बसपा विधायक रामबाई के पति को नहीं मिली जमानत, सुप्रीम कोर्ट ने लताड़ भी लगाई

नई दिल्ली

बसपा की दबंग विधायक रामबाई के पति गोविंद सिंह की जमानत याचिका पर सुनवाई तक करने से इनकार कर दिया। हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए गोविंद सिंह को सुप्रीम कोर्ट ने जमकर फटकार भी लगाई और उन्हें अदालत से नहीं खेलने की नसीहत दी। रामबाई के पति को कांग्रेस नेता देवेंद्र चौरसिया की हत्या के दो वर्ष से अधिक पुराने मामले में 28 मार्च को गिरफ्तार किया गया था।

जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ और जस्टिस एम आर शाह की पीठ ने गोविंद सिंह को अपनी याचिका वापस लेने की अनुमति दे दी और कहा, ‘‘सुप्रीम कोर्ट आपको जमानत नहीं देगा। आप उपयुक्त मंच से राहत का अनुरोध कर सकते हैं।’’

जब सिंह के वकील ने सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध किया कि उन्हें निचली अदालत को जमानत के लिए राजी करने की अनुमति दी जाए तो पीठ ने कहा, ‘‘हम आदेश में कुछ नहीं कह रहे हैं या आपको छूट नहीं दे रहे हैं। शीर्ष अदालत के साथ खेल मत कीजिए।’’

पीठ ने सिंह से कहा कि उन पर हत्या का मामला दर्ज है और उनके खिलाफ 17 मामले लंबित हैं। जब उन्होंने फरार होने का प्रयास किया तो उनके खिलाफ लुक आउट नोटिस भी जारी हुआ था। अदालत का रुख भांपते हुए सिंह की तरफ से पेश हुए वकील राजकिशोर चौधरी ने कहा कि उन्हें जमानत याचिका वापस लेने की अनुमति दी जाए।

जस्टिस शाह ने कहा कि सिंह को सिर्फ इसलिए पुलिस सुरक्षा दी गई थी कि वह विधायक के पति हैं और पुलिस उनको गिरफ्तार करने के बजाय उनकी सुरक्षा कर रही थी। इस अदालत के आदेश के बाद ही उन्हें गिरफ्तार किया गया।

सुप्रीम कोर्ट ने मध्य प्रदेश के पुलिस महानिदेशक को निर्देश दिया था कि या तो वह सिंह को गिरफ्तार करें या कड़ी कार्रवाई का सामना करें जिसके बाद फरार सिंह को 28 मार्च को गिरफ्तार किया गया था। चौरसिया के कांग्रेस में शामिल होने के बाद मार्च 2019 में उनकी हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने तब सिंह और अन्य लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया था।

 

About bheldn

Check Also

MP : दर्दनाक हादसे में 6 की मौत, 15 लोग घायल, तेज रफ्तार ट्रक ने बस में मारी टक्कर

बैतूल मध्य प्रदेश के बैतूल में बुधवार की दोपहर हुए दर्दनाक हादसे में 6 की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *