कोरोना: 12 हफ्ते बाद घटने लगा मौतों का आंकड़ा, डेली केस 50 दिन में सबसे कम

नई दिल्‍ली

कोविड-19 की दूसरी लहर में मौतों की बढ़ती संख्‍या ने सबको झकझोर कर रख दिया था। आखिरकार, मृत्‍यु-दर में गिरावट दर्ज की जाने लगी है। रविवार को खत्‍म हुए सप्‍ताह में, राष्‍ट्रीय स्‍तर पर मौतों की संख्‍या में 17% की कमी आई। यह पिछले 12 हफ्तों में पहली बार है, जब मृत्‍यु-दर घटी हो। दैनिक आधार पर देखें तो 34 दिन बाद, 3,000 से कम मौतें दर्ज की गईं।

महामारी की दूसरी लहर अब पूर्वोत्‍तर के कुछ राज्‍यों और लद्दाख को छोड़कर बाकी सभी राज्‍यों/केंद्रशासित प्रदेशों में कमजोर पड़ने लगी है। लगातार तीसरे सप्‍ताह कोविड-19 के ताजा मामलों में गिरावट देखी गई है। हालांकि इस सप्‍ताह के आंकड़ों ने ज्‍यादा राहत दी है क्‍योंकि पिछले हफ्ते तक जिन राज्‍यों में केसेज बढ़ रहे थे, वहां भी संक्रमण घटने लगा है।

इस बार पिछले हफ्ते से 5,000 कम मौतें
24 मई से 30 मई के बीच कोरोना वायरस संक्रमण के 12.95 लाख मामले सामने आए। पिछले सप्‍ताह के मुकाबले मामलों की संख्‍या में 27% की कमी दर्ज हुई। यह दूसरी लहर में अबतक की सबसे तेज गिरावट है। इस दौरान 24,372 मरीजों की मौत हुई जो इससे पहले वाले हफ्ते में हुईं 29,331 मौतों से करीब 5,000 कम है। इन में महाराष्‍ट्र और उत्‍तराखंड की तरफ से आंकड़ों में शामिल की गईं पिछली मौतें भी शामिल हैं।

इस हफ्ते से पहले, लगातार 11 हफ्तों तक कोविड से मरने वालों की संख्या बढ़ती रही थी। दूसरी लहर ने देश के हेल्‍थ इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर को पूरी तरह ध्‍वस्‍त कर दिया था। इससे पहले, 1-7 मार्च वाले हफ्ते में कोविड मौतों की संख्‍या में गिरावट देखी गई थी। सिर्फ मई के महीने में ही, देशभर में कोविड-19 के चलते सवा लाख से ज्‍यादा लोगों की जान गई।

रविवार को 3,000 से कम मौतें, 1.54 लाख से कम केस
राहत भरी एक और खबर में, रविवार को मौतों की संख्‍या 26 अप्रैल के बाद पहली बार 3,000 से कम रही। देशभर में 2,722 मौतें दर्ज की गईं जिनमें महाराष्‍ट्र की तरफ से रविवार को जोड़ी गईं 412 पुरानी मौतें शामिल नहीं हैं। राज्‍य ने पिछले दो हफ्तों में करीब 6,000 पुरानी मौतों को आंकड़ों में जोड़ा है। रविवार को 1,53,663 नए मामले दर्ज किए गए जो कि पिछले 50 दिनों का सबसे कम आंकड़ा है। टाइम्‍स ऑफ इंडिया के कोविड डेटाबेस के अनुसार, 10 अप्रैल को 1.52 लाख नए केस दर्ज किए गए थे।

इस हफ्ते के आंकड़ों में केवल पांच राज्‍य/केंद्रशासित प्रदेश ऐसे रहे जहां पिछले हफ्ते के मुकाबले केसेज बढ़े। ये हैं- सिक्किम, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम और लद्दाख। असम और त्रिपुरा में नए मामलों में ज्‍यादा कमी नहीं आई है जो इस बात का संकेत है पूर्वोत्‍तर में महामारी अभी काबू में नहीं आई है।

 

About bheldn

Check Also

बड़ों के लिए वर्क फ्रॉम होम तो बच्‍चे क्‍यों जा रहे स्‍कूल? प्रदूषण पर दिल्‍ली सरकार को SC से फटकार

नई दिल्ली दिल्ली में स्कूल खोलने के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट राज्य सरकार को फटकार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *