिस्‍ट चारू प्रज्ञा ने देवड़ा तो लताड़ लगाते हुए कहा कि जो लिस्‍ट उन्‍होंने साझा की है, उनमें से 6 संस्‍थान निजी हैं। प्रज्ञा ने लिखा, “AIIMS दिल्‍ली को छोड़कर बाकी सारे एम्‍स सुषमा स्‍वराज ने मंजूर किए थे। कृपया अपनी गलती सुधारिए। और उसका क्रेडिट मत लीजिए जो आपने किया ही नहीं।”

वाजपेयी ने किया था ऐलान, सुषमा ने दी मंजूरी
हमारे सहयोगी टाइम्‍स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, इन छह शहरों में एम्‍स जैसे संस्‍थान बनाने की घोषणा वाजपेयी ने अपने आखिरी स्‍वतंत्रता दिवस संबोधन में की थी। वह ग्रामीण और शहरों क्षेत्रों की स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था के बीच खाई को पाटना चाहते थे। यह सभी एम्‍स ‘प्रधानमंत्री स्‍वास्‍थ्‍य सुरक्षा योजना’ का हिस्‍सा थे। सुषमा स्‍वराज के नेतृत्‍व वाले स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के प्रस्‍ताव को योजना आयोग (अब विघटित) ने जनवरी 2004 में सैद्धांत‍िक रूप से मंजूरी दी थी।

About bheldn

Check Also

खुद कुर्सी खींची, पूर्व पीएम देवगौड़ा को बैठाया और पीएम मोदी ने दे दिया झटके में बड़ा संदेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन नए केंद्रीय कृषि कानूनों की वापसी की घोषणा 19 नवंबर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *