वैक्सीन की किल्लत के बीच फाइजर ने भारत को लेकर दिया ये बड़ा बयान

नई दिल्ली,

भारत में कोरोना वैक्सीन की किल्लत के बीच विदेशी कंपनियों की वैक्सीन की मांग हो रही है. इस बीच अमेरिकी वैक्सीन निर्माता कंपनी फाइज़र की ओर से बयान दिया गया है कि वह वैक्सीन सप्लाई के लिए भारत सरकार के साथ लगातार संपर्क में है. कंपनी ने संकेत दिए हैं कि जल्द ही कोई अच्छा नतीजा निकल सकता है. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, कंपनी की ओर से बयान दिया गया है कि फाइज़र-बायोएनटेक भारत सरकार के साथ वैक्सीन उपलब्धता की चर्चा के लिए प्रतिबद्ध हैं और जल्द से जल्द इस ओर नतीजे दिखना शुरू हो जाएंगे.

कहां फंसा है पेच?
आपको बता दें कि बीते दिनों ये जानकारी आई थी कि भारत सरकार और फाइज़र कंपनी के बीच एक हस्ताक्षर को लेकर पेंच फंसा है. दरअसल, फाइज़र ने अमेरिका, यूके समेत कई सरकारों से कानूनी सुरक्षा का भरोसा मांगा है, अब फाइजर यही मांग भारत में कर रही है.
इसी मसले पर भारत सरकार और फाइज़र के बीच पेच फंसा है. रिपोर्ट के मुताबिक, अगर फाइज़र की वैक्सीन लगने के बाद कुछ होता है तो सरकार कंपनी से सवाल नहीं कर पाएगी. साथ ही देश में भी अगर फाइज़र से जुड़ा कोई मामला कोर्ट में पहुंचता है, तो फिर सवाल केंद्र सरकार से ही किए जाएंगे.

कई राज्यों में वैक्सीन की कमी, विदेश से उम्मीद
भारत में वैक्सीन की डिमांड काफी ज्यादा है, लेकिन प्रोडक्शन लिमिटेड ही हो रहा है. ऐसे में कई राज्यों ने सीधे विदेश से वैक्सीन लेने की सोची है, लेकिन विदेशी कंपनियां सीधे भारत सरकार से ही डील कर रही हैं. दिल्ली सरकार भी फाइज़र से बात कर चुकी है, लेकिन उन्हें भी केंद्र सरकार का हवाला दिया गया है.गौरतलब है कि भारत में इस वक्त कोविशील्ड और कोवैक्सीन का बड़े स्तर पर इस्तेमाल हो रहा है. वहीं, रूस की स्पुतनिक-वी का इस्तेमाल भी शुरू हो चुका है और भारत में अब प्रोडक्शन भी जारी है. ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि जून-जुलाई के आसपास भारत में वैक्सीन की ये भारी कमी कुछ हदतक कम हो सकती है.

About bheldn

Check Also

पेंशनभोगियों के लिए मोदी सरकार की बड़ी सौगात, लॉन्च की चेहरा पहचानने वाली खास तकनीक

नई दिल्ली सरकार ने पेंशनभोगियों के लिए ‘जीवन प्रमाणपत्र’ के एक प्रमाण के रूप में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *